Tuesday, August 11, 2020 06:32 AM

अब ई-पास की बजाय पंजीकरण करवाकर मिलेगा कांगड़ा में प्रवेश

धर्मशाला – अनलॉक- टू में बाहरी राज्यों में रह रहे कांगड़ा निवासी अब ई-पास की बजाय ई-कोविड की वेबसाइट पर पंजीकरण करवाकर वापस अपने घर आ सकते हैं। वहीं, देश के 13 रेड जोन क्षेत्रों से आने वाले कांगड़ा निवासियों को संस्थागत क्वारंटाइन करने का प्रावधान किया गया है। इसमें बच्चों तथा वरिष्ठ नागरिकों को होम क्वारंटाइन किया जाएगा, जबकि अन्य क्षेत्रों से आने वाले कांगड़ा निवासियों को भी 14 दिन तक होम क्वारंटाइन में रहना होगा। इसके अलावा पर्यटक राज्य हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में रजिस्ट्रेशन करवाकर पर्यटक प्रवेश कर सकेंगे, लेकिन उन्हें 72 घंटे के भीतर मिली कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट प्रवेश करते समय दिखानी होगी। इसके साथ ही आगामी पांच दिनों तक मात्र एक ही डेस्टीनेशन में बुकिंग भी करवानी होगी। इसके आधार पर ही पर्यटकों को जिला कांगड़ा में प्रवेश प्रदान किया जाएगा। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने धर्मशाला में शनिवार को कहा कि ई-कोविड पर पंजीकरण की स्लिप भी मोबाइल नंबर पर आएगी, जिसको बैरियर या नाके पर दिखाकर कांगड़ा निवासी प्रवेश कर सकते हैं। इसकी सूचना संबंधित एसडीएम को भी भेजी जाएगी, ताकि बाहर से आने वाले कांगड़ा के नागरिकों की सुचारू मॉनिटरिंग सुनिश्चित की जा सके। रेलवे तथा हवाई सेवाओं के माध्यम से आने वाले नागरिकों के लिए भी होम क्वारंटाइन तथा संस्थागत क्वारंटाइन की शर्तें लागू रहेंगी। उन्होंने कहा कि व्यवसायिक कारणों से आवाजाही करने वालों, बाहरी राज्यों से मजदूरी इत्यादि के लिए आने वालों को भी अनुमति प्रदान की गई है।  बाहरी राज्यों में 48 घंटे का राउंड ट्रिप पूरा करने पर भी क्वारंटाइन नहीं किया जाएगा। डीसी कांगड़ा राकेश प्रजापति ने कहा कि अनलॉक-2 में सुबह पांच से लेकर रात्रि नौ बजे तक ढील रहेगी। उन्होंने कहा कि ट्रैकिंग गतिविधियों को आरंभ करने के लिए भी छूट प्रदान कर दी गई है, जबकि पैराग्लाइडिंग व स्पोर्ट्स गतिविधियां इत्यादि को लेकर अभी फिलहाल बंद ही रखा जाएगा। मंदिरों को खोलने को लेकर भी अभी तक कोई फैसला देवभूमि हिमाचल प्रदेश में नहीं लिया गया है।

होम क्वारंटाइन का करें पालन

उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि अनलॉक-दो में नागरिकों को आवाजाही सहित बाजारों इत्यादि खुलने में छूट प्रदान की गई है। ऐसी स्थिति में अब नागरिकों को जिम्मेदारी के साथ सामाजिक दूरी तथा होम क्वारंटाइन के नियमों की अनुपालना सुनिश्चित करनी होगी। उन्होंने कहा कि होम क्वारंटाइन नागरिकों को भी परिवार तथा समाज की सुरक्षा के लिए अपना दायित्व निभाना होगा।

ट्रेनिंग सेंटर-अकादमी खोलने के लिए सरकार को भेजा प्रोपोजल

उपायुक्त कांगड़ा राकेश प्रजापति ने बताया कि प्रवेश परीक्षाओं की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। ऐसे में छोटे कोचिंग सेंटर और ट्रेनिंग सेंटर खोलने के लिए उनके पास लोगों के पत्र आ रहे हैं। ऐसे में इस विषय को लेकर सरकार को पत्र भेजा गया है।

The post अब ई-पास की बजाय पंजीकरण करवाकर मिलेगा कांगड़ा में प्रवेश appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.