Monday, November 18, 2019 04:27 AM

15 जुलाई तक दें बढ़ा हुआ वेतन

शिमला—नगर निगम सैहब सोसायटी के सुपरवाइजरों ने अब इस्तीफे की चेतावनी दी है। सुपरवाइजरांे ने चेतावनी दी है कि सुपरवाइजर 14 जुलाई तक निगम प्रशासन को अपना डाटा सौंप देंगे। इसके पश्चात अगर निगम प्र्रशासन ने 15 जुलाई तक उनका वेतन नहीं दिया तो सैहब के सुपरवाइजरों सहित डोर-टू-डोर गारबेज कलेक्टर इस्तीफा दे देंगे। यह निर्णय सैहब सोसायटी की बैठक में लिया गया है। इसके अलावा बैठक में निर्णय लिया गया कि सैहब कर्मचारी बारिश के दिन घरोें से कूडा नहीं उठाएंगे। यूनियन का कहना है कि बरसात का मौसम आरंभ हो गया है, मगर अभी तक सैहब कर्मचारियों को रेनकोट, गमबूट, मास्क और दस्ताने नहीं दिये गए हैं। ऐसे में गारबेज कलेक्टर शहर में बारिश के दिन घरांे से कूडा नहीं उठाएंगे। यूनियन का आरोप है कि निगम प्रशासन बार बार सुपरवाइजरों पर एरियर व वार्ड कलेक्शन के लिए इलजाम लगा रहा है। मगर इसके लिए निगम प्रशासन जिम्मेदार है। साल 2018 मंंे निगम प्रशासन ने कूडे के दामों में बढोतरी की थी। इसके बाद शहर में कई यूजरों ने पैसा देना बंद कर दिया था। इसके बाद इन उपभोक्ताओं से पैसा लेने के लिए निगम प्रशासन ने सारे हथकंडे अपना लिए, मगर इसके बावजूद इन उपभोक्ताओं ने पैसा नहीं चुकाया है। वार्ड से जो भी पैसा आ रहा है। वह सुपरवाइजरों द्वारा लाया जा रहा है। यूनियन के अध्यक्ष जसवंत सिंंह ने कहा कि अगर 15 जुलाई तक सैहब सुपरवाइजरों को बढा हुआ वेतन नहीं दिया गया तो सभी कर्मचारी अपने पद से इस्तीफा दे देंगे।

सैहब कर्मचारियों ने उठाई ओवर टाइम की मांग

सैहब सोसाईटी कर्मचारी यूनियन ने नगर निगम प्रशासन से ओवर टाईम की मागं उठाई है। यूनियन के प्रधान जसंवत सिंह नेे कहा कि निगम हाउस में पारित निर्णय के तहत उन्हें ओवर टाईम दिया  जाए। अगर निगम ने समय रहते कर्मचारियों को ओवरटाईम नही दिया तो सभी कर्मचारी ओवर टाईम करना बंद कर देंगे।