Sunday, May 09, 2021 06:16 PM

बिलासपुर जिला में 75 कोरोना संक्रमित

कार्यालय संवाददाता-बिलासपुर सदर विकास खंड के अंतर्गत नवनिर्वाचित आठ पंचायत के पंचायत प्रतिनिधियों के लिए आयोजित छह दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का समापन हो गया। समापन मौके पर सदर विधायक सुभाष ठाकुर ने विशेष रूप से शिरकत की। वहीं, बीडीओ सदर भाग सिंह ठाकुर ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। इस दौरान विधायक सुभाष ठाकुर ने पंचायत प्रतिनिधियों से हर व्यक्ति की समस्याओं के समाधान का आह्वान किया। वहीं, उन्होंने कहा कि पंचायत प्रतिनिधि समान विकास करवाएं। सरकार की ओर से चलाई जा रही योजनाओं को आम जनता तक पहुंचाएं। उन्होंने कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकार द्वारा आम जनता के कल्याण के लिए कई बेहतर योजनाएं चलाई गई हैं। जिन्हें जनता तक पहुंचाने में पंचायत प्रतिनिधियों की अहम भूमिका रहती है।

इस दौरान उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों को प्रमाण पत्र भी वितरित किए। बता दें कि सदर विकास खंड के तहत नवनिर्वाचित पंचायत प्रतिनिधियों के लिए आयोजित प्रशिक्षण शिविर संपन्न हो गए हैं। नियमित प्रक्रिया के तहत इन पंचायत प्रतिनिधियों को प्रशिक्षण दिया गया है। इसमें सरकारी योजनाओं के अलावा न्यायिक प्रणाली के बारे में पंचायत प्रतिनिधियों को जानकारी दी गई। अंतिम सदर विकास खंड बिलासपुर के प्रशिक्षण भवन में आयोजित प्रशिक्षण शिविर में बरमाणा, जमथल, द्रोबड़, धौनकोठी, सोलग जुरासी के करीब 75 पंचायत प्रतिनिधियों ने भाग लिया। बीडीओ भाग सिंह ठाकुर ने बताया कि कुछ एक पंचायत प्रतिनिधि प्रशिक्षण शिविर में भाग नहीं ले पाए हैं। उन्होंने कहा कि जिन पंचायत प्रतिनिधियों को प्रशिक्षण दिया गया है अब वह पंचायत प्रतिनिधि अपनी-अपनी पंचायत में लोगों को सरकारी योजनाओं के बारे में अवगत करवाएंगे। इस दौरान पंचायत समिति अध्यक्षा सीता धीमान, बरमाणा पंचायत प्रधान पूजा धीमान, जमथल पंचायत प्रधान कल्पना देवी, द्रोबड़ पंचायत प्रधान निशा देवी, धौणकोठी पंचायत प्रधान रविंद्र कुमार, धारटटोह से सुंदरलाल, सोलग जुरासी से सोनू देवी सहित अन्य मौजूद थे।

बिलासपुर में एम्स के पास सवारियों की होशियारी से बची जान; अस्पताल में भर्ती, हालत में सुधार

कार्यालय संवाददाता- बिलासपुर हिमाचल पथ परिवहन निगम की चंबा डिपो की बस के परिचालक को बीच रास्ते में ही हार्ट अटैक पड़ गया। हालांकि अब परिचालक की तबीयत बेहतर बताई जा रही है। वहीं, क्षेत्रीय अस्पताल बिलासपुर में उपचाराधीन है। वहीं, दूसरी ओर हिमाचल पथ परिवहन निगम प्रबंधन ने अन्य किसी कंडक्टर की डयूटी इस रूट पर लगाई गई है। वहीं, बस में सवार यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया गया है। जानकारी के अनुसार चंबा डिपो की एचआरटीसी की बस चंबा-शिमला रूट पर जा रही थी। लेकिन सुबह के करीब सात बजे एचआरटीसी बस के परिचालक रजनीश कुमार (40) को बिलासपुर एम्स के पास पहुंचते ही हार्ट अटैक आ गया।

