Saturday, July 20, 2019 11:11 PM

हाल चुनावी साल का मंत्री के एक साल का : गोविंद सिंह ठाकुर; विधायक, मनाली 

लोकसभा चुनाव में पूरा देश रंग चुका है, तो हिमाचल में सियासी पारा दिन-प्रतिदिन चढ़ रहा है। लोकसभा चुनाव में विधायक द्वारा किए गए विकास को भी परखा जाता है, तो इस बार हम दखल के जरिए जानेंगे कि हिमाचल सरकार के कैबिनेट मंत्री गोविंद ठाकुर ने सवा साल के कार्यकाल के दौरान किन प्रोजेक्टों को सिरे चढ़ाया और कौन सी अहम परियोजनाएं या मुद्दे पीछे छूट गए.....  शालिनी रॉय भारद्वाज

गोविंद सिंह ठाकुर; विधायक, मनाली 

मतदाता- 65 हजार

हिमाचल में जयराम सरकार का एक साल से ज्यादा का कार्यकाल हो चुका है। जयराम सरकार की कैबिनेट में वन,खेल और परिवहन मंत्री का ओहदा मनाली के विधायक गोविंद सिंह ठाकुर संभाल रहे हैं। विधायक गोविंद सिंह ठाकुर ने कार्यभार संभालने के तुरंत बाद क्षेत्र की समस्याओं को दूर करने की पहल कर दी।

उन्होंने पूरे विधानसभा क्षेत्र में एक समान विकास का तवज्जो दी। अगर बात शिक्षा की हो तो विधायक ने बेहतर शिक्षा मुहैया करवाने के मकसद से करीब 15 स्कूलों को अपग्रेड करवाया है, ताकि छात्रों को घर-द्वार ही शिक्षा मिल सके। वहीं  सड़क कनेक्टिविटी को भी बढ़ा कर लोगों को आवाजाही की बेहतर सुविधा देने के प्रयास किए जा रहे हैं। इसके अलावा मनाली शहर में पेयजल दिक्कत को देखते हुए 16 करोड़ की योजना पर काम किया जा रहा है। इस योजना के शुरू होने जाने से पानी की दिक्कत खत्म हो जाएगी। गौर हो कि मनाली टूरिस्ट के लिहाज से विश्व विख्यात है, लिहाजा हर साल यहां देश-विदेश से लाखों सैलानी यहां पहुंचते है, इसलिए यहां हर सुविधा को चाक-चौबंद करने पर खास ध्यान दिया जाता है। विधायक का मानना है कि उन्होंने हर क्षेत्र का एक समान विकास करवाया है। बेशक मंत्री हलके में विकास के दावे कर रहे हों, लेकिन कांग्रेस इससे इत्तेफाक नहीं रखती । कांग्रेस नेता  का कहना है कि क्षेत्र की सड़कों और स्वास्थ्य सेवाओं का बुरा हाल है।

3005 मतों से मारी बाजी

विधानसभा चुनावों में मनाली विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस और भाजपा में सीधी टक्कर थी। इस दौरान भाजपा के गोविंद सिंह ठाकुर ने 27173 मत हासिल कर कांग्रेस के हरिचंद शर्मा को 3005 मतों से मात दी । हरिचंद शर्मा को कुल 24168 वोट मिले।

