Friday, September 25, 2020 08:33 AM

बिलासपुर में दो नए कोविड सेंटर

एक सदर में घागस के पास बिनौला व दूसरा झंडूता के शाहतलाई में बनेगा केयर सेंटर

बिलासपुर – जिला बिलासपुर में कोविड-19 के हर दिन बढ़ते मामलों पर संज्ञान लेते हुए जिला प्रशासन अब दो नए केयर सेंटर बनाएगा। इस बाबत प्रक्रिया चल रही है। एक केयर सेंटर सदर और दूसरा झंडूता उपमंडल में बनेगा, जिनमें 100-100 मरीजों को एकसाथ रखने की सुविधा होगी। इस समय बिलासपुर के शिवा आयुर्वेद कालेज और नयनादेवी में मातृआंचल में कोविड केयर सेंटर बनाए गए हैं। जहां पॉजिटिव आए मरीजों को उपचार किया जा रहा है। बिलासपुर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. प्रकाशचंद दरोच ने खबर की पुष्टि की है।

उन्होंने बताया कि जिस प्रकार से जिला में हर दिन कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आ रहे हैं तो ईलाज के लिए आने वाले समय में केयर सेंटरों की जरूरत पड़ सकती है। इसके लिए प्रशासन ने तैयारी कर ली है और दो नए केयर सेंटर बनाने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि सदर उपमंडल में एक केयर सेंटर खुलेगा, जिसमें घागस के पास बागी बिनौला में 100 मरीजों को एकसाथ रखने की क्षमता होगी, जबकि झंडूता उपमंडल के शाहतलाई में भी इतनी ही क्षमता का केयर सेंटर तैयार किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि जब ये दोनों केयर सेंटर शुरू हो जाएंगे तो पॉजिटिव आए लोगों के ईलाज की सहूलियत उपलब्ध होगी। मुख्य चिकित्सा अधिकारी के अनुसार इस समय जिले में दो कोविड-19 केयर सेंटर उपलब्ध हैं जहां मरीजों को उपचार किया जा रहा है। एक 100 बैड क्षमता का केयर सेंटर शिवा आयुर्वेद कालेज चांदपुर और दूसरा नयनादेवी के मातृआंचल में 50 बैड की क्षमता का बनाया गया है। उन्होंने बताया कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से बचाव के लिए जिला प्रशासन सतर्क है। बाहर से आने वालों को जिला की सीमा पर स्क्रीनिंग व ट्रेवल हिस्ट्री चेक करने के बाद नयनादेवी और स्वारघाट में इंस्टीच्यूशनल क्वारंटाईन किया जा रहा है। उन्हीं लोगों को क्वारंटाईन किया जा रहा है जिनमें कोरोना के लक्षण नजर आते हैं और उनके टेस्ट किए जा रहे हैं। पॉजिटिव लोगों के ईलाज के लिए भी प्रशासन ने जिला में पुख्ता इंतजाम कर रखे हैं। लोगों को फेसमास्क लगाकर बाहर निकलने और सोशल डिस्टेंसिंग की पूरी तरह से अनुपालना सुनिश्चित करने के लिए अलग अलग माध्यमों से जागरूक भी किया जा रहा है।

लोग भी सरकार के निर्देशों का पालन कर रहे हैं यही वजह है कि बिलासपुर जिला कोरोना के लिहाज से अभी काफी हद तक सुरक्षित है। जहां जहां मामले सामने आ रहे हैं तत्काल इलाज की व्यवस्था की जा रही है और होम क्वारंटाइन लोगों के पॉजिटिव आने पर उनकी कांटेक्ट हिस्ट्री टे्रस कर संबंधित क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन बनाया जा रहा है। सुरक्षा के लिहाज से प्रशासनिक स्तर पर हरसंभव कदम उठाए जा रहे हैं।

वहीं, मुख्य चिकित्सा अधिकारी बिलासपुर डा. प्रकाशचंद दरोच ने कहा कि भविष्य में किसी भी प्रकार की आपात स्थिति से निपटने के मद्देनजर बिलासपुर जिला में दो नए कोविड-19 केयर सेंटर बनाए जाएंगे जिसके लिए तैयारी चल रही है। एक सदर में घागस के पास बिनौला तथा दूसरा झंडूता उपमंडल के शाहतलाई में बनेगा। दोनों ही केयर सेंअर 100-100 मरीजों की क्षमता के होंगे। इस समय शिवा आयुर्वेद कॉलेज चांदपुर में 100 व नयनादेवी के मातृआंचल में 50 बैड क्षमता का केयर सेंटर बनाया हुआ है जहां मरीजों का उपचार किया जा रहा है।

जिला में इस समय कुल 153 पॉजिटिव केस

आज दिन तक जिला बिलासपुर से 7839 सैंपल आईजीएमसी शिमला में जांच के लिए भेजे गए हैं, जिनमें 153 मामले पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके अलावा चार माइग्रेटिड मामले भी पॉजिटिव हैं। वहीं, इसके अलावा जिला में अभी 57 मामले एक्टिव हैं। एक माइग्रेटिड मामला भी है। वहीं, अभी तक 7561 सैंपल नेगेटिव पाए गए हैं।

The post बिलासपुर में दो नए कोविड सेंटर appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.