Monday, August 26, 2019 10:15 AM

338 करोड़ रुपए से तर होंगे खेत

केलांग—प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत प्रदेश में 111 लघु सिंचाई योजनाओं का निर्माण किया जा रहा है, जिन पर 338 करोड़ रुपए की राशि व्यय की जा रही है। इन योजनाओं के पूरा होने से लगभग 17880 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध होगी। यह जानकारी गुरुवार को कृषि, जनजातीय विकास एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री डा. राम लाल मार्कंडेय ने लाहुल घाटी के अपने छह दिवसीय प्रवास के पहले दिन दी। उन्होेंने गुरुवार को घाटी की चंद्रा वैली में कोकसर, डिंफूक, तेलिंग, खड़चोद, तोचे, जगदंग, सिस्सू, शाशिन, गोंपाथंग, रोपसन, जुगलिंग, शूलिंग, रालिंग, मूर्तिचा, जागला, खंगसर, तिलिंग, खिनन, फुक्तल  में लोगों की समस्याओं को सुना। उन्होंने कहा है कि हिमाचल प्रदेश के 90 प्रतिशत किसानों को प्रतिवर्ष प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत छह हजार रुपए आय का प्रावधान किया है। उन्होंने  लोगों से प्राप्त हुई समस्याओं का शीघ्र निपटारा करने के लिए संबंधित विभागों के अधिकारियों को आदेश भी दिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में किसानों की आय को  वर्ष 2022 तक दोगुना करने के लिए प्रदेश सरकार काम कर रही है और इसके लिए कई योजनाऐं शुरू की गई हैं। उन्होंने कहा कि सिस्सू हेलिपैड के आस-पास के क्षेत्र को पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जाएगा। उन्होंने स्थानीय युवाओं से आह्वान किया कि मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के तहत स्वरोजगार शुरू करें तथा क्षेत्र को पर्यटन की दिशा में आगे ले जाएं। उन्होंने महिला मंडल भवन तोचे के लिए तीन लाख तथा महिला मंडल भवन शाशिन के छज्जे के निर्माण के लिए दो लाख 50 हजार देने की घोषणा भी की। डा. रामलाल मार्कंडेय ने लोगों की समस्याओं को सुनने के साथ-साथ क्षेत्र में चल रहे विकास कार्यों का निरीक्षण भी किया तथा विभागीय अधिकारियों को इन कार्यों को शीघ्र पूरा करने के आदेश दिए। इस दौरान उन्होंने लोगों की समस्याओं को भी सुना और अफसरों को उन्हें पूरा करने के आदेश दिए।