सबको आशियाना मुहैया करवाना गोविंद का सपना

बचपन से घर में राजनीतिक माहौल को देखते हुए बड़े हुए मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर का भी सपना जनता की सेवा करना है। उसी मकसद से उन्होंने भी राजनीति में कदम रखा और आज वह मंत्री बनकर जनता की सेवा में दिन-रात डटे हैं। मंत्री बनने से पहले माता व पिता के नाम से बनी समाजसेवी संस्था के माध्यम से आज हजारों से अधिक जरूरतमंदों की मदद कर चुके हैं और मदद करते आ रहे हैं। तीसरी बार विधायक बने गोविंद सिंह ठाकुर का सपना मंत्री बनने से पहले एक ही है कि वह उस हर एक निर्धन परिवार को अपना आशियाना दिलवाना चाहते हैं, जो   बिना आशियाने के दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं। मंत्री बनने के बाद अपने एक साल के कार्यकाल में  गोविंद सिंह ठाकुर ने प्रदेश सहित कुल्लू-मनाली के विकास में अभी तक कोई कमी नहीं छोड़ी है। एक साल में जिला के लिए किए गए विकास पर मंत्री से जब चर्चा की गई तो उन्होंने बताया कि किस तरह से एक साल के कार्यकाल में उन्होंने अब तक जनता की सेवा में विकास किया है। मनाली विधानसभा क्षेत्र से दूसरी बार विधायक चुने जाने के बाद व पहली बार कुल्लू से मंत्री से विधायक रहे मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने मनाली विधानसभा क्षेत्र में गत दस वर्षों में विकास में जन सहयोग योजना के तहत 41 विकास कार्यों पर 3 करोड़ 65 लाख 39 हजार 456 रुपए की लागत से पूरा किया गया है, जो कि प्रदेश में किसी भी विधानसभा में सर्वाधिक है। इसी के साथ विधायक क्षेत्रीय विकास निधि योजना के तहत   588.865 लाख रुपए मनाली विधानसभा की विभिन्न 366 विकास योजनाओं पर खर्च किए गए हैं। यह राशि समान रूप से प्रत्येक क्षेत्र में आबंटित की गई है, जिसके परिणामस्वरुप गांव, सामुदायिक भवन, सराय पक्के रास्ते और लिंक रोेड का निर्माण किया गया है। मनाली विधानसभा का कोई भी पंचायत विकास कार्यों से अछूती नहीं रहा है। उन्होंने कहा कि पूर्व सरकार के किसी भी काम  को रोका नहीं गया है।

विपक्ष की नजर में नहीं हुआ विकास

हरि चंद शर्मा कांग्रेस नेता, मनाली 

मनाली विधानसभा क्षेत्र से इस बार कांग्रेस के प्रत्याशी रहे हरि चंद शर्मा ने कहा कि वह विधायक एवं मंत्री गोविंद ठाकुर के एक साल के कार्यकाल से संतुष्ट नही हैं।  गोविंद ठाकुर ने जनता से जो वादे  किए थे वे बहुत ही कम पूरे हो पाए हैं। पूर्व कांग्रेस सरकार की पुरानी योजनाओं पर ही कार्य हो रहा है। धरातल पर नया कोई भी कार्य नई सरकार का कहीं पर भी नहीं दिख रहा।  हेलिटैक्सी सेवा पर्यटन स्थलों के लिए भी शुरू होनी चाहिए, ताकि बेरोजगारों को रोजगार मिल सके। मनाली में पर्किंग व ट्रैफिक जाम की समस्या गंभीर रूप धारण कर चुकी है। अभी समर सीजन शुरू ही हुआ है, लेकिन ट्रैफिक जाम अभी से हसरदर्द बना लगा है। पर्किंग की अभी कोई व्यवस्था नही हो पाई है। पर्किंग न होने के कारण ही ट्रैफिक जाम लग रहा है। मनाली के होटलियर्ज व लोग अवैध निर्माण मामले को लेकर परेशान है। सरकार इन भवनों के नियमितीकरण को लेकर कोई  सरल व व्यावहारिक नीति नहीं ला पा रही है, जिस कारण मनाली घाटी के सैकड़ों लोग व होटलियर्ज को कोई राहत नहीं मिल पाई है। सड़कों की हालत खस्ता है। नेशनल हाई-वे में सफर करना जोखिम भरा हो गया है। ऊझी घाटी की सड़के भी दयनीय हालत में है। कांग्रेस कार्यकाल में सड़कों की हालत बेहतर थी, लेकिन भाजपा सरकार बनते ही सड़कें खस्ताहाल में हैं। मनाली के कई पर्यटन स्थल हामटा, पांडु रोपा, रानी सुई, चंद्रखनी, हलाण सहित अनेकों पर्यटन स्थल विकसित होने की राह देख रहे हैं , लेकिन मंत्रीजी इस दिशा में कोई सार्थक पहल नही कर पाए हैं। मंत्री बनने के बाद वह लोगों को न के बराबर समय दे पा रहे हैं। मनाली विधानसभा में चल रहे अधिकतर विकास के कार्य कांग्रेस सरकार की देन है। मंत्री मनाली विधानसभा का एक समान विकास करवाने में विफल रहे हैं।

