एनआईटी व सीएफटीआईज में अब आसानी से मिलेगी एडमिशन, न्यूनतम 75 फीसदी अंक की अनिवार्यता खत्म

इस साल देश के विभिन्न नेशनल इंस्टीच्यूट्स ऑफ टेक्नोलॉजी व अन्य केंद्रीय सहायता प्राप्त तकनीकी संस्थानों में एडमिशन पाना आसान होगा। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने इन इंजीनियरिंग संस्थानों में यूजी एडमिशन में बड़ी राहत देने की घोषणा की है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डा. रमेश पोखरियाल निशंक ने ट्वीट कर इस संबंध में जानकारी दी है। इस बारे में लगातार तीन ट्वीट्स करके निशंक ने कहा है कि कोरोना वायरस संक्त्रमण के मौजूदा हालात को देखते हुए सेंट्रल सीट एलोकेशन बोर्ड ने एनआईटी व देश के अन्य सभी केंद्रीय सहायता प्राप्त तकनीकी संस्थानों में एडमिशन क्राइटीरिया में राहत दी है। उन्होंने ट्वीट में बताया है कि इस साल जेईई मेन में सफल होने वाले उम्मीदवारों को इन संस्थानों में एडमिशन पाने के लिए कक्षा 12वीं में सिर्फ उत्तीर्ण होना होगा। जेईई मेन रैंक के अलावा सिर्फ 12वीं का पास सर्टिफिकेट जरूरी होगा।

न्यूनतम 75 फीसदी अंक या टॉप 20 परसेंटाइल की अनिवार्यता खत्म कर दी गई है। गौरतलब है कि पहले एनआईटी व सीएफटीआईज में एडमिशन के लिए जेईई मेन में सफल होने और अच्छी रैंक होने के बावजूद स्टूडेंट्स को कक्षा 12वीं में कम से कम 75 फीसदी अंक लाना जरूरी होता था। लेकिन इस साल अब यह जरूरी नहीं होगा। कोरोना वारयस के बढ़ते संक्रमण के कारण इस साल अप्रैल में होने वाली जेईई मेन परीक्षा दो बार स्थगित की जा चुकी है। वर्तमान में निर्धारित शेड्यूल के अनुसार यह परीक्षा पहली से छह सितंबर, 2020 के बीच होनी है।

The post एनआईटी व सीएफटीआईज में अब आसानी से मिलेगी एडमिशन, न्यूनतम 75 फीसदी अंक की अनिवार्यता खत्म appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.

Related Stories: