हाल चुनावी साल का मंत्री के एक साल का : सरवीण चौधरी; विधायक, शाहपुर

देश में लोकसभा चुनावों का बिगुल बज चुका है। ऐसे में हिमाचल के विधानसभा क्षेत्रों में भी नेता जीत की डोर संभाले हुए हैं। ‘दिव्य हिमाचल’ के दखल की इस कड़ी में आज जयराम सरकार में  कैबिनेट मंत्री सरवीण चौधरी के विधानसभा क्षेत्र शाहपुर के सवा साल के विकास की नब्ज टटोल रहे हैं... विजय लगवाल

सरवीण चौधरी, विधायक, शाहपुर

कुल मतदाता 80688 

 6147 मतों से दर्ज की जीत

इस बार के विधानसभा चुनावों में शाहपुर में त्रिकोणा मुकाबला हुआ। भाजपा की सरवीण चौधरी को 23104 वोट मिले तो आजाद प्रत्याशी मेजर विजय सिंह मनकोटिया को 16957 और कांग्रेस के केवल सिंह पठानिया को 16333 मत पड़े। ऐसे में सरवीण चौधरी ने 6147 मतों जीत दर्ज की ।   

भारत में लोकसभा चुनावों का बिगुल बज चुका है। साथ ही राजनीतिक दल अपनी सरकारों व विपक्षी दल अपनी भूमिका को लेकर एक बार फिर जनता के बीच परीक्षा देने की तैयारी शुरू कर चुके हैं। ऐसे में हिमाचल की विधानसभा के चुनाव क्षेत्रों में भी नेता जीत की डोर को संभाले हुए हैं। 

‘दिव्य हिमाचल’ के दखल की इस कड़ी में आज हम जयराम सरकार में कैबिनेट मंत्री सरवीण चौधरी , जो कि  तीसरी बार विधायक चुनी गईं हैं, के  विधानसभा क्षेत्र शाहुपर की सवा साल के विकास की नब्ज को टटोल रहे हैं।  शाहपुर विधानसभा क्षेत्र में नई सरकार के कार्यकाल में करोड़ों रुपए के विकास कार्य चल रहे हैं।। सरवीण चौधरी ने क्षेत्र के विकास में कभी भेदभाव नहीं किया और हर गांव पंचायत का एक समान विकास करवाया । शिक्षा, आधुनिक शिक्षा व स्वास्थ्य के क्षेत्र में नए व आधुनिक बदलाव किए जा रहे हैं। पेयजल आपूर्ति को और बेहतर बनाने के काम चल रहे हैं, ताकि लोगों को मूलभूत सुविधा यानी पानी के लिए भटकना न पड़े। इसके अलावा लोगों को बेहतर यातायात सुविधा देने में भी मंत्री गंभीर हैं।

इसके तहत गांव-गांव को सड़क सुविधा से जोड़ा जा रहा है। सड़कों के निर्माण पर करोड़ों रुपए लगाए जा रहे हैं। इसके अलावा हलके में विद्युत व्यवस्था को सुचारू रखने के प्रयास किए जा रहे हैं। इसके अलावा विधानसभा क्षेत्र को पर्यटन  के तौर पर भी विकसित करने के प्रयास किए जाएंगे। हालांकि विधायक क्षेत्र में अथाह विकास के दावे कर रही हों, लेकिन विपक्ष पार्टी कांग्रेस इससे सिर्फ झूठ का पुलिंदा ही मानती है। कांग्रेस नेता केवल सिंह पठानिया का कहना है कि भाजपा मंत्री सिर्फ कांग्रेस सरकार की योजनाओं को गिना कर ही श्रेय ले रही हैं। हकीकत में धरातल पर कुछ भी नहीं हुआ। सवा साल का कार्यकाल निराशाजनक रहा है।