विधानसभा क्षेत्र के 15 स्कूल अपग्रेड

मनाली के विधायक गोंिवंद ठाकुर अपने विधानसभा क्षेत्र में शिक्षा का स्तर बेहतर करने के लिए प्रयासरत हैं। बच्चों को घर-द्वार शिक्षा मिले, इसी को ध्यान में रखते हुए हलके के 15 स्कूलों को अपग्रेड करवाया है, ताकि बच्चों को खास कर बेटियों को दूरदराज के स्कूलों में न जाना पड़े।

मनाली को नहीं सताएगी प्यास

पेयजल की समुचित आपूर्ति करवाने को लेकर भी विधायक खासे गंभीर हैं। उन्होंने मनाली शहर के लिए एक पेयजल योजना का तोहफा दिया है। इस योजना पर 16 करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं। गौरतलब है कि इस पेयजल योजना को 85 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है, योजना के शुरू होने से शहर में पानी की किल्लत नहीं रहेगी।

बाढ़ नियंत्रण सात प्रोजेक्ट का काम जारी

मनाली विधानसभा क्षेत्र में 18 करोड़ रुपए की लागत से सात बाढ़ नियंत्रण योजनाओं को पूरा किया जा रहा है। साथ ही 585 करोड़ रुपए की पलचान-ओट बाढ़ नियंत्रण योजना को मंजूरी प्राप्त हो चुकी है, जिस पर जल्द कार्य आरंभ कर दिया जाएगा। 38 करोड़ रुपए की पांच योजनाओं के नवीकरण की प्रोजेक्ट रिपोर्ट एशियाई विकास बैंक के समक्ष मंजूरी को भेज दी गई है। साथ ही 162 करोड़ रुपए की मनाली शहर एवं आसपास के क्षेत्रों की योजना बनाकर मंजूरी के लिए भेज दी गई है।

रायसन में विद्युत सब-स्टेशन मंजूर

मनाली विधानसभा में पिछले एक वर्ष में 16 किलोमीटर एचटी तथा 31 किलोमीटर एलटी लाइन बिछाई गई। जहां पर 16 नए टांसफार्मर लगाए गए हैं। साथ ही 3639 नए बिजली के कनेक्शन प्रदान किए गए हैं। सौभाग्य योजना के तहत 161 नए बिजली कनेक्शन प्रदान किए गए हैं। 30 करोड़ की लागत से सब-स्टेशन प्रीणी और सब-स्टेशन एचपी पीटीसीएल को इन्टर लिंक किया गया जा रहा है। मनाली में 3.55 करोड़ की लागत से 33-11 सब-स्टेशन का निर्माण किया जा रहा है। रायसन गांव में 33-11 सब-स्टेशन के निर्माण के लिए करीब पांच करोड़ रुपए प्रदान किए गए हैं। 

लोगों की सुविधा को 29 नए बस रूट

मनाली विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न गांवों को बस रूट मुहैया करवाने के लिए विधायक ने कुल्लू से 29 नए रुटों पर बसें चलाई  हैं। उनकी मानें तो हमारी टैक्सी यूनियन प्रदेश की अग्रणी टैक्सी यूनियन में से एक है। भाजपा की सरकार आने पर सभी आवेदकों को टैक्सी की परमिशन प्रदान की है, जिससे क्षेत्र के हजारों युवाओं को लाभ प्राप्त हुआ है।

