Thursday, November 26, 2020 06:58 PM

100 का काजल और 100 का करवा

कोरोनाकाल में करवाचौथ पर महिलाओं के शांगार पर महंगाई भारी

कोरोनाकाल में करवाचौथ व्रत पर महंगाई की मार भारी है। बाजारों में सुहागिनों के श्रृंगार का हर सामान महंगा मिल रहा है।करवा, सूट, चूडि़यां, काजल सहित अन्य शृंगार की सामग्री महंगे दामों में बिक रही है। जवाली के बाजारों में करवा सौ रुपए से डेढ़ सौ रुपए में मिल रहा है, जबकि सूट 500 रुपए से लेकर पांच हजार रुपए तक बिक रहे हैं। चूड़ा सेट 100 रुपए से 500 रुपए में जबकि काजल की डिबिया सौ रुपए से 200 रुपए तक बिक रही है। सादी चूडि़यों के सेट का रेट भी 50 रुपए दर्जन से लेकर 150 रुपए दर्जन तक है। करवाचौथ के शृंगार की थाली 200 से 300 रुपए में मिल रही है। रिबन व परांदा के रेट भी काफी हाई-फाई हैं।

फैनियां 120 रुपए से लेकर 150 रुपए किलोग्राम में मिल रही हैं, जबकि सेब 100 रुपए से लेकर 150 रुपए किलोग्राम में बिक रहे हैं। केला का भाव 80 रुपए दर्जन पहुंच गया है। जलेबी 100 रुपए प्रति किलोग्राम बिक रही है, जबकि अन्य मिठाइयों के दाम भी 100 रुपए से कम नहीं है। बढ़ती महंगाई के आगे महिलाओं का करवाचौथ व्रत फीका पड़ रहा है। सब्जियों के दाम भी सातवें आसमान पर हैं। हर सामान के दाम आसमान छू रहे हैं। बाजारों में कपड़े की दुकानों, मिठाई की दुकानों में महिलाओं की भीड़ देखने को मिल रही है। महिलाओं का कथन है कि इस बार करवाचौथ पर पहली बार शृंगार  का सामान इतना महंगा खरीदना पड़ रहा है। महिलाओं ने बताया कि इससे पहले कभी भी व्रत पर इस तरह की महंगाई नहीं होती थी। कुल मिलाकर महिलाओं के व्रत पर महंगाई की भारी मार पड़ रही है।

The post 100 का काजल और 100 का करवा appeared first on Divya Himachal.