Monday, October 26, 2020 09:08 AM

अटल टनल के खुलते ही लाहुल में मनेगा जश्न

तीन अक्तूबर को देश को समर्पित की जाने वाली अटल टनल के उद्घाटन की तैयारियां जहां जोरों पर चल रही है, वहीं लाहुल-स्पीति कांग्रेस ने इस ऐतिहासिक दिन को यादगार बनाने की योजना बनाई है। तीन अक्तूबर को लाहुल-स्पीति कांग्रेस कार्यकर्ता सिस्सू में फागली व हालड़ा उत्सव की तरह टनल के उद्घाटन का जश्न मनाएंगे। इस दौरान लाहुल-स्पीति कांग्रेस के सभी कार्यकर्ता लाहुली परिधानों में दिखाई देंगे, वहीं मिठाइयों के साथ-साथ लाहुल के पारंपारिक व्यंजनों को भी लोगों को परोसा जाएगा। यही नहीं कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा घाटी के गांवों में भी मिठाइयां बांटने की योजना बनाई गई है।

 ऐसे में अटल टनल रोहतांग के उद्घाटन का दिन जहां लाहुल-स्पीति के लोगों के लिए काफी खास रहने वाला है, वहीं लाहुल-स्पीति भी इसे सिस्सू में फागली व हालड़ा के रूप में मनाने जा रही है। यहां बता दें कि जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति में फागली व हालड़ा दो ऐसे उत्सव मनाए जाते हैं, जिसके माध्यम से लोग आपस में खुशियां मनाते हैं, वहीं इन त्यौहारों का धार्मिक महत्त्व भी है। लाहुल-स्पीति में उक्त दोनों उत्सव खुशियों का प्रतिक हैं और इन्हें मनाने की परंपरा सदियों से चली आ रही है। ऐसे में इन उत्सवों की तर्ज पर ही लाहुल-स्पीति कांग्रेस अटल टनल के उद्घाटन के दिन सिस्सू में एक कार्यक्रम आयोजित करने जा रही है, जिसके माध्यम से लोग इस दिन को ऐतिहासिक बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। हलांकि कांगे्रस कार्यकर्ताओं का कहना है कि इस दौरान कोविड के नियमों का भी पूरा ध्यान रखा जाएगा साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन किया जाएगा। लाहुल-स्पीति कांग्रेस के जिला अध्यक्ष ज्ञालछन ठाकुर ने बताया कि तीन अक्तूबर को टनल के उद्घाटन के दिन लाहुल-स्पीति कांग्रेस फागली और हालड़ा उत्सव की तरह मनाएगी। इस दिन को लेकर लाहुल-स्पीति कांग्रेस में भी उत्साह का माहौल है।

 उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गांधी लाहुल-स्पीति के पूर्व विधायक स्वर्गीय लता ठाकुर और पूर्व में कैबिनेट मंत्री रहे स्वर्गीय देवीसिंह ठाकुर को टनल के लिए बहुमूल्य योगदान के लिए याद किया जाएगा। उन्होंने ने कहा है कि अटल टनल के उद्घाटन के दिन सिस्सू के समीप पलमधारा होटल में कांग्रेस कार्यकर्ता कांग्रेस के उन महान व्यक्तियों को याद करेंगे, जिन्होंने अटल टनल रोहतांग के कार्य को शुरू करने में अपना बहुमूल्य योगदान दिया है, वहीं उन सभी कार्यकर्ताओं को भी सम्मानित किया जाएगा जो अटल टनल रोहतांग की मंजूरी के लिए प्रतिनिधिमंडल में शामिल होकर तत्कालीन प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह  से मिले थे और मात्र 14-15 दिनों में बजट का प्रावधान किया गया था। उन्होंने कहा कि तीन अक्तूबर के ऐतिहासिक दिन पर सभी मिलकर फागली और हालड़ा उत्सव की तरह इसे मनाए। उन्होंने सभी कार्यकर्ताओं से स्थानीय परिधान और टोपी के साथ झोलणु लगाकर टनल के उत्सव में शामिल होने का आग्रह किया है।

The post अटल टनल के खुलते ही लाहुल में मनेगा जश्न appeared first on Divya Himachal.