फोरलेन प्रभावितों की समस्याओं का समाधान

विधायक ने कुल्लू-मनाली फोरलेन के कार्य में भी एनएचएआई के साथ   तालमेल बनाकर स्थानीय लोगों को आने वाली समस्याओं के त्वरित समाधान के लिए उपायुक्त की अध्यक्षता में जिला स्तरीय समितियां बनाई हैं, ताकि रोजमर्रा की शिकायतों का तुंरत निदान किया जा सके।

रायसन को खेल गांव बनाने की तैयारी

खेलों को बढ़ावा देने के लिए भी गोविंद ठाकुर सजग हैं। इसी के चलते   रायसन गांव को खेल गांव बनाने की परियोजना तैयार की गई है। जिसमें करोड़ों रुपए व्यय किए जाएंगे तथा क्षेत्र के युवाओं के लिए इंडोर तथा आउटडोर खेलों की सुविधा प्रदान कर होस्टल सुविधा भी दी जाएगी।

बिहाल में तीन करोड़ से बनेगा नेचर पार्क

ब्यास बिहाल में तीन करोड़ की लागत से नेचर पार्क का निर्माण किया जा रहा है, जिसके लिए पैसा उपलब्ध करवा दिया गया है। इसी के साथ वरिष्ठ के नजदीक जोगनी फॉल धार्मिक पर्यटन स्थल के विकास के लिए वन विभाग की ओर से 30 लाख रुपए प्रदान किए गए हैं। बरोड़ झरने के विकास के 20 लाख रुपए, कोठी से माठी वन जंगलात सड़क की मरम्मत को 80 लाख ,ढूंगरी से सरोह नाला तक 20 लाख रुपए से रास्ते का निर्माण किया जा रहा है। कुल्लू वन मंडल की ओर से तीन करोड़ अस्सी लाख की लागत से मनाली या आसपास क्षेत्रों में 16 लाख 27 हजार पौधे रोपित किए गए हैं। कसोल, ववेली और कोठी में ईको टूरिज्म साइट्स का विकास जाना प्रस्तावित है। इसी के सात वन्य प्राणी विभाग की ओर से वर्षभर विभिन्न विकास कार्यों पर 4 करोड़ 18 लाख रुपए व्यय किए गए हैं। 

पतलीकूहल में थाना, अग्निशमन केंद्र खुला

विधानसभा क्षेत्र में कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए पतलीकूहल स्थित पुलिस पोस्ट को पुलिस थाने में स्तरोन्नत किया गया है। पतलीकूहल तथा आसपास के गांव आग के प्रति अति संवेदनशील है। सर्दियों के मौसम में इन क्षेत्रों में भीषण आगजनी की घटनाएं घटती है। जिस पर नियंत्रण पाने के लिए अब पतलीकूहल में अग्निशमन केंद्र खोला गया है, जिसे शीघ्र फंक्शनल कर दिया जाएगा। इसी के साथ सैंज में भी थाना खोला जा रहा है। मनाली में भी पुलिस थाना के नए भवन का काम जोरों पर चला है। नग्गर में भी पुलिस चौकी स्थापित की जा रही है।

जरूरतमंदों पर खर्च की ऐच्छिक निधि

ऐच्छिक निधि के रूप में भी मंत्री ने पांच लाख रुपए मनाली  के जरूरतमंद लोगों को आबंटित किए हैं। इसी के साथ ही 25 लाख रुपए की ऐच्छिक निधि प्रदेशभर के जरूरतमंद लोगों में आबंटित की गई है।  इसके अलावा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर लोगों की समस्याओं को सुलझाने में हमेशा तत्पर रहते हैं।

बागबानों को दिया जा रहा अनुदान

उद्यान के क्षेत्र में विभाग की अन्य योजनाओं के तहत मनाली विधानसभा क्षेत्र के बागबानों को कई तरह के अनुदान दिए जा रहे हैं। इसमें मधुमक्खी पालन, पोली हाउस निर्माण, पॉवर टिल्लर, स्प्रे पंप,वर्मी कंपोस्ट यूनिट, जल भंडार टैंक, एंटी हेल नेट, पैकिंग-ग्रेडिंग हाउस के लिए करोड़ों रुपए का अनुदान प्रदान किया गया है।