इसके चलते यहां पर मौजूद लोगों ने तुरंत ही एंबुलेंस को फोन कर दिया। वहीं, एंबुलेंस का इंतजार किए बिना बस को यथाशीघ्र चिकित्सालय पहुंचाया। जहां उपचार के बाद परिचालक को होश आया। अभी तक चिकित्सकों ने परिचालक को छुट्टी नहीं दी है। वहीं, परिजनों को भी बता दिया गया है। चालक ने यह भी बताया कि डॉक्टरों के अनुसार अब इसकी हालत खतरे से बाहर है, उपचार जारी है। उन्होंने बताया कि बस 37 सीटर थी। बस सवारियों से पूरी तरह से भरी हुई थी। उन्होंने बताया कि बस उपरोक्त को अन्य परिचालक की व्यवस्था करके परिवहन विभाग द्वारा सवारियों सहित अपने गंतव्य स्थान के लिए रवाना कर दिया गया। बस के चालक संजीव कुमार ने बताया कि बस के परिचालक रजनीश कुमार को निर्माणाधीन एम्स कोठीपुरा के समीप अटैक आ गया। उन्होंने बताया कि सवारियों को गंतव्य तक पहुंचाया गया है। उन्होंने कहा कि इस बारे में उच्च अधिकारियों को भी अवगत करवा दिया गया है।

क्या कहते हैं आरएम उधर, इस बारे में आरएम बिलासपुर किशोरी लाल ने बताया कि इस तरह की सूचना मिली थी। इसके चलते अन्य कंडक्टर की व्यवस्था की गई। सवारियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया गया है। डॉक्टरों के अनुसार अब परिचालक की हालत खतरे से बाहर है, उपचार जारी है। जल्द पूरी तरह स्वस्थ होंगेे।

जिला में महामारी के मरीजों का आंकड़ा 3648 के पार; अब तक 49 की मौत

कार्यालय संवाददाता- बिलासपुर जिला बिलासपुर के लोगों को एक बार फिर कोरोना महामारी डराने लगी है। बिलासपुर जिला में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढऩे लगी है। हालांकि कुछ दिन पहले कोरोना का कहर कम हो चुका था। लेकिन अब एक बार कोरोना ने डंक मारना शुरू कर दिया है। शनिवार को जिला मे 75 मामले सामने आए हैं। जिसके चलते जिला में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 3648 पहुंच गया हैं। जिला में एक बार फिर कोरोना वायरस का कहर शुरू हो गया है।

एक ओर जहां सरकार ने शिक्षण संस्थान बंद रखने का निर्णय लिया है। वहीं, अब कोरोना महामारी के लिए बनाए गए नियमों का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। यहां तक जिला प्रशासन की ओर से अब तो नो मास्क नो सर्विस नियम भी लागू कर दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार जिला के तहत झंडूता, बरमाणा, घुमारवीं सहित अन्य क्षेत्रों में कोरोना संक्रमित मरीज पाए गए हैं। बता दें कि जिला में कोरोना के चलते कई लोग अपनी जान भी गंवा चुके हैं। अब तक जिला से संबधित 49 लोगों की मौत हो चुकी है। जिससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि लगातार कोरोना महामारी बढ़ती जा रही है। बहरहाल, अभी लोगों को कोरोना वायरस से राहत मिलती नजर नहीं आ रही है। जिसके चलते सभी लोग सतर्क और जागरूक रहें।

क्या कहते हैं मुख्य चिकित्सा अधिकारी इस बारे में सीएमओ बिलासपुर डा. प्रकाश दरोच ने बताया कि जिला में कोरोना संक्रमित मरीजों को आंकड़ा 3648 पहुंच गया है। उन्होंने कहा कि 75 नए मामले कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। उन्होंने जानकारी दी कि उक्त सभी लोगों के टेस्ट करवाए गए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के लक्षण दिखने पर लोग टेस्ट करवाएं। वहीं, स्वास्थ्य विभाग द्वारा बनाए गए नियमों का पालन सभी लोग करें।