Thursday, October 01, 2020 06:41 AM

बंजर भूमि पर उगाई नींबू का बगिया

अमलेहड़ के किसान ने पेश की मिसाल, बेकार पड़ी को बनाया कृषि योग्य

दौलतपुर चौक-क्षेत्र के अमलेहड़ गांव के प्रगतिशील किसान राजीव जसवाल ने बंजर पड़ी भूमि पर नींबू का बाग लगाकर कमाल कर दिया है। जिससे यह  कार्य खेती करना छोड़ चुके अन्य किसानों के लिए प्रेरणा का स्रोत बन गया है। गौर रहे कि खेतों में फसल को जंगली जानवरों से हो रहे नुकसान से किसान राजीव जसवाल खासे परेशान थे।

राजीव जसवाल का कहना है कि उन्हें शुरू में पौधों को पानी देने में बड़ी मुश्किल आई, क्योंकि जो कूहल बरसों से खेतों के लिए पानी लाती थी, वे पिछले कुछ सालों से बंद है। इस कूहल का निर्माण 16 अक्तूबर, 2005 को पूर्व विधायक कुलदीप कुमार द्वारा करवाया गया था जो कई सालों से बंद पड़ी है।, उन्हें नींबू के पौधों को पानी देने के लिए पानी के टैंक भी मंगवाने पड़े, मगर अब नींबू के पौधे तैयार हो गए है। अगले साल तक फल देना भी शुरू कर देंगे, फिर उनको आमदन भी शुरु हो जाएगी। राजीव जसवाल ने अन्य किसानों से भी आग्रह किया है जमीन को बंजर न होने दें। अपितु उस नींबू जैसे फलदार पौधे उगाएं, जिन्हें जंगली जानवर नुक्सान न

पहुंचा पाए और उनकी आमदनी बढ़ सके।

26 कनाल जमीन पर लगाए 500 पौधे

किसान राजीव जसवाल कहते हैं कि जमीन ज्यादा होने के कारण फसल की बिजाई पर भी काफी खर्चा हो जाता था। फसल तैयार होने से पहले ही बंदर और बेसहारा पशु फसल चट कर जाते थे। इसी कारण बहुत से जमींदारों ने खेती करनी भी बंद कर दी है और कृषि योग्य भूमि बंजर हो रही है, मगर राजीव जसवाल ने हॉर्टिकल्चर विभाग से बात करके अपनी 25 कनाल जमीन पर नींबू के 500 पौधे लगाकर जमीन को बंजर होने से बचाया।

The post बंजर भूमि पर उगाई नींबू का बगिया appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.