मुख्यमंत्री खेत संरक्षण योजना से 29 लाभान्वित

कृषि के क्षेत्र में भी मुख्यमंत्री खेत संरक्षण योजना के तहत मनाली विधानसभा क्षेत्र में गत दो वर्षाें में 120.39 लाख रुपए खर्च कर 29 किसानों को लाभ पहुंचाया गया है। मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के तहत मनाली क्षेत्र में 155502 मृदा स्वास्थ्य कार्ड प्रदान किए गए हैं। 2495 मिट्टी के नमूनों का परीक्षण किया गया है। सब्जियों की पैदावार बढ़ाने के लिए भी लोगों को अनुदान राशि प्रदान की गई है। साथ ही कल्याण विभाग की ओर से कई प्रकार की जनकल्याणकारी योजनाएं वर्तमान में प्रदेश में चल रही है। इसके तहत भी लोगों को लाभान्वित किया गया है, और लाखों की धनराशि खर्च की गई है।

आयुष्मान से 640, हिम केयर स्वास्थ्य कार्ड से 1611 ने उठाया लाभ

आयुष्मान भारत योजना के तहत जिला कुल्लू में 37256 लोगों को स्वास्थ्य कार्ड प्रदान किए गए हैं तथा जनवरी 2019 तक 640 लोग इसका लाभ ले चुके हैं। हिम केयर योजना के तहत कुल्लू जिला में 4900 लोगों को स्वास्थ्य कार्ड प्रदान किए जा चुके हैं, जिनमें से जनवरी 2019 तक 1611 लोग योजना का लाभ प्राप्त कर चुके हैं।

मनाली सीएचसी, पतलीकूहल प्राइमरी हैल्थ सेंटर का दर्जा बढ़ाया

स्वास्थ्य के क्षेत्र की बात करें तो मनाली के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को नागरिक अस्पताल में स्तरोन्नत किया गया है। पतलीकूहल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र किया गया है। जननी सुरक्षा योजना कार्यक्रम योजना के तहत शिशुओं को लाभ प्रदान किया गया है। साथ ही जिला अस्पताल में 4634 किडनी मरीजों को डायलिसिस की सुविधा प्रदान की गई है।

चार बार मनाली आए मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर अब तक चार बार मनाली हलके का दौरा कर चुके हैं।  इस दौरान उन्होंने विधानसभा क्षेत्र को कई सौगात दी हैं। इसके अलावा लोगों की सुविधा के लिए मौके पर उनकी समस्याएं सुलझाने के लिए सरकार ने जनमंच जैसे कार्यक्रम शुरू किए हैं, इसी के तहत मनाली में अब तक चार जनमंच हुए हैं। मंत्री गोविंद ठाकुर ने बताया कि जनमंच में  जितनी भी शिकायतें आई हैं,उनमें से अधिकतर का समाधान किया जा चुका है। 

 मनाली को और निखारने का प्लान

मनाली के विधायक का कहना है कि पर्यटन की दृष्टि से महत्त्वपूर्ण मनाली को एक विश्व स्तरीय पर्यटन नगर बनाने की ओर हम अग्रसर हैं। शहर की यातायात व्यवस्था, साफ-सफाई तथा सौंदर्यकरण के साथ-साथ साहसिक एवं धार्मिक पर्यटन को भी बढ़ावा दिया जा रहा है। नई राहें, नई मंजिलें इस योजना के तहत पर्यटकों के लिए आधारभूत सुविधाएं, जैसे राजमार्गों पर शौचालयों का निर्माण, पिकनिक स्पॉट का निर्माण, ट्रैक रुट्स व काइसधार और माठासौर को विकसित किया जा रहा है। साथ ही अपनी धरोहर अपनी पहचान योजना के तहत मुरली मनोहर मंदिर नग्गर, त्रिपुरा संदुरी मंदिरनगर, गौरी शंकर मंदिर दशाल, वशिष्ट ऋफि मंदिर, वश्ष्टि, हिडि़ंबा मंदिर, मनु मंदिर, ओल्ड मनाली, कार्तिकेय स्वामी मंदिर सिमसा, भुवनेश्वरी माता भेखली, तथा बिजली महादेव मंदिर का साैंदर्यकरण किया जाएगा।