भाजपा ने छले लोग शाहपुर का विकास कांग्रेस की देन है

केवल सिंह पठानिया कांग्रेस नेता

प्रदेश  कांग्रेस पार्टी महासचिव केवल सिंह पठानिया ने बताया कि विधानसभा शाहपुर क्षेत्र का विकास तब-तब हुआ है, जब-जब कांग्रेस पार्टी सत्ता में रही है। भाजपा द्वारा सिर्फ  एक काम किया गया है और वह है, जो शाहपुर से सेंट्रल यूनिवर्सिटी के अस्थायी कैंपस को शाहपुर से भेजना है। इसके अलावा भाजपा की और कोई उपलब्धि नहीं है।  भाजपा को शाहपुर की जनता ने जब भी चुना तो भाजपा सरकार शाहपुर के विकास को करवाने में नाकाम रही है। पिछले एक साल में विधानसभा क्षेत्र में सिर्फ घोषणाएं ही हुई हैं। धरातल पर कुछ भी नहीं हुआ। केवल सिंह पठानिया ने कहा कि जब कांग्रेस की सरकार सत्ता में थी तो, शाहुपर में आईपीएच डिवीजन, पीडब्ल्यूडी सब-डिवीजन, बिजली विभाग का डिवीजन, शाहपुर पीएचसी से सिविल अस्पताल,  एसडीएम कार्यालय,   शाहपुर तथा लंज डिग्री कालेज, सेंटर यूनिवर्सिटी का अस्थायी कैंपस आदि सभी कांग्रेस की देन है । इसके अलावा  दरीणी को उपतहसील के साथ अस्पताल, पशु औषधालय के अलावा कई और विकास कार्य कांग्रेस सरकार के समय के हैं। या यूं कहें कि अगर शाहपुर विधानसभा में विकास हुआ है तो वह सिर्फ कांग्रेस की ही देन है तो गलत नहीं होगा।  शिक्षा के क्षेत्र में कांग्रेस पार्टी द्वारा  राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला शाहपुर, वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सिहुवां, वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला रैत , वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला चड़ी, वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला रजोल, वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला घरोह,  कल्याड़ा, वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला दरीणी में साइंस, वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बोह, वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला लंज, वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला हारचक्कियां, वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला परगोड़ ओर प्राइमरी एमिडल स्कूलों का विस्तार कांग्रेस पार्टी ने किया है। इसके अलावा पुलिस चौकी लंज, पुलिस चौकी दरीणी कांग्रेस की ही देन है। यहीं कांग्रेस ने चंबी खेल मैदान का विस्तार करवा कर हमेशा युवाओं को रोजगार देने की ओर भी अग्रसर रही है।

शाहपुर को मॉडल बनाएंगी सरवीण

शाहपुर विधानसभा क्षेत्र को मॉडल क्षेत्र बनाने के लिए प्रयासरत हूं, जिसके लिए इसमें शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, बिजली, पानी आदि की सुचारू व्यवस्था के साथ-साथ यहां के बेरोजगार युवा, बुजुर्ग, महिला आदि सभी वर्ग की सुविधाओं का ध्यान रखना प्राथमिकता है।

साथ ही किसानों-बागबानों के हित में सरकार द्वारा शुरू की गई योजनाओं से रू-ब-रू करवाना, जिससे वे इनका लाभ प्राप्त कर सकें। शहरी आवास विकास एवं नगर नियोजन मंत्री सरवीन चौधरी ने कहा कि क्षेत्र में पेयजल की बेहतर सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए 23 करोड़ रुपए की राशि खर्च की जा रही है। इसके साथ ही शाहपुर क्षेत्र में विभिन्न सिंचाई व बाड़ नियंत्रण योजनाओं पर करीब 16 करोड़ की राशि खर्च की जा रही है, ताकि किसानों की भूमि को सिंचाई की सुविधा मिल सके और जहां आवश्यकता हो, वहां भूमि कटाव को रोका जा सके। सरवीन चौधरी ने कहा कि विधानसभा क्षेत्र शाहपुर में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत विभिन्न सड़कों व पुलों का कार्य प्रगति पर है, इसके लिए 23 करोड़ की धनराशि व्यय की जा रही है। उन्होंने कहा कि नावार्ड के तहत विभिन्न कार्य योजनाओं पर 14 करोड़ की राशि व्यय की जा रही है। शाहपुर में अच्छी सड़क सुविधा देने के लिए प्रयासरत हैं व इस वित्त वर्ष में सात सड़कों के सुधारीकरण की डीपीआर व दो नई सड़कों की डीपीआर तैयार की है। उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग द्वारा विभिन्न भवनों के निर्माण कार्य पर करीब 15 करोड़ रुपए व्यय किए जा रहे हैं।

