Thursday, November 14, 2019 02:11 PM

हाटूपीक पर सीजन का पहला हिमपात

शिमला में बारिश से तापमान में आई भारी गिरावट, बढ़ा शीतलहर का प्रकोप

शिमला - मौसम में आई करवट ने समूचे जिला को शीतलहर की चपेट में ले लिया है। गुरुवार को  जिला के अधिकतर क्षेत्रों में बारिश रिकॉर्ड की गई है। वहीं, नारकंड़़ा के हाटूपीक में ताजा हिमपात हुआ है। हाटूपीक में दो सेंटीमीटर बर्फबारी हुई है, जिससे जिला शिमला में ठंड़ का प्रकोप बढ़ गया है। मौसम विभाग की मानें तो जिला शिमला के कुछ स्थानों पर शुक्रवार को भी एक-दो स्थानों पर बारिश होगी, जबकि जिला शिमला में नौ से 13 नवंबर तक मौसम साफ बना रहेगा। इस दौरान तापमान में उछाल आने की संभावना जताई जा रही है। जिला शिमला के अधिकांश क्षेत्रों में गुरुवार सुबह के समय से ही बारिश का क्रम शुरू हो गया था। जो सिलसिला दोपहर तक जारी रहा। इस दौरान जिला में रुक-रुक कर बारिश होती रही। बारिश होने से शिमला के अधिकतम तापमान में एकाएक भारी गिरावट आई है। शिमला के अधिकतम तापमान में तीन डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट रिकॉर्ड की गई है। वहीं शिमला के न्यूनतम तापमान में भी गिरावट आई है। शिमला का न्यूनतम तापमान लुढ़क छह डिग्री से नीचे आ गया है। शिमला में न्यूनतम तापमान 5.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया  गया है। तापमान में गिरावट आने से जिला शिमला में कडाके की ठंड़ पड़ रही है। कड़ाके की ठंड़ ने जनता को गर्म वस्त्र ओढ़ने पर मजबूर कर दिया है।

ऊपरी शिमला में पड़ रही है कड़ाके की ठंड

जिला शिमला के ऊपरी क्षेत्रों में कड़ाके की ठंड़ पड़ रही है। कुफरी में न्यूनतम तापमान लुढ़ककर तीन डिग्र्री से नीचे आ गया है। कुफरी में न्यूनतम तापमान 2.6 डिग्री दर्ज किया गया है। इसमें बीते बुधवार के मुकाबले तीन डिग्री की गिरावट आई है। तापमान में गिरावट आने से ऊपरी शिमला में कड़ाके की ठंड़ पड़ रही है।

जिला में नौ से 13 नवंबर तक मौसम साफ

जिला शिमला में नौ से 13 नवंबर तक मौसम साफ बना रहेगा। इस दौरान जिला शिमला के अधिकतर क्षेत्रों में धूप खिलने की संभावना जताई जा रही है। शिमला में गुरुवार को दोपहर तक मौसम खराब बना रहा, मगर दोपहर बाद हल्की धूप खिलनी शुरू हो गई थी।