Tuesday, November 30, 2021 08:50 AM

नालागढ़ में 38 किसानों ने बेचा धान

1700 क्विंटल खरीदी जा चुकी है फसल; धीमी रफ्तार ने बढ़ाई टेंशन कार्यालय संवाददाता-नालागढ़ कृषि उपज मंडी नालागढ़ में बुधवार तक 38 किसान अपनी धान बेच पाए है। कुल 1700 क्विंटल धान एफसीआई ने खरीद ली है। हल्की सी रफ्तार पकडऩे से किसानों में अपनी धान बिकने की उम्मीद जगी है। वहीं, जिन किसानो की 16 अक्तूबर को धान बुक हुई थी, वह अभी भी नंबर आने की इंतजार कर रहे है। अनाज मंडी से धान गोदाम में शिफ्ट किया जा रहा है। जानकारी अनुसार नालागढ़ अनाज मंडी में पहली बार धान की खरीद शुरू हुई है। बीबीएन में चार हजार हेक्टेयर जमीन पर किसान धान लगाते है। भुड्ड के अवतार सिंह व जसबीर सिंह ने बताया कि उन्हें धान की ऑनलाइन बुकिंग कराई, जिसमें उन्हें 16 अक्तूबर का समय दिया था, लेकिन चार दिन ऊपर होने के बाद भी उनकी बारी नहीं आई है। नानोवाल टपरियां निवासी अब्दुल गुफार ने बताया कि उनकी भी बुकिंग 16 की थी जिसका 20 को उनकी अभी एक ट्राली की धान की तुल पाई है।

खेड़ा के जसवंत ने बताया कि उनकी भी अभी तक बारी नहीं आई है। किसानों ने बताया कि यहां पर पानी की सुविधा नहीं है। सबसे ज्यादा शौचालय की समस्या है। शौच करने जाना पड़े तो वह कहां जाए। बाजार के मध्य में आनाज मंडी होने से मजदूरों को यह भी काफी दिक्कत है। पानी की कोई सुविधा न होने से उन्होंने स्वयं पानी के टैंकर लगाया है। कृषि उपज मंडी के प्रभारी गंगा राम ने बताया कि अब पहले से ज्यादा जल्दी किसानों का धान खरीदा जा रहा है। अभी तक 38 किसानों का धान खरीदा जा चुका है। धान की खरीद को और तेज किया जा रहा है जिससे किसानों को यहां पर बुंिकंग आने पर रूकना न पड़े। उन्होंनें बताया कि उपमंडल प्रशासन द्वारा पानी और शौचालच की व्यवस्था कर दी गई हैै।