Monday, September 16, 2019 07:44 PM

60 बोरी सरकारी सीमेंट पत्थर

चलवाड़ा-एक में रास्ते के निर्माण के लिए आई थी खेप, कार्यप्रणाली पर सवाल

जवाली -विधानसभा क्षेत्र जवाली के अंतर्गत पंचायत चलवाड़ा-एक में सरकारी सीमेंट की 60 बोरियों के पत्थर में तबदील होने का मामला प्रकाश में आया है।  पंचायत चलवाड़ा-एक में सार्वजनिक रास्ते के निर्माण हेतु 60 बोरी सरकारी सीमेंट मिला था जो कि पंचायत में पहुंच गया परंतु बीडीओ फतेहपुर द्वारा स्वीकृति पत्र नहीं दिया गया, जिस कारण 60 बोरी सरकारी सीमेंट पत्थर बन गया। सरकारी सीमेंट खराब होने के कारण सरकारी खजाने को चपत लगी है। बुद्धिजीवियों अनुसार अगर सीमेंट को प्रयोग में नहीं लाया जाना था तो फिर इसको पंचायत में किसलिए दिया गया। आखिरकार किसकी लापरवाही से सरकारी सीमेंट खराब हुआ है इसकी छानबीन करके लापरवाही बरतने वाले अधिकारी, कर्मचारी या पंचायत प्रतिनिधि के खिलाफ  कार्रवाई की जाए। बुद्धिजीवियों ने एसडीएम जवाली अरुण कुमार शर्मा से इसकी जांच करवाने की मांग उठाई है।  इस बारे में चलवाड़ा-एक की प्रधान सुलक्षणा कुमारी ने कहा कि पंचायत में सार्वजनिक रास्ते के लिए 60 बोरी सरकारी सीमेंट आया था। उन्होंने कहा कि रेवेन्यू विभाग को निशानदेही के लिए फरवरी माह में लिखित रूप से दिया था लेकिन जुलाई माह में रेवेन्यू विभाग ने निशानदेही की जिस कारण सीमेंट खराब हुआ है।  इस बारे में एसडीएम जवाली अरुण कुमार शर्मा ने कहा कि पंचायत चलवाड़ा-एक में 60 बोरी सरकारी सीमेंट खराब होने की सूचना मिली है, जिसकी जांच बीडीओ से करवाई जाएगी तथा दोषियों के खिलाफ  कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।