रोड कनेक्टिविटी बढ़ा रहे गोविंद

केंद्रीय सड़क कोष के तहत 21 महत्त्वपूर्ण सड़कों-पुलों का हो रहा निर्माण

अनूसूचित जनजाति उपयोजना तहत खर्च किए जा रहे 173.350 लाख

मनाली के विधायक एवं परिवहन मंत्री गोविंद ठाकुर ने विधानसभा क्षेत्र में सड़कों व पुलों के रखरखाव पर खासा ध्यान दिया है, ताकि लोगों को किसी तरह की मुश्किलें पेश न हों। किसी भी क्षेत्र के विकास में सड़कों व पुलों का महत्त्वपूर्ण योगदान रहता है। इसी को ध्यान में रखते हुए विधायक ने इस ओर खासा ध्यान दिया है। अपने कार्यकाल के दौरान विधायक ने हर क्षेत्र में समान विकास करवाया। इस दौरान सीआरएफ (केंद्रीय सड़क कोष) के तहत विभिन्न सड़कों और पुलों के निर्माण के लिए 5899 लाख रुपए खर्च किए जा रहे हैं। इसके तहत विधानसभा क्षेत्र की 21 महत्त्वपूर्ण सड़कों और पुलों का निर्माण किया जाएगा। इसके अलावा अनुसूचित जनजाति उपयोजना के तहत 173.350 लाख रुपए प्रदान किए गए हैं, ताकि गांव-गांव को सड़क से जोड़ा जाए और लोगों को सुविधा मिल सके। इसके अलावा नाबार्ड के तहत भी सड़कों का भी जाल भी बिछाया जा रहा है। जानकारी के अनुसार नाबार्ड के तहत  हलके की विभिन्न सड़कों के निर्माण पर 430 लाख रुपए खर्च किए जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत भी सड़क नेटवर्क को मजबूत किया जा रहा है। सड़क सुविधा से वंचित गांवों को जोड़ा जा रहा है, क्योंकि किसानों और बागबानों को अपनी फसलों को मंडियों तक पहुंचाने के लिए सड़कों का होना अति आवश्यक है इसी को ध्यान में रखते हुए विधानसभा क्षेत्र में रोड कनेक्टिविटी को बढ़ाया जा रहा है, ताकि किसानों -बागबानों को किसी तरह से मुश्किलों का सामना न करना पड़े। प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत 2521.16 लाख रुपए प्रदान किए गए हैं। कुलमिलाकर गोविंद सिंह ठाकुर विधानसभा क्षेत्र में रोड कनेक्टिविटी बढ़ाने पर जोर दे रहे हैं।

निखारे जा रहे टूरिस्ट प्वांइट

सोलंगनाला लेक सहित अंजनी महादेव होंगे विकसित सोलंगनाला सहित अन्य साथ लगते पर्यटन स्थलों को भी विकसित करने की योजना तैयार है। गुलाबा में नेचर पार्क बनाया जाएगा। वहीं, सोलंगनाला लेक को पर्यटकों के लिए तैयार किया जाएगा। इसी के साथ अंजनी महादेव को जाने वाले मार्ग को भी बेहतर किया जाएगा।  नेहरू कुंड को भी संवारा जाएगा,ताकि देश-विदेश से कुल्लू-मनाली घूमने आने वाले सैलानी अब नेहरु कुंड के पास रुक कर भी  इसे निहारने का आनंद ले सकें।  इनके लिए बजट की व्यवस्था भी की जा चुकी है।