Tuesday, July 16, 2019 11:44 PM

हेलिकाप्टर के इंतजार में एचआरटीसी कर्मी

 केलांग—जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति की सड़कों की बहाली का कार्य जहां युद्ध स्तर पर चला हुआ है, वहीं घाटी मंे एचआरटीसी की बस सेवा को भी हर क्षेत्र में बहाल करने की निगम प्रबंधन लगातार कोशिशें कर रहा है। ऐसे में एचआरटीसी के केलांग डिपो को भी  जल्द कुल्लू से लाहुल शिफ्ट किया जाना है। हालांकि निगम की दो टीमों को लाहुल व पांगी भेज दिया गया है, जिसमें पहली टीम ने जहां लाहुल के उदयपुर व दारचा में बस सेवा को बहाल कर लोगों को एचआरटीसी की सुविधा उपलब्ध करवा दी है, वहीं अब केलांग डिपो के 94 कर्मियों को भी हेलिकाप्टर के माध्यम से लाहुल पहुंचाने की कवायत तेज हो गई है। इस फेहरिस्त में एचआरटीसी के केलांग डिपो के आरएम मंगल चंद मनेपा का कहना है कि उन्होंने जीएडी के अधिकारियों व लाहुल-स्पीति प्रशासन का पत्र लिख यह मांग की है कि हेलिकाप्टर के माध्यम से जल्द से जल्द एचआरटीसी के केलांग डिपो के कर्मियों को लाहुल पहुंचाया जाए, ताकि घाटी में परिवहन व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाया जा सके। एचआरटीसी के केलांग डिपो के आरएम मंगल चंद मनेपा का कहना है कि लाहुल में एचआरटीसी की बस सेवा दो रूटों पर बहाल कर दी गई है। उन्होंने बताया कि बीआरओ व पीडब्ल्यूडी द्वारा घाटी की अन्य सड़कों को बहाल करने का कार्य जारी है। घाटी में बस सेवा बहाल होने के साथ-साथ निगम के कर्मियों को लाहुल पहुंचाना भी निगम के लिए सबसे बड़ी चुनौती है।  इस संबंध में उन्हांेने जीएडी को एक पत्र लिख यह मांग की है कि केलांग डिपो के करीब 94 कर्मचारियों को जल्द से जल्द हेलिकाप्टर के माध्यम से जनजातीय जिला में पहुंचाया जाए। इससे पहले निगम ने दो टीमों को कुल्लू से लाहुल हेलिकाप्टर के माध्यम से पहुंचाया है। ऐसे में अन्य कर्मचारियों को भी लाहुल पहुंचाया जाना है। रोहतांग दर्रे के बहाल होने के बाद जहां केलांग डिपो को लाहुल शिफ्ट किया जाता है, वहीं इस बार लोकसभा चुनावों के चलते जहां लाहुल में सड़कों की बहाली का कार्य युद्धस्तर पर चलाया गया है, वहीं एचआरटीसी भी उन सड़कों पर बस सेवा को बहाल कर रहा है, जहां से बर्फ हटा ली गई है। यही नहीं, लाहुल में पांच माह बाद जहां बस सेवा की सुविधा लोगों को अब मिलना शुरू हो गई है, वहीं निगम प्रबंधन का दावा है कि लाहुल-स्पीति में जल्द से जल्द लोगों को बस सेवा उपलब्ध करवाई जाए।

पांगी की सड़कों पर जल्द दौड़ेगी एचआरटीसी

भारी बर्फबारी के कारण जहां पांगी में एचआरटीसी की बस सेवा लंबे समय से प्रभावित चल रही है, वहीं अब पांगी में भी निगम की बस सेवा को बहाल करने के लिए कसरत तेज हो गई है। निगम की एक टीम पांगी हेलिकाप्टर के माध्यम से पहुंचा दी गई है। इस टीम ने जहां प्रशासन के साथ मिली पांगी की सड़कों का निरीक्षण गुरुवार को किया है, वहीं अधिकारियों का कहना है कि जल्द ही पांगी में भी एचआरटीसी दौड़ना शुरू कर देगी।

लाहुल में चुनौती से कम नहीं बस सेवा बहाल करना

तीन दशकों बाद लाहुल में भारी बर्फबारी सर्दियों में देखने को मिली है। यहां हालात ऐसे हैं कि घाटी में तीन गुना बर्फ पड़ने से जहां सड़क बहाली के कार्य में जुटे बीआरओ व पीडब्ल्यूडी को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है, वहीं एचआरटीसी के लिए भी घाटी की सड़कों पर बस सेवा बहाल करना किसी चुनौती से कम नहीं है। बर्फबारी के कारण जहां भू-स्खलन व ग्लेशियरों के गिरने का खतरा लगातार बना हुआ है, वहीं निगम का प्रयास है कि सड़कों का फिटनेस सर्टिफिकेट मिलते ही बस सेवा को तुरंत हाल कर दिया जाए।