Tuesday, June 02, 2020 12:01 PM

6 नए केस; डरकर नहीं, डटकर

परौर में क्वारंटाइन थे सभी मरीज, बैजनाथ किए शिफ्ट, जिला में अब 32 केस एक्टिव

धर्मशाला      - उपायुक्त राकेश कुमार प्रजापति ने गुरुवार को परौर में संस्थागत क्वारंटीन सेंटर में कोविड केयर सेंटर में सुविधाओं का निरीक्षण किया। इस अवसर पर उनके साथ एसपी विमुक्त रंजन तथा एसडीएम पालमपुर, एसडीएम धर्मशाला तथा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी उपस्थित थे। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने परौर संस्थागत क्वारंटीन सेंटर में अपनी सेवाएं दे रहे वालंटियर्स के कार्यों की भी सराहना करते हुए कहा कि कोरोना महामारी की चुनौतियों के दौरान वालंटियर्स बेहतर कार्य कर रहे हैं। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि जिला कांगड़ा में कोविड-19 के संक्रमण से निपटने के लिए प्रशासन पूरी तरह से तैयार है। इस बाबत जिला में टेस्टिंग सुविधा के विस्तारीकरण से लेकर संस्थागत क्वारंटीन में भी दस हजार के करीब नागरिकों को ठहराने की व्यवस्था की गई है, जबकि इसके साथ ही हिमाचल पर्यटन निगम के होटलों में भी पेड क्वांरटीन की व्यवस्था की गई है। बाहर से आए नागरिक के पास अलग मकान, शौचालय इत्यादि की व्यवस्था हो तो उसे भी वहां पर प्रोटोकॉल की अनुपालना करते हुए स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में क्वारंटीन करने का प्रावधान भी किया गया है। बैजनाथ के साथ साथ डाढ, फतेहपुर में भी नए कोविड केयर सेंटर स्थापित किए जा चुके हैं।

होम क्वारंटाइन में निगरानी में 52 हजार

उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि 52 हजार लोगों की होम क्वारंटीन में निगरानी की सुनिश्चित की गई है। जबकि बाहरी राज्यों से आने वाले सभी नागरिकों के सेंपल भी एकत्रित किए जा रहे हैं तथा रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद ही होम क्वारंटीन के लिए भेजा जा रहा है। उपायुक्त ने कहा कि पिछले दो दिनों से बाहरी राज्यों से आए नागरिकों की रिपोर्ट ही पॉजिटिव आई है तथा यह सभी संस्थागत क्वारंटाइन में रखे गए थे तथा संस्थागत क्वारंटाइन सेंटर में ही उनके सैंपल लिए गए हैं। कोविड-19 पॉजिटिव नागरिकों को बैजनाथ के कोविड केयर सेंटर में रखा गया है।