Friday, August 23, 2019 07:23 AM

हादसों ने झकझोरा मंडी, छह  लोगों की मौत

मंडी—गत सप्ताह अलग-अलग घटनाओं के तांडव से करीब छह लोगों की मौत हो गई, जबकि दस से अधिक लोग घायल हो चुके हैं। उपमंडल सरकाघाट की तहसील बलद्वाड़ा की ग्राम पंचायत समैला में टुल्लू पंप के करंट से महिला की मौत हो गई, जबकि महिला के जेठ की उसी दिन हृदय गति रुकने से मौत हो गई। इसके अलावा धर्मपुर की सिद्धपुर पंचायत के गुजरगहरा गांव के 17 वर्षीय युवक की बिजली का करंट लगने से मौत हुई है।  जवालापुर पनारसा सड़क पर स्थित खमराधा के समीप एक मोड़ पर अनियंत्रित कार की सड़क किनारे पार्क दूसरी कार से जोरदार टक्कर हो गई।  हादसे में कार सवार दो लोगों की मौत हो गई, जबकि बिलासपुर से माता शिकारी मंदिर जा रही टाटा सूमो ने बगस्याड़ के पास सड़क क्रास कर रही चार साल की मासूम बच्ची को टक्कर मार दी। जिससे उसकी मौत हो गई। धर्मपुर के रथौन गांव में  एक व्यक्ति की संदेहास्पद परिस्थितियों में मौत हो गई। मृतक की लाश घर से 150 फीट दूर खेत में पड़ी में मिली ।

खौदा रेन शैल्टर की मरम्मत

अवाहदेवी-टीहरा-धर्मपुर मार्ग पर खौदा वर्षा शालिका के जर्जर भवन की समस्या को प्रदेश के अग्रणी मीडिया गु्रप ‘दिव्य हिमाचल’ ने 16 जुलाई के अंक में खौदा वर्षा शालिका का भवन जर्जर के शीर्षक से प्रमुखता से प्रकाशित किया था। खबर छपने के तुरंत बाद विभाग हरकत में आया और मौके पर लोक निर्माण विभाग ने भवन की मरम्मत के लिए सीमेंट, रेत-बजरी  व अन्य सामग्री सहित लेबर भेज दी।

सरकाघाट में पार्किंग न होने पर बवाल

गत सप्ताह शहर भर में पार्किंग की कोई समुचित व्यवस्था न होने के बावजूद  पुलिस द्वारा लोगों के आइडियल पार्किंग चालान काटे जाने को लेकर  मोर्चा खोला। मनोज बावा की अध्यक्षता में हुई व्यापार मंडल की बैठक में करीब 100 व्यापारियों ने रैली निकालकर प्रशासन व नगर पंचायत के खिलाफ जमकर धरना प्रदर्शन किया। दुकानदारों ने विरोध में करीब दो घंटे दुकानें बंद रखीं।  व्यापारियों ने प्रशासन को एक सप्ताह का अल्टीमेटम दिया, जिसमें कहा गया है कि 23 जुलाई तक शहर में पार्किंग की व्यवस्था बहाल नहीं की गई और चालान काटना बंद नहीं किए व बाजार की सड़कों मंे पड़े गड्ढोंं को भरा नहीं गया तो 24 जुलाई को भारी धरने के साथ चक्का जाम किया जाएगा। 

सीएम ने दी सौगात

दं्रग विस क्षेत्र के एकदिवसीय दौरे पर आए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने करोड़ों रुपए की सौगातें बांटीं। उन्हांेने पनारसा में कार्यक्रम में करीब 41 करोड़ रुपए की विभिन्न विकासात्मक परियोजनाओं का भूमि पूजन किया। मुख्यमंत्री ने मंडी तथा कुल्लू जिलों के आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को स्मार्टफोन भी वितरित किए।

31 तक बंद रहेगा पड्डल मैदान

पड्डल मैदान की मरम्मत व रखरखाव हेतु मैदान में मिट्टी बिछाई गई है, जिसकी सतह अभी कच्ची है। खिलाडि़यों के खेलने के कारण मिट्टी मजबूती नहीं ले रही है, जिस कारण पड्डल मुख्य मैदान  31 जुलाई  तक बंद रहेगा।

किसमें कितना है दम में चमके सितारे

मंडी शहर के दो होनहारों ने छोटी सी उम्र में ही एक्टिंग की दुनिया में एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है। टीवी रियलिटी शो किसमें कितना है दम में माहिन वैद्य ने ग्रैंड फिनाले में पहुंचकर अपनी एक्टिंग से सबको चित्त करते हुए खिताब अपने नाम किया। माहिन वैद्य गै्रंड फिनाले में पहुंचने वाले हिमाचल का एक मात्र प्रतिभागी रहा। इसके अलावा मंडी शहर की स्नेहा उक्त स्पर्धा में प्रथम रनरअप रही है। स्नेहा  डीएवी स्कूल मंडी में नौवीं कक्षा की छात्रा है। छात्रा की नृत्य के क्षेत्र में गहरी रुचि है। स्नेहा ने अपनी इस उपलब्धि का श्रेय संगीत सदन की ईशा डोगरा,  माता अंजू शर्मा, पिता हरीश कुमार व गुरुजनों के मार्गदर्शन को दिया है। 

मंडी में हेल्पलाइन नंबर

 उपायुक्त कार्यालय के लिए संपर्क नंबर-01905222355     व्हाट्स ऐप नंबर-7650025201   गुमशुदगी की शिकायत-9459100100 0 चाइल्ड हेल्पलाइन- 1098   गुडि़या हेल्पलाइन-1515   होशियार हेल्पलाइन-109

सावन माह शुरू होते शिवालयों में उमड़ी भीड़

गत सप्ताह मंडी जिला में बारिश की हल्की बूंदाबांदी  के साथ सावन माह शुरू हो गया। इसके साथ छोटी काशी मंडी के शिवालय भी ओम नमो शिवाय के मंत्र जाप से गूंज उठे हंै।  इसके अलावा जिला के ऐतिहासिक बाबा भूतनाथ मंदिर, महामृत्युंजय मंदिर, एकादश रुद्र महादेव मंदिर, पंचवक्त्र महादेव मंदिर, त्रिलोकीनाथ मंदिर, नीलकंठ महादेव मंदिर, त्रयंबकेश्वर महादेव मंदिर व महाकालेश्वर महादेव, सिद्धकाली मंदिर सहित अन्य मंदिरों में भक्तों की खूब भीड़ उमड़ रही है।

पनारसा से राज्य स्तरीय वन महोत्सव का आगाज

गत सप्ताह मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंडी जिला के पनारसा से 70वें राज्य स्तरीय वन महोत्सव 2019 की शुरुआत की। इसके चलते प्रदेश में पांच दिवसीय राज्य स्तरीय वन महोत्सव मनाया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने वन महोत्सव के अवसर पर अनार का पौधा भी लगाया तथा उन्होंने पौधरोपण के क्षेत्र में सराहनीय कार्य करने वाले वन विभाग के अधिकारियों, कर्मचारियों तथा स्वयंसेवी संस्थाओं को पुरस्कार भी प्रदान किए। उन्होंने इस अवसर पर वन विभाग के वन्य प्राणी विंग द्वारा प्रकाशित की गई एक पुस्तक का भी विमोचन किया।  इस वर्ष 25 लाख पौधे रोपे जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, जिसमें औषधीय पौधे, चौड़ी पत्ती वाले पौधे तथा फ लदार पौधे भी रोपे जाएंगे।