मंत्री की प्राथमिकताएं

* हर गांव को सड़क सुविधा से जोड़ना

* सिंचाई सुविधा को और मजबूत बनाना

* हलके में राष्ट्रीय स्तर का इंस्टीच्यूट खुलवाना

* शाहपुर को नगर पंचायत का दर्जा दिलाना

* खेलों को बढ़ावा देने के लिए विधानसभा क्षेत्र में इनडोर स्टेडियम बनवाना

* किसानों की सुविधा के लिए सब्जी मंडी का भी है प्लान

* शाहपुर में डीएसपी कार्यालय, लोक निर्माण विभाग का डिवीजन खुलवाना

* दो बड़े सामुदायिक भवनों का निर्माण करना

* रोजगार के अवसर बढ़ाने पर ध्यान देना

* कर्मचारियों के लिए आवासीय कालोनी का निर्माण करवाना

धारकंडी के लिए बस सुविधा

शाहपुर विधानसभा की विधायक लोगों को यातायात की बेहतर सुविधा देने के लिए प्रयासरत हैं। उन्होंने हलके के दुर्गम गांव धारकंडी  के गांव भलेड़ के लिए बस सेवा शुरू की है। इस बस सेवा के शुरू होने से ग्रामीणों में खुशी की लहर है। इस बस से दरीणी, तलमाता,रिड़कमार, लाहड़ी सल्ली आदि के लोगों को सुविधा मिलेगी ।

मिनी सचिवालय की सौगात

हलके के लोगों और बेहतर सुविधाएं देने का लक्ष्य लेकर राजनीति के जरिए जनसेवा करने के लिए फील्ड में उतरी सरवीण चौधरी ने हर वर्ग का समान विकास करवाने की कोशिश की है। इसी कड़ी में उन्होंने मुख्यमंत्री द्वारा शाहपुर बाजार से थोड़ा बाहर कोडला फार्म में मिनी सचिवालय का शिलान्यास करवाया, ताकि लोगों को एक ही छत के सभी सुविधाएं मिल सकें। यही नहीं,  यहां पर सरकारी कार्यालयों के साथ-साथ बैंक सुविधा देने का भी प्रावधान किया गया है।

शाहुपर अस्पताल का दर्जा बढ़ाया

विधानसभा क्षेत्र शाहपुर के शाहपुर स्थित अस्पताल को स्तरोन्नत कर सिविल अस्पताल का दर्जा दिया गया। साथ ही इसमें 100 बिस्तरों का प्रावधान किया गया है। इसके लिए अस्पताल के प्रांगण में खाली पड़ी भूमि पर छह मंजिला भवन बनाया जाएगा। इस पर करीब 22 करोड़ रुपए खर्च किए जाने का प्रावधान है।  नए भवन के बन जाने के बाद मौजूदा चिकित्सकों को भी राहत मिल सकेगी। इसमें चिकित्सकों के साथ-साथ अन्य स्टाफ के भी पद बढ़ेंगे। इससे तहसील सिहुंता (चंबा), उपतहसील कोटला व जवाली तहसील के कुछ गांवों के लोगों को यहां बेहतर चिकित्सा सुविधा प्रदान होगी। यही नहीं, अस्पताल में डिजिटल एक्स-रे शुरू होने से भी लोगों को राहत मिलेगी।

बस स्टैंड का शिलान्यास

शाहपुरवासियों की वर्र्षाें से चली आ रही शाहपुर में बस स्टैंड की मांग की भी सरवीन चौधरी ने पूरा करते हुए बाजार के साथ इसका शिलान्यास कर पूरा कर दिया है। शाहुपर में बस स्टैंड बन जाने से लोगों को काफी राहत मिलेगी। यहीं नहीं अलग बस स्टैंड बन जाने से बीच बाजार में खड़ी गाडि़यों की भीड़ भी कम हो जाएगी।

8500 को मुफ्त गैस कनेक्शन

शहरी आवास मंत्री सरवीण चौधरी ने कहा कि महिला सशक्तिकरण एवं पर्यावरण संरक्षण के उद्देश्य से हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना शुरू की है, जिससे तहत 8500 गृहिणियों को मुफ्त गैस कनेक्शन वितरित किए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि इस योजना से महिलाओं को बड़ी राहत मिलेगी और उन्हें धुएं वाली रसोईघर से छुटकारा मिलेगा। यहीं इससे वन कटान पर भी प्रतिबंध लगेगा।

पेयजल योजनाओं पर खर्च किए जा रहे 23 करोड़ रुपए

विधानसभा क्षेत्र के तहत विभिन्न पंचायतों में पेयजल योजनाओं पर करोड़ों रुपए खर्च किए जा रहे हैं, ताकि हलके लोगों को पानी की किल्लत से खासकर गर्मियों में न जूझना न पड़े। जानकारी के अनुसार गर्मियों के दिनों में लोगों को पानी की परेशानी का सामना करना पड़ता है। इसी की ध्यान में रखते हुए विधानसभा क्षेत्र में पेयजल योजनाओं पर 23 करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं।

