हर्षवर्धन को स्वास्थ्य मंत्रालय की कमान

इस बार दिल्ली-एनसीआर के चार सांसदों को मोदी कैबिनेट में जगह मिली है। दिल्ली की चांदनी चौक से सांसद डा. हर्षवर्धन को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की जिम्मेदारी दी गई है। इसके अलावा उन्हें विज्ञान और प्रौद्योगिकी, भूविज्ञान मंत्रालय का प्रभार दिया गया है। हर्षवर्धन गोयल का जन्म 13 दिसंबर, 1954 को दिल्ली में ओमप्रकाश गोयल और स्नेहलता देवी के घर हुआ। इन्होंने एंग्लो संस्कृत विक्टोरिया जुबली सीनियर सेकेंडरी स्कूल, दरियागंज से 1971 में अपनी स्कूली शिक्षा पूरी की। गणेश शंकर विद्यार्थी मेमोरियल मेडिकल कालेज, कानपुर से 1979 में आयुर्विज्ञान तथा शल्य-चिकित्सा स्नातक की डिग्री प्राप्त की। 1983 में इसी कालेज से ओटोलर्यनोलोजी में मास्टर ऑफ सर्जरी की उपाधि अर्जित की। इन्हें दिल्ली की सरकार में कानून और स्वास्थ्य मंत्री नियुक्त किया गया। एमबीबीएस, एमएस, डा. हर्षवर्धन पेशे से एक नाक, कान और गले के रोगों के चिकित्सक हैं। बचपन से ही दक्षिणपंथी हिंदू राष्ट्रवादी संगठन, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सदस्य रहे। भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर 1993 में कृष्णा नगर विधानसभा क्षेत्र से चुने गए और दिल्ली की पहली विधानसभा के सदस्य बने। हर्षवर्धन 1998 और 2003 में फिर से कृष्णा नगर से विधानसभा के लिए चुने गए। 2008 विधानसभा चुनाव में अपनी मुख्य प्रतिद्वंद्वी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की पार्षद दीपिका खुल्लर को 3,204 मतों से हराने के साथ ही चौथी बार विधानसभा की सदस्यता प्राप्त की। इस प्रकार हर्षवर्धन विधानसभा चुनाव इतिहास में कभी भी पराजित नहीं हुए। चुनाव से करीब सवा महीने पूर्व 23 अक्तूबर 2013 को उन्हें दिल्ली विधानसभा चुनावों के लिए राज्य के मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया गया। 2013 के दिल्ली राज्य विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने हर्षवर्धन के नेतृत्व में कल 66 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारे, जिनमें से 31 विजयी हुए। 2001 में रोटरी इंटरनेशनल ने उन्हें ‘पोलियो उन्मूलन चैंपियन अवार्ड’ से सम्मानित किया।

Related Stories: