Friday, February 26, 2021 03:07 AM

भाजपा-9...कांग्रेस-5...निर्दलीय-3

ऊना। पंचायती राज संस्थाओं के जिला परिषद व पंचायत समिति के आए नतीजों में विधानसभा क्षेत्र हरोली में भाजपा ने कांग्रेस पार्टी को जबदरस्त पटकनी दी है। चार जिला परिषद सीटों में से भाजपा तीन सीटें जीतने में सफल हुई है तो कांग्रेस पार्टी के खाते में केवल एक सीट ही आई है। वहीं, पंचायत समिति की कुल 24 सीटों में से भाजपा ने 20 सीटों को जीतने का दावा किया है। जिप चुनावों में पंडोगा, ललड़ी व हरोली वार्ड से भाजपा प्रत्याशियों ने जीत हासिल की है।

दिव्य हिमाचल ब्यूरो-ऊना सड़क सुरक्षा जीवन रक्षा को मुख्य ध्येय मानकर सरकार द्वारा चलाए गए राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा एवं निरीक्षण अभियान के तहत शनिवार को इंडियन ऑयल कारपोरेशन ऊना टर्मिनल पेखुबेला में आरटीओ रमेश चंद कटोच की अध्यक्षता में एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसमें टैंकर चालकों को यातायात नियमों के पालन के बारे में जागरूक किया गया। आरटीओ आरसी कटोच ने बताया कि सड़क पर लगे मार्ग संकेत आपके मार्गदर्शक है तथा अपनी और दूसरों की सुरक्षा के लिए इनका पालन करना सुनिश्चित बनाएं। उन्होंने बताया कि ट्रैफिक नियमों में तीन प्रकार के संकेत शामिल हैं।

इसमें गोलाकार में बने संकेत आदेशात्मक होते हैं, जिनका ड्राइवर के लिए हर स्थिति में पालन करना जरूरी होता है। इसके अतिरिक्त त्रिभुज में दिए गए संकेत चेतावनी के होते हैं, जिनका आशय चालक को सावधान करना होता है। जबकि चतुर्भुज में दर्शाए गए संकेत सूचनात्मक संदेश होते हैं, जो आपका मार्गदर्शन कराते हैं। उन्होंने कहा कि जल्दी पहुंचने की चाह में चालक कई बार तेज रफ्तार और गाड़ी ओवरटेक करने की कोशिश करते हैं। जोकि काफी खतरनाक होता है और दुर्घटनाओं का कारण बनता है। गाड़ी को ओवरटेक करने से पूर्व भली-भांति जांच लें कि आपके