Monday, October 18, 2021 04:12 PM

खली पेट तुलसी खाने के फायदे

आयुर्वेद में कई ऐसी जड़ी-बूटियां हैं, जो स्वास्थ्य समस्याओं को दूर रखने में उपयोगी हैं। लेकिन सबसे महत्त्वपूर्ण जड़ी-बूटी का नाम है तुलसी। तुलसी न केवल बुखार को दूर करने में उपयोगी है, बल्कि अगर तुलसी को शहद के साथ खाया जाए, तो यह शरीर से खराब बैक्टीरिया को दूर करने के साथ-साथ कई समस्याओं से लड़ने में भी मददगार है। तुलसी के अंदर भरपूर मात्रा में आयरन, फाइबर, विटामिन ए, विटामिन डी, एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं। लेकिन सवाल यह है कि अगर तुलसी का सेवन खाली पेट किया जाए, तो यह किस प्रकार से सेहत को फायदा पहुंचा सकती है? आइए जानते हैं तुलसी के सेवन से सेहत को क्या-क्या फायदे होते हैं।

ब्लड शुगर के स्तर को करे नियंत्रित

अगर सुबह उठकर तुलसी के पत्तों का सेवन खाली पेट किया जाए, तो यह ब्लड में शुगर के स्तर को नियंत्रित करने के साथ-साथ बड़े हुए शुगर स्तर को कम करने में भी उपयोगी है। इसके अलावा तुलसी शरीर में ऊर्जा बनाए रखती है और मैटाबॉलिज्म को भी बेहतर बना सकती है।

प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाए

तुलसी के अंदर भरपूर मात्रा में एंटीबैक्टीरियल और एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो न केवल शरीर को संक्रमण से बचाव में उपयोगी हैं, बल्कि वह शरीर के इम्यून सिस्टम को बढ़ाने में भी बेहद काम आ सकते हैं। ऐसे में यदि व्यक्ति जल्दी बीमारियों की चपेट में आ जाता है, तो वह नित्य प्रति सुबह खाली पेट तुलसी के पत्तों को अच्छे से चबाएं।

सांसों की बदबू को करे दूर

तुलसी के अंदर एंटीबैक्टीरियल गुण भी पाए जाते हैं जो न केवल सांसों को ताजगी प्रदान करते हैं, बल्कि जो लोग सांसों की बदबू से परेशान रहते हैं उनकी समस्या को दूर करने में भी तुलसी बेहद फायदेमंद है।

वायरल से बचाव

हल्के-फुल्के वायरल को दूर करने के लिए मोटी और कड़वी दवाइयां खाने की जरूरत नहीं है। इसके लिए व्यक्ति सुबह उठकर खाली पेट तुलसी का सेवन करेगा, तो वह वायरल से जल्दी राहत पा सकता है। इसके अलावा सर्दी, जुकाम को दूर करने में भी तुलसी आपके काम आ सकती है।

वजन कम करने में उपयोगी

वजन को कम करने के लिए लोग न जाने अपनी डाइट में किन चीजों को जोड़ते और किन चीजों को घटाते रहते हैं और जब कोई फर्क नहीं मिलता, तो वे जल्दी निराश भी हो जाते हैं। तुलसी के सेवन से अत्यधिक चर्बी को दूर किया जा सकता है। साथ ही ये वजन को कम करने के साथ-साथ पाचन क्रिया को भी तंदुरुस्त बना सकती है।