Friday, September 24, 2021 04:44 AM

हमीरपुर के विकास के लिए 60 करोड़

कल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा के दौरान उद्योग मंत्री बोले, पात्रों को मिलना चाहिए सरकारी योजनाओं का लाभ

दिव्य हिमाचल ब्यूरो- हमीरपुर जिला कल्याण समिति की बैठक शनिवार को हमीर भवन में उद्योग, परिवहन, श्रम एवं रोजगार मंत्री विक्रम सिंह की अध्यक्षता में हुई। बैठक में सर्वप्रथम विक्रम सिंह, उपस्थित विधायकों और अधिकारियों ने जम्मू-कश्मीर में शहीद हुए भोरंज क्षेत्र के जवान कमल वैद्य को श्रद्धांजलि अर्पित की तथा दो मिनट का मौन रखकर शहीद की आत्मा की शांति की प्रार्थना की। इसके बाद उन्होंने सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की विभिन्न योजनाओं की पहली तिमाही की समीक्षा की। उद्योग मंत्री ने कहा कि सरकार की योजनाएं सीधे गरीब और जरुरतमंद लोगों के साथ जुड़ी हुई हैं। उन्होंने अधिकारियों को निदेज़्श दिए कि इन योजनाओं के कार्यान्वयन में जरा भी देरी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अधिकारी प्रदेश सरकार द्वारा लोगों के कल्याणार्थ चलाई जा रही योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करें। विक्रम सिंह ने बताया कि हमीरपुर जिला को इन योजनाओं के तहत इस वित्त वर्ष में 60 करोड़ 24 लाख रुपये का बजट आवंटित किया गया है। इसमें से 12 करोड़ रुपए से अधिक बजट खचज़् भी किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि जिला में पहली तिमाही के दौरान सामाजिक सुरक्षा पेंशन के 1342 नए मामले स्वीकृत किए गए हैं। इसके साथ ही जिला में अब यह पेंशन पाने वाले लोगों की सं या 38,503 हो गई है। उद्योग मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने अब महिलाओं के लिए वृद्धावस्था पेंशन की उम्र घटाकर 65 वर्ष कर दी है। हमीरपुर जिला में इस आयु वगज़् की कई महिलाओं को पेंशन शुरू भी हो गई है।

विक्रम सिंह ने कहा कि स्वर्ण जयंती आश्रय योजना के तहत जिला में एससी, एसटी और ओबीसी वर्ग के 96 परिवारों को मकान निमाज़्ण के लिए डेढ़-डेढ़ लाख रुपये जारी करने हेतु बजट आवंटित किया गया है। बैठक के दौरान इस योजना के कई मामलों को मंजूरी प्रदान कर दी गई। अनुवर्ती कार्यक्रम के तहत कारीगरों और अन्य कामगारों को मशीनें एवं औजार प्रदान करने के लिए लगभग साढे नौ लाख रुपए का बजट रखा गया है। दिव्यांग छात्रवृत्ति, दिव्यांगजन विवाह अनुदान योजना, अंतरजातीय विवाह पुरस्कार और अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत राहत राशि के लिए भी पर्याप्त बजट का प्रावधान किया गया है। इस अवसर पर विधायक नरेंद्र ठाकुर और इंद्रदत्त लखनपाल ने भी सुझाव रखे। उपायुक्त देबश्वेता बनिक ने कहा कि जिला कल्याण समिति के अध्यक्ष द्वारा जारी दिशा-निदेर्शों की अक्षरश: अनुपालना सुनिश्चित की जाएगी । बैठक के दौरान जिला कल्याण अधिकारी डा. संजीव शर्मा ने विभिन्न योजनाओं का विस्तृत ब्यौरा प्रस्तुत किया।