Friday, November 27, 2020 05:08 PM

बलोठ पर तीन करोड़ रुपए खर्च करके पंचायत को बनाया मॉडर्न

पंचायत नाम… बलोठ

ब्लॉक… मैहला

प्रधान… रत्न चंद

आबादी… 3000

कुल वार्ड… सात

 मैहला-मैहला विकास खंड की बलोठ पंचायत में बीते पांच वर्षों के दौरान सरकारी मदद से 14 लोगों को छत मुहैया करवाई गई है। इसके अलावा प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 135 घर अलग से स्वीकृत करवाए गए हैं। 250 पात्र लोगों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन का लाभ दिलवाया गया है। मनरेगा के तहत ग्रामीण विकास पर तीन करोड़ रुपए की राशि खर्च की गई है। 14वें वित्तायोग के तहत भी बीस लाख रुपए की राशि अलग से खर्च हुई है। भूमि सुधार के कार्यों के जरिए भी ग्रामीणों का लाभांवित किया गया है। बलोठ पंचायत को खुले से शौच मुक्त बनाकर स्वच्छ बनाने की मुहिम के तहत सरकारी मदद से तीन सौ शौचालयों का निर्माण करवाया गया है। दस लाख रुपए की लागत से पंचायत घर कम सामुदायिक भवन के निर्माण करवाया गया है। बलोठ पंचायत में स्वच्छता पर विशेष तौर से फोकस करने के अलावा पात्र लोगों को आवास दिलवाने को तवज्जो दी गई है।

इसके परिणामस्वरूप बलोठ पंचायत में जहां स्वच्छता का अलख जगा है। वहीं, सरकारी मदद से लोगों को छत पाने का सपना भी साकार हुआ है। भूमि सुधार के कार्यों का भी बेहतर तरीके से निष्पादन कर पात्रों को लाभ प्रदान किया गया है। पंचायत के हरेक वार्डों के पैदल रास्तों को पक्का कर ग्रामीणों की आवाजाही को सुरक्षित बनाया गया है। मनरेगा के तहत पंचायत के 596 जाब कार्ड होल्डर को सौ दिन का रोजगार सुनिश्चित किया गया है। इन बेहतर प्रयासों के चलते ही बलोठ मैहला विकास खंड में माडल पंचायत के तौर पर उभर कर सामने आई है। उधर, बलोठ पंचायत के प्रधान रत्न चंद का कहना है कि ग्रामीण विकास की योजनाओं को धरातल पर उतारा गया है। उन्होंने बताया कि पांच वर्षों तक जनसेवा की भाव से कार्य किया है। उन्होंने बताया कि केंद्र व प्रदेश सरकार की ग्रामीण विकास की योजनाओं का जनसहभागिता से बेहतर क्रियान्वयन करके पंचायत की तस्वीर बदलने मे कोई कसर नहीं छोड़ी गई है।

पांच साल की उपलब्धियां

-596 जाब कार्ड होल्डर रोजगार दिलवाया

-वार्डों के रास्ते पक्के करवाए

-भूमि सुधार के कार्यों में पात्रों को लाभ पहुंचाया

-135 घरों को स्वीकृति के लिए भेजा गया है

-14वें वित्तायोग के तहत बीस लाख रुपए खर्च

-250 पात्र लोगों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन

-तीन सौ शौचालयों का निर्माण करवाया

– दस लाख रुपए से सामुदायिक भवन के निर्माण करवाया

596 जाब होल्डरों को 100 दिन का रोजगार उपलब्ध करवाया

वहीं, सरकार की मदद से लोगों को छत पाने का सपना भी साकार हुआ है। भूमि सुधार के कार्यों का भी बेहतर तरीके से निष्पादन कर पात्रों को लाभ प्रदान किया गया है। पंचायत के हरेक वार्डों के पैदल रास्तों को पक्का कर ग्रामीणों की आवाजाही को सुरक्षित बनाया गया है। मनरेगा के तहत पंचायत के 596 जाब कार्ड होल्डर को सौ दिन का रोजगार सुनिश्चित किया गया है। इन बेहतर प्रयासों के चलते ही बलोठ मैहला विकास खंड में माडल पंचायत के तौर पर उभर कर सामने आई है।

प्रधान रत्न चंद बोले, पंचायत में काम की कोई कसर नहीं छोड़ी

उधर, बलोठ पंचायत के प्रधान रत्न चंद का कहना है कि ग्रामीण विकास की योजनाओं को धरातल पर उतारा गया है। उन्होंने बताया कि पांच वर्षों तक जनसेवा की भाव से कार्य किया है। उन्होंने बताया कि केंद्र व प्रदेश सरकार की ग्रामीण विकास की योजनाओं का जनसहभागिता से बेहतर क्रियान्वयन करके पंचायत की तस्वीर बदलने मे कोई कसर नहीं छोड़ी गई है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 135 घरों को स्वीकृति के लिए भेजा गया है।

The post बलोठ पर तीन करोड़ रुपए खर्च करके पंचायत को बनाया मॉडर्न appeared first on Divya Himachal.