Saturday, September 19, 2020 03:05 PM

24 घंटे बाद भी नहीं हुई किसी की गिरफ्तारी

कड़छम- वांगतू परियोजना में कार्यरत कर्मचारी ने की थी आत्महत्या, रिटारमेंट लेने का बनाया जा रहा था दबाव

रिकांगपिओ-जेएसडब्ल्यू कंपनी की कड़छम- वांगतू परियोजना में कार्यरत कर्मचारी जय प्रकाश विष्वकर्मा द्वारा फंदा लगा कर आत्महत्या करने की घटना के 24 घंटे बाद भी किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हो पाई है जबकि जय प्रकाश ने अपने सुसाइड नोट में कंपनी के एचआर विभाग के कुछ अधिकारियों द्वारा उसे प्रताडि़त करने व जबरन रिटायरमेंट लेने के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया है। इस घटना पर किन्नौर के विधायक जगत सिंह नेगी ने हैरानी जताई कि 306 का मुकदमा दर्ज होने के बाद भी पुलिस ने नामजद लोगों को गिरफ्तार नहीं की है। उन्होंने पुलिस प्रशासन की कार्रवाई पर संदेह जताया है।  पुलिस अधीक्षक किन्नौर एसआर राणा ने कहा कि जेएसडब्ल्यू कंपनी के कर्मचारी सुखी राम की शिकायत पर थाना भावानगर में डीजेएम विक्रम सिंह, एजीएम योगेश महतो के खिलाफ 306ए 24 के तहत अभियोग पंजीकृत किया गया है तथा मामले की जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि डीजेएम विक्रम सिंह व एजीएम योगेश महतो व सुरक्षा अधिकारी रवि पूनिया घटना स्थल पर पहुंचे तो सीटू यूनियन के पदाधिकारी व अन्य व्यक्तियों ने इन पर हमला कर दिया जिससे इन पर शरीरिक चोटें आई।

इस घटना में थाना भावानगर में मामला दर्ज किया है। राणा ने कहा कि आत्म हत्या किए जांच के लिए जब पुलिस टीम घटना स्थल पर पहुंची तो इंटक व सीटू कार्यकर्ता जीवन सिंह नेगी व सुखी राम के नेतृत्व में प्रदर्शन कर मृतक के परिजनों को उचित मुआवजा की मांग कर रहे थे। उन्होंने कहा कि  प्रदर्शनकारियों की मांगे कंपनी द्वारा नहीं माने जाने पर प्रदर्शनकारी राजमार्ग पर आ गए, इस बीच जब पुलिस द्वारा मृतक के शव  को पोस्टमार्टम करवाने के लिए उठाया जाने लगा तो प्रदर्शनकारियों ने पुलिस टीम पर पथराव किया जिससे पांच पुलिस कर्मचारियों व एक गृहरक्षक को चोटें आईं। इस मामले में इंटक व सीटू कार्यकर्ताओं के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि दोषियों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

The post 24 घंटे बाद भी नहीं हुई किसी की गिरफ्तारी appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.