Tuesday, November 30, 2021 08:09 AM

लाहुल की 16 पंचायतों को मिले नए प्रधान

प्रधान-उपप्रधान, पंचों के परिणाम घोषित, जीत के बाद नए जनप्रतिनिधियों के घर में जश्न का माहौल

दिव्य हिमाचल ब्यूरो — केलांग लाहुल घाटी की 16 पंचायतों को नए प्रधान मिल गए हैं। बुधवार को हुए सुबह सात से तीन बजे तक मतदान हुआ। घाटी में 65.72 प्रतिशत लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। मतदान के तुरंत बाद प्रधान, उपप्रधान और वार्ड पंचों के मतों की गिनती पंचायत मुख्यालय में शुरु हुई। चुनाव नतीजे आने भी शुरू हो गए। चुनाव में विजयी होने के बाद विजेता उम्मीदवारों के घरों में जश्न का माहौल रहा। उधर, स्पीति घाटी की 13 पंचवयतों में महज जिला परिषद उम्मीदवारों के लिए मतदान हुआ। यहां पर 66.33 फीसदी लोगों ने मतदान किया। जिला परिषद और पंचायत समिति के मतों की गणना चार अक्तूबर को होगी। लाहुल घाटी के अंतर्गत पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव का पहला चरण शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हो गया है। पहले चरण के तहत घाटी की 16 पंचायतों में मतदान हुआ। जिसमें 65.72 प्रतिशत लोगों ने मताधिकार का प्रयोग किया। मतदान के लिए 80 पोलिंग बूथ बनाए गए थे। गौरतलब है कि लाहुल घाटी में पंचायत राज संस्थाओं के चुनाव नहीं हो पाए थे। कोरोना के अधिक मामले होने का हवाला देते हुए घाटी में चुनाव रदद हुए थे।

अब दो चरणों में चुनाव करवाए जा रहे हैं। हालांंकि स्पीति घाटी की 13 पंचायतों में सिर्फ जिला परिषद के तीन वार्डों के लिए मतदान हुआ। पंचायत चुनाव में उम्मीदवारों के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिली। पिछले कई दिनों से उम्मीदवार घर-घर जाकर चुनाव प्रचार में जुटे हुए थे। सोशल मीडिया पर भी इसका प्रचार हुआ। जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त नीरज कुमार ने कहा कि जिला में पहले चरण के मतदान के लिए स्थापित 80 मतदान केंद्रों पर मतदान हुआ। लाहुल क्षेत्र में मतदान 65.72 फीसदी रहा। उपायुक्त ने कहा कि पंचायत प्रधान, उपप्रधान और वार्ड सदस्य के पदों के लिए मतों की गिनती चुनाव के बाद की गई जिला परिषद और पंचायत समिति के चुनाव के लिए मतों की गिनती चार अक्तूबर को होगी। मतपेटियों को सुरक्षा के साथ स्ट्रांग रूम में रखा जा रहा है। वहीं , नीरज कुमार, उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि जिला में मतदाताओं ने पूरे उत्साह के साथ मतदान में हिस्सा लिया। महिलाओं ने भी बड़ी संख्या में अपने मताधिकार का प्रयोग किया। पहली अक्तूबर को होने वाले दूसरे चरण के मतदान के लिए भी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। चार अक्तूबर को जिला परिषद और पंचायत समिति के लिए मतों की गिनती के प्रबंध भी पूरे कर लिए गए हैं।