विकास की ओर बढ़ता शाहपुर

विधानसभा क्षेत्र शाहपुर प्रदेश के चुनाव क्षेत्र को सीट नंबर-17 का दर्जा मिला है। यह हलका राजपूत  और चौधरी बहुल क्षेत्र है, जिसमें भाजपा को छोड़कर क्षेत्र के बाहरी लोगों ने ही प्रतिनिधित्व  किया है। विधानसभा क्षेत्र शाहपुर से पहली बार 1977 में शाहपुर के ही रामरतन पटाकू ने बतौर जनता पार्टी के विधायक के रूप में जीत दर्ज की। इसके बाद मेजर विजय सिंह मनकोटिया कभी आजाद तो कभी कांग्रेस तो कभी जनता दल की ओर से अपना परचम लहराते रहे, जो कि विधानसभा क्षेत्र के गांव तियारा के रहने वाले हैं। इनसे पहले राणा कुलतार चंद के हाथ शाहपुर विधानसभा हलके की बागडोर रही, जो कि निर्वाचन क्षेत्र धर्मशाला से थे। 1998 में भाजपा उम्मीदवार सरवीण चौधरी, जो कि इसी हलका की निवासी हैं, ने जीत दर्ज करते हुए विधानसभा ने कदम रखा व 2003 के चुनावों को छोड़ कर अब तक तक सरवीण  चौधरी अपना विजय पताका पहरा रही हैं। सरवीन चौधरी इस बार जयराम सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं। वह शहरी विकास मंत्री हैं हालांकि अभी जयराम सरकार को सवा साल का ही कार्यकाल हुआ है। इस दौरान सरवीण चौधरी ने क्षेत्र में विभिन्न विकास कार्याें को तेजी दी है। लोगों की हर मुश्किल को अपना दुखदर्द मानने वाली विधायक क्षेत्र के विकास को ही प्राथमिकता देती हैं। हलके में सड़कों की बात हो या पानी की तो विधायक लोगों को हर सुविधा देने के लिए प्रयासरत हैं। यानी कि विधानसभा क्षेत्र विकास की ओर बढ़ रहा है। पेयजल स्कीमों पर 23 करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं। छोटे से कार्यकाल के दौरान क्षेत्र में बेहतर सुविधाएं के लिए  शाहपुर अस्पताल को स्तरोन्नत कर 100  बिस्तरों का किया गया । इसके अलावा कल्याड़ा में  पीएचसी का उद्घाटन किया गया । साथ ही दरीणी में स्वास्थ्य केंद्र तथा इसके तहत आने वाले स्वास्थ्य उप केंद्रों को हैल्थ एंड वैलनैस केंद्र से जोड़ा गया। क्षेत्र में एक समान विकास के कई प्रोजेक्ट शुरू किए गए हैं, जो आने वाले दिनों में लोगों को राहत देंगे।

मणिमहेश से कम नहीं खबरू झरना

शाहपुर विधानसभा क्षेत्र के धारकंडी एरिया के तहत खबरू झरना को पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जाए, तो स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के  अवसर बढ़ेंगे। साथ ही पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बनेगा। गौरतलब है कि खबरू झरना किंवदंतियों के अनुसार मणिमहेश झील के बराबर मान्यता रखता है। लोगों में भी इसके प्रति अगाढ़ आस्था है। मणिमहेश न्हौण के दिन यहां भी आस्था की डुबकी लगाई जाती है। ऐसा माना जाता है कि जो लोग मणिमहेश झील तक नहीं पहुंच पाते, वे खबरू में पवित्र स्नान कर पुण्य कमाते हैं। सरकार व स्थानीय प्रशासन अगर इस ओर ध्यान दे तो यह स्थल पर्यटन की दृष्टि से विधानसभा क्षेत्र शाहपुर को एक नई पहचान दिला सकता है। इसके अलावा करेरी झील को भी पर्यटन के तौर पर निखारा जा सकता है। वहीं शाहपुर मुख्यालय से थोड़ी दूर नेरटी स्थित तत्तवानी, जहां गर्म पानी के चश्मे मौजूद हैं, उन्हें भी विकसित किया जा सकता है।