Saturday, September 26, 2020 08:32 PM

अब जनजातीय क्षेत्रों में भी होंगे कोविड टेस्ट

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने ट्राइबल एरिया में हिमाचल के लिए मंजूर कीं पांच ट्रूनैट मशीन

शिमला – राज्य के जनजातीय क्षेत्रों में कोविड टेस्ट की सुविधा शुरू हो जाएगी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने ट्राइबल एरिया में कोरोना टेस्ट की सहूलियत के लिए हिमाचल को पांच ट्रूनैट मशीनें स्वीकृत की हैं। केंद्र से मिली इस राहत के बाद अब चंबा जिला के भरमौर और पांगी में कोविड टेस्ट शुरू हो जाएंगे।

इसके अलावा केलांग और काजा में यह सुविधा मिलेगी। पांचवीं ट्रूनैट मशीन राजधानी शिमला स्थित कमला नेहरू अस्पताल में स्थापित होगी। खास  है कि इस ट्रूनैट मशीन में प्रतिदिन 20 कोविड टेस्ट की क्षमता है। इसके लिए राज्य सरकार ने अलग से कार्टरेज देने का ऐलान किया है। राज्य में इस समय आठ बड़ी कोविड टेस्ट की आईटी-पीवीआर लैब स्थापित हैं। हिमाचल में पहले से 19 ट्रूनैट मशीनें संचालित हो रही है और अब पांच नई आ जाने से इनकी संख्या 24 हो गई है। लिहाजा हिमाचल प्रदेश के सभी छोटे-बड़े 36 स्वास्थ्य संस्थानों में कोविड टेस्ट की जांच होगी।

आईटी-पीवीआर लैब मेडिकल कालेज तथा दो बड़े क्षेत्रीय अस्पतालों में स्थापित की गई हैं। चार सीवी नेट लैब की सुविधा भी जोनल अस्पतालों में दी गई है। इसके अलावा ट्रूनैट मशीन के माध्यम से छोटे अस्पतालों में गंभीर मरीजों के उपचार से पहले कोविड टेस्ट हो रहे हैं।

यह आ रही थी दिक्कत

जनजातीय क्षेत्र भरमौर-होली के कोविड टेस्ट चंबा स्थित लैब में भेजे जा रहे थे। सबसे बड़ी दिक्कत पांगी घाटी के लिए पेश आ रही थी। इस एरिया के सैंपल चंबा या नेरचौक भेजना किसी चुनौती से कम नहीं था। इसी तरह काजा के सैंपल शिमला भेजना सबसे बड़ी परेशानी का सबब था।

मंत्रालय से उठाया गया था मसला

प्रदेश सरकार ने ट्राइबल क्षेत्र में कोविड टेस्ट के लिए पेश आ रही दिक्कत का मामला स्वास्थ्य मंत्रालय से उठाया था। इसके बाद पांच ट्रू-नेट मशीनें दी गई हैं। ट्राइबल के बहाने राज्य सरकार की केएनएच की दिक्कत भी दूर हो गई है।

The post अब जनजातीय क्षेत्रों में भी होंगे कोविड टेस्ट appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.