Monday, June 01, 2020 02:30 AM

हिमाचल भवन में रहेंगे दिल्ली चंडीगढ़ में पढ़ रहे युवा

शिमला - देश की राजधानी दिल्ली, पंजाब व हरियाणा की राजधानी चंडीगढ़ में रह रहे हिमाचली युवाआें को उनके पीजी में ठहरने की मनाही है। ऐसे में वहां रहकर पढ़ाई करने वाले युवाओं को हिमाचल सरकार ने सहारा दिया है। वहां उनके पास रहने के लिए कोई दूसरा ठिकाना नहीं और वह वापस अपने घरों को भी नहीं लौट सकते। इसलिए प्रदेश सरकार ने आदेश दिए हैं कि ऐसे युवाओं को जो दिल्ली में रह रहे हैं, उन्हें दिल्ली हिमाचल भवन व हिमाचल सदन और चंडीगढ़ में हिमाचल भवन में सहारा दिया जाएगा। वहां उन्हें रहने व खाने की सुविधा मिलेगी, ताकि कर्फ्यू के इस दौर में वे लोग परेशान न हों, इस संबंध में सरकार ने आदेश दिए हैं और इन्हें तुरंत प्रभाव से लागू करने को कहा गया है। बड़ी संख्या में हिमाचल के युवा चंडीगढ़ में पीजी में रहकर अपनी पढ़ाई कर रहे हैं। इन युवाओं की मदद के लिए सरकार ने कदम बढ़ाया है, क्योंकि अभी न जाने कितने दिनों तक यह दिक्कत झेलनी पड़ेगी, लिहाजा उनके रहने की व्यवस्था की गई है। चंडीगढ़ स्थित हिमाचल भवन में वैसे तो इतनी ज्यादा अकोमोडेशन सरकार के पास नहीं है, लेकिन पर्यटन विकास निगम के पास भी वहां काफी कमरे हैं। चंडीगढ़ में लगभग पूरे प्रदेश से ही बच्चे पढ़ने के लिए जाते हैं। हायर एजुकेशन के लिए उन्हें वहां भेजा जाता है। इसमें सबसे अधिक संख्या ऊपरी शिमला के बागबानों के बच्चों की है, जो काफी संख्या में वहां हैं। बताया जाता है कि वहां पढ़ने वाले हिमाचली बच्चों के साथ जब दिक्कतें पेश आने लगीं, तो यहां रह रहे उनके अभिभावकों ने मसला सरकार से उठाया। सरकार तक इस बात को पहुंचाया गया। इसके बाद सरकार ने देर शाम यह निर्णय लेते हुए आदेश जारी किए हैं।

अथॉरिटी तय करेगी मापदंड

हिमाचल भवन चडीगढ़ में कुछ कमरे जीएडी के पास हैं, तो कुछ पर्यटन विकास निगम के पास। वहां रहने की व्यवस्था किस तरह से की जाएगी और इसके लिए किस तरह के मापदंड होंगे, यह खुद वहां की अथॉरिटी तय करेगी। ये बच्चे अपनी समस्या को उनके सामने उठा सकते हैं, जिसके बाद उन्हें रहने व खाने की सुविधा वहां मिल जाएगी। मुख्य सचिव की ओर से संयुक्त सचिव जीएडी ने ये आदेश जारी कर दिए हैं।