Friday, October 30, 2020 03:39 PM

अब ऑनलाइन होंगे स्कूलों के क्लासरूम, बिना शिक्षक एक जगह से पढ़ना होगा आसान

प्रदेश के सरकारी स्कूलों में अब ऑनलाइन क्लासरूम होंगे। कोरोनाकाल में रुके इस कार्य को एक बार फिर से शुरू करने के निर्देश शिक्षा विभाग ने जारी कर दिए हैं। पहले चरण में शिक्षा विभाग 17 स्कूल, कालेज के क्लासरूम को वर्चुअल बनाएगा। इससे पहले पिछले वर्ष यह कार्य पूरा किया जाना था, लेकिन कोविड की वजह से रुक चुका था। शिक्षा विभाग ने स्कूल खुलने के बाद वर्चुअल क्लासेज के कार्य में तेजी लाने पर फोकस किया है। दरअसल अब कोरोनाकाल में ऑनलाइन स्टडी के विस्तार पर ज्यादा काम किया जा रहा है। यही वजह है कि  अगर छात्र स्कूल आते भी नहीं हैं, तो वर्चुअल क्लास रूम से ही छात्रों को ऑनलाइन पढ़ाने में शिक्षकों को आसान हो जाएगा।

बता दें कि पहले चरण में केवल 17 स्कूल में वर्चुअल क्लासेज के कार्य को पूरा किया जाएगा। इसके बाद धीरे – धीरे शिक्षा विभाग सभी स्कूलों में वर्चुअल क्लासरूम तैयार करेगा। सरकारी शिक्षा को ऑनलाइन करने की पूरी तैयारी शिक्षा विभाग ने कर ली है। मंडी कालेज और शिमला पोर्टमोर स्कूल के बाद अब जिला के सभी स्कूल व कालेजों में वर्चुअल क्लासेस शिक्षा विभाग शुरू करने जा रहा है। जानकारी मिली है कि विभाग ने मौजूदा समय में चंबा के चार, शिमला के दो, सिरमौर के दो सरकारी स्कूल में वर्चुअल यानी कि ऑनलाइन क्लासरूम बनाने का काम शुरू करने के निर्देश एक बार फिर से विभाग ने संबंधित अधिकारियों को दे दिए हैं। इसके अलावा मंडी कालेज के बाद शिमला, कांगड़ा, सोलन, सिरमौर, चंबा के एक-एक कालेज में वर्चुअल क्लासरूम तैयार होंगे। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर मंडी कालेज में भी वर्चुअल क्लासेज का उद्घाटन कर इसकी शुरुआत कर चुके हैं।

ऐसे में यह दूसरा मौका होगा, जब वर्चुअल क्लासेज को अमलीजामा पहनाने के लिए शिक्षा विभाग त्वरित रूप से कार्य करेगा। बता दें कि वर्चुअल क्लासेज के लिए प्रदेश सरकार ने शिक्षा विभाग को करोड़ों का बजट जारी किया है। यही वजह है कि शिक्षकों की कमी को दूर करने के लिए शिक्षा विभाग ने वर्चुअल क्लासेज यानी ऑनलाइन पढ़ाई पर फोकस किया है। विभाग ने जिन जिलों को वर्चुअल क्लासेज के लिए चुना है, वहां अब बिना शिक्षकों के  ऑनलाइन पढ़ाई पर फोकस किया जाएगा। विभाग हर जिले के एक कालेज को वर्चुअल क्लासेज के लिए क्लस्टर बनाएगा। क्लस्टर कालेज से नजदीकी चार से पांच कालेजों को नई टेक्नोलॉजी के साथ जोड़ा जाएगा, जिससे कि एक ही शिक्षक से दूसरे कालेज के छात्रों का पढ़ना आसान हो जाएगा। बता दें कि वर्चुअल क्लासेज के लिए विभाग ने ऐसे जिलों का चयन किया है, जहां पर शिक्षकों की कमी चल रही है।

The post अब ऑनलाइन होंगे स्कूलों के क्लासरूम, बिना शिक्षक एक जगह से पढ़ना होगा आसान appeared first on Divya Himachal.