Monday, October 26, 2020 09:18 AM

बांस के फायदे

18 सितंबर को हर साल विश्व बांस दिवस मनाया जाता है। भारत विश्व में सबसे ज़्यादा बांस उगाने वाला देश है। हिमाचल प्रदेश में कुल वन की तीन फीसदी भूमि में बांस के पौधे हैं। बांस को स्थानीय भाषा में बैंज या नाल बोला जाता है। इसका उपयोग 1500 अलग-अलग तरीकों से किया जाता है।

बांस की टोकरी, किल्टा, सीढ़ी, शट्टेरिंग, छत, फर्नीचर इत्यादि के बारे में तो सब जानते हैं, परंतु इसकी ताजा कोंपलें जिन्हें स्थानीय लोग मानू के नाम से जानते हैं, खाने के लिए उपयोग की जाती हैं, जिसकी जानकारी कम ही लोगों को है। लोग न केवल इसका अचार बनाते हैं, बल्कि इसे साधारण सब्जी की तरह उबाल कर या सुखा कर भी खाया जा सकता है। इसके अलावा मानू को विभिन्न तरह के पकवानों में मिलाया जा सकता है जैसे कि बिस्कुट, पापड़, बड़ी, कैंडी, सूप व सलाद। इसमें प्रोटीन, अमीनो एसिड, खनिज और विटामिन आदि होते हैं।

The post बांस के फायदे appeared first on Divya Himachal.