Wednesday, July 08, 2020 01:48 PM

17 मजदूरों की घर वापसी

स्वारघाट-श्रीनयनादेवी विधानसभा क्षेत्र के विधायक रामलाल ठाकुर ने लॉकडाउन के दौरान उड़ीसा के भुवनेश्वर में फंसे हिमाचल के जिला बिलासपुर, सोलन व ऊना के 17 मजदूरों को अपने जेब खर्चे पर घर तक पहुंचाने में मदद की है। सोमवार सुबह करीब साढ़े तीन ये सभी मजदूर वाल्वो बस में प्रदेश के एंट्री प्वांइट गरामौड़ा पहुंचे। जहां पर उनकी एंट्री करने के बाद उन्हें मेडिकल स्क्रीनिंग के लिए आरटीओ बैरियर स्वारघाट भेजा गया। सभी मजदूर ग्रीन जोन से आए हैं और मेडिकल स्क्रीनिंग में सही पाए जाने के बाद  उन्हें 14 दिन के होम क्वारंटाइन में रहने के लिए कहा गया है। मजदूरों की घर वापसी में श्रीनयनादेवी विधानसभा के विधायक रामलाल ठाकुर का योगदान रहा है। विधायक ने पहले तो अपनी जेब से इन मजदूरों की घर वापसी के लिए भुवनेश्वर से दिल्ली तक एसी ट्रेन की टिकट बुक करवाई और फिर दिल्ली से स्वारघाट के लिए एक वाल्वो बस भी बुक करवाई थी, जिसके चलते आज सभी मजदूर स्वारघाट पहुंचे है। कुछ  मजदूर स्वारघाट के धरा, बैहल, कल्लरी व बडोह आदि गांवों से हैं और कुछ मजदूरों जिला सोलन के नालागढ़ उपमंडल से हैं, तो वहीं एक मजदूर जिला ऊना का है। यह मजदूर 23 मई को भुवनेश्वर से ट्रेन में चले थे और 24 मई देर शाम दिल्ली पहुंचे थे। इसके बाद यह मजदूर एक वाल्वो बस में दिल्ली से स्वारघाट के लिए चले और आज सुबह गरामौड़ा पहुंचे है। वहीं,  विधायक ने सभी 17 मजदूरों को 3500-3500 रुपए की एसी रेल की टिकट मुहैया करवाई और दिल्ली से स्वारघाट के लिए वॉल्वो बस भी बुक करवाई, जिसके चलते आज सभी मजदूर स्वारघाट पहुंच गए है। सभी मजदूरों ने विधायक रामलाल ठाकुर का मुसीबत की घड़ी में उनका आर्थिक सहयोग करने के लिए धन्यवाद व आभार प्रकट किया है।