Monday, October 21, 2019 10:51 AM

हिमाचली बॉक्सर आशीष नेजीता इंटरनेशनल गोल्ड मेडल

शिमला, सुंदरनगर -हिमाचल के मुक्केबाज आशीष चौधरी ने थाइलैंड के बैंकॉक में संपन्न हुई इंटरनेशनल बॉक्सिंग चैंपियनिशप में देश की झोली में गोल्ड मेडल डाल दिया है। सुंदरनगर के आशीष चौधरी ने 75 किलोग्राम भार वर्ग में शनिवार को प्रतियोगिता के फाइनल में दक्षिण कोरिया के मुक्केबाज किम को 5-0 से हराकर स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया। यह आशीष का पहला अंतरराष्ट्रीय पदक है। इससे पहले उन्होंने कई देशों के मुक्केबाजों पर हिमाचली पंच बरसा, उन्हें ढेर कर दिया। सेमीफाइनल में आशीष का सामना चीन के बॉक्सर से हुआ, जिन्हें हिमाचली गबरू ने आसानी से पटक दिया। क्वार्टर फाइनल में प्रदेश के होनहार बॉक्सर ने मेजबान देश थाईलैंड के मुक्केबाज को धूल चटाई। वहीं, आशीष चौधरी के प्रदर्शन को देखते हुए देश और प्रदेश के खेल प्रमियों ने शुभकामनाएं दी है। बता दें कि हाल ही आशीष चौधरी एशियन चैंपियनशिप और इंडियन ओपन में सिल्वर मेडल जीते थे, लेकिन इस बार वह मेडल का रंग बदलने में कामयाब रहे। उधर, प्रदेश मुक्केबाजी संघ के अध्यक्ष राजेश भंडारी ने बताया कि आशीष चौधरी ने देश के साथ प्रदेश का नाम रोशन किया है। उसे भविष्य के लिए ढेर सारी शुभकामनाएं। वहीं, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंडी जिला के सुंदरनगर क्षेत्र से संबंधित बॉक्सर आशीष चौधरी को स्वर्ण पदक जीतने पर बधाई दी है। उन्होंने कहा कि आशीष चौधरी ने अपने शानदार प्रदर्शन से देश और प्रदेश का सम्मान बढ़ाया है। आशीष चौधरी ने बॉक्सर बीएस थापा के बाद नई ऊंचाइयों को छुआ है, जिन्होंने 1980 में मॉस्को ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधत्व किया था। मुख्यमंत्री ने बॉक्सर आशीष चौधरी के परिवार को भी उनकी इस उपलब्धि पर शुभकामनाएं दी हैं। खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने भी इस उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए आशीष चौधरी और हिमाचल बॉक्सिंग संघ को बधाई दी है।

वर्ल्ड चैंपियनशिप खेलेंगे

प्रदेश मुक्केबाजी संघ के अध्यक्ष राजेश भंडारी ने बताया कि आशीष चौधरी का चयन वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप के लिए हुआ है। यह स्पर्धा सितंबर माह में रूस में खेली जाएगी।

भारत की झोली में आठ पदक

एशियाई चैंपियनशिप के रजत पदकधारी आशीष के पहले गोल्ड समेत टूर्नामेंट में भारतीय खिलाडि़यों ने आठ पदक अपनी झोली में डाले। भारत ने एक स्वर्ण, चार रजत और तीन कांस्य पदक अपने नाम किए। टूर्नामेंट में भारतीय दल का प्रदर्शन शानदार रहा, जिसमें 37 देशों के दुनिया के सर्वश्रेष्ठ मुक्केबाजों ने शिरकत की।