Tuesday, September 17, 2019 03:49 PM

हरियाणा की तर्ज पर मिले हिमाचल प्रदेश के पत्रकारों को पेंशन

बद्दी - हरियाणा की तर्ज पर हिमाचल प्रदेश के पत्रकारों को पेंशन देने व प्रदेश व जिला की तर्ज पर उपमंडल के पत्रकारों को लैपटॉप देने संबधी मसले दो विधायकों ने विधानसभा में उठाए। यह मुद्दे प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष व नालागढ़ के कांग्रेसी विधायक लखविंद्र सिंह राणा व गगरेट के भाजपा विधायक राजेश ठाकुर ने सरकार के समक्ष उठाए हैं। नालागढ़ के विधायक  लखविंद्र सिंह राणा ने बताया कि प्रदेश के पत्रकार संगठन पेंशन संबंधी मुद्दे को एक साल से उठा रहे हैं, जो कि बहुत ही जायज मुद्दा व उनका हक भी है। राणा ने कहा कि हमारे पड़ोसी राज्य हरियाणा सरकार में मान्यता प्राप्त पत्रकारों को पांच साल पंजीकृत रहने के बाद 60 साल पश्चात 10 हजार रुपए पेंशन मिल रही है। उन्होंने कहा कि  हिमाचल जैसे पहाड़ी राज्यों में पत्रकार विकट परिस्थितियों में काम करते हैं और जनता के मुद्दे उठाने के साथ-साथ सरकार की नीतियों को जन-जन तक पहुंचाते हैं। उन्होंने सीएम जयराम ठाकुर को सदन के माध्यम से आग्रह किया कि सरकार अतिशीघ्र हरियाणा की तर्ज पर पत्रकारों के लिए 10 हजार पेंशन का प्रावधान करके उनको राहत पहुंचाए, जिसका लाभ देश के चौथे स्तंभ को मिलेगा। वहीं दूसरी ओर गगरेट के भाजपा विधायक राजेश ठाकर ने पत्रकारों को पेंशन के साथ-साथ पत्रकार-पत्रकार में भेद न करते हुए राज्य व जिला के पत्रकारों की तर्ज पर उपमंडल के पत्रकारों को भी लैपटॉप देने संबधी मुद्दा सदन के पटल पर  उठाया। वहीं गगरेट के विधायक राजेश ठाकुर ने बताया कि पेंशन देने व उपमंडल पर पत्रकारों को लैपटॉप देने पर सरकार का जवाब आया है जिसमें सरकार ने उत्तर दिया है कि अभी ऐसी कोई योजना विचाराधीन नहीं है। वहीं पत्रकार संघ (एचपीयूजे)के प्रदेशाध्यक्ष रणेश ने कहा कि हम इन तमाम मुद्दों को लेकर सीएम जयराम ठाकुर से मिलेंगे।