Tuesday, March 31, 2020 01:40 PM

हिमाचल में बड़ी राहत…कोरोना का नया केस नहीं, 99 में से 96 नेगेटिव

चलो कान पकड़ो...

नाहन — शहर में बुधवार को कफ्र्यू के बीच युवाओं को बिना वजह घर से बाहर निकलना महंगा पड़ा। पुलिस ने इनसे कान पकड़वाए

शिमला - हिमाचल प्रदेश में अब तक कोरोना संदिग्ध मरीजों के लिए गए 96 मामले नेगेटिव पाए गए हैं। राज्य में लगातार दूसरे दिन एक भी पॉजिटिव मामला नहीं आया है। टांडा मेडिकल कालेज, आईजीएमसी तथा पुणे में अब तक 99 नमूनों की जांच हो चुकी है। पॉजिटिव पाए गए तीन मामले में एक मृतक तिब्बती के अलावा दो और है। राज्य में कोरोना प्रभावित देशों से यात्रा कर लौटे कुल 2186 लोग निगरानी में रखे गए हैं। राहत की खबर है कि पहले से ही निगरानी में चल रहे 591 संदिग्ध मरीजों ने 28 दिन की समयावधि पूरी कर ली है। इसके अलावा 188 लोग प्रदेश से अपने गंतव्य के लिए कूच कर गए हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन से जारी रिपोर्ट के अनुसार 25 मार्च को हिमाचल प्रदेश में कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीजों के लिए राज्य सरकार ने निगरानी के पुख्ता प्रबंध किए हैं। कांगड़ा जिला के टांडा मेडिकल कालेज और शिमला के आईजीएमसी में नमूनों की लगातार जांच हो रही है। इसकी रिपोर्ट आने में करीब छह से सात घंटे लग रहे हैं। बताते चलें कि कांगड़ा जिला के लंज तथा शाहपुर के दो लोगों के सबसे पहले पॉजिटिव मामले आए थे। इन दोनों के परिवारों को कड़ी निगरानी में रखा गया है। राज्य सरकार की एडवाइजरी के अनुसार पांच दिन की कड़ी निगरानी के बाद परिजनों के सैंपल भी जांच को लिए जाएंगे। उल्लेखनीय है कि हिमाचल प्रदेश में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए प्रदेश में कफर्यू लगा दिया गया है। इसके तहत किसी भी व्यक्ति को घर से निकलने की इजाजत नहीं है। राज्य में कर्फ्यू की यह समयावधि 14 अप्रैल तक जारी रहेगी। विशेषज्ञों का मानना है कि इन 21 दिनों के भीतर लोग अगर अपने घरों में बने रहते हैं तो कोरोना के संक्रमण को रोकने में काफी हद तक सफलता मिल सकती है।