Monday, April 06, 2020 05:16 PM

11 साल के नाबालिग को सांस में दिक्कत, जांच को भेजे सैंपल

हमीरपुर - कोरोना जैसी भयानक संक्रमण के चलते स्वास्थ्य महकमा कोई भी कोताही नहीं बरतना चाहता। सांस लेने में दिक्कत से पीडि़त एक 11 वर्षीय नाबालिग के सैंपल जांच के लिए टांडा मेडिकल कॉलेज भेजे गए हैं। हालांकि यह भी बता दें कि नाबालिग के परिवार से किसी का इतिहास बाहरी राज्य से संबंधित नहीं है। बावजूद इसके एहतियात के तौर पर ब्लड के नमूने जांच के लिए भेजे गए हैं। कारण साफ है कि कोरोना वायरस एक भयानक संक्त्रमण है तथा आसानी से एक व्यक्ति से दूसरे को लग सकता है। ऐसे में स्वास्थ्य महकमा किसी तरह की कोई कोताही नहीं बरतना चाहता। बताया जा रहा है कि नाबालिक को सांस लेने में अधिक दिक्कत हो रही थी। खतरे को भांपते हुए इसका ब्लड सैंपल जांच के लिए भेज दिया गया है। जांच रिपोर्ट के बाद ही पता चलेगा कि कहीं नाबालिग करोना वायरस से पीडि़त तो नहीं। जाहिर है कि इससे पहले भी स्वास्थ्य महकमा हमीरपुर से एक व्यक्ति के खून के नमूने जांच के लिए पीजीआई भेज चुका है। हालांकि वहां से अभी तक कोई रिपोर्ट हमीरपुर स्वास्थ्य विभाग के पास नहीं पहुंची है। क्यास लगाए जा रहे हैं कि यह रिपोर्ट नेगेटिव ही होगी क्योंकि पॉजिटिव रिपोर्ट तुरंत पहुंच जाती है। इस बारे मैं जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ संजय जगोता का कहना है कि 11 वर्ष के एक नाबालिग के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। इसे सांस लेने में दिक्कत पेश आ रही थी। हालांकि इसके परिवार में से किसी का भी इतिहास बाहरी राज्य का नहीं है। एहतियात के तौर पर ब्लड सैंपल जांच के लिए भेजा है।