भारतीय छात्रों के लिए शिक्षा मंत्रालय ने ‘स्टे इन इंडिया और स्टडी इन इंडिया’ का दिया नारा

विदेश में पढ़ने वाले भारतीय छात्रों और विदेश में जाने की तैयारी कर रहे भारतीय छात्रों के लिए शिक्षा मंत्रालय ने ‘स्टे इन इंडिया और स्टडी इन इंडिया’ का नारा दिया है। मानव संसाधन मंत्रालय ने शुक्रवार को हुई एक बैठक में ‘स्टे इन इंडिया’ को ‘स्टडी इन इंडिया’ के साथ ऐसे भारतीय छात्रों के लिए जोड़ा जा रहा है, जो विदेश में अध्ययनरत हैं या विदेश में पढ़ाई की तैयारी कर रहे हैं। ‘स्टडी इन इंडिया’ मंत्रालय का एक प्रोग्राम है। नए नारे को साकार करने को लेकर लेकर एक कमेटी बनाई गई है, जिसे 15 दिनों में अपनी रिपोर्ट देनी है।

मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने बैठक के दौरान कहा, कोविड महामारी से पैदा हुई स्थिति की वजह से विदेश में पढ़ाई करने की चाह रखने वाले कई छात्रों ने भारत में रहने का फैसला लिया है। कई ऐसे छात्र जो विदेश में पढ़ाई कर रहे हैं, वो भारत आना चाहते हैं। मंत्रालय को दोनों ही तरह के छात्रों को ध्यान में रखकर उनकी जरूरतों को पूरा करने के तमाम कोशिशें करनी चाहिए। बैठक में विदेश जाने की चाह रखने वाले छात्रों की ज़रूरतों को ध्यान में रखते हुए ऐसे कदम उठाने और ऐसे अवसर देने के फैसले लिए गए, जिसके तहत उन्हें भारत में रोका जा सके।

इसके लिए मंत्रालय उन्हें भारत के सर्वोत्तम संस्थानों में पढ़ाई का मौका देने की तैयारी करने वाला है। वहीं, विदेश में पढ़ रहे ऐसे छात्र जो भारत लौटना चाहते हैं, उन्हें उनका प्रोग्राम पूरा करने में मदद करने की भी तैयारी की जा रही है। इसे लेकर एक कमेटी बनाई जानी है, जिसके प्रमुख यूजीसी के चेयरमैन डीपी सिंह होंगे।

The post भारतीय छात्रों के लिए शिक्षा मंत्रालय ने ‘स्टे इन इंडिया और स्टडी इन इंडिया’ का दिया नारा appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.

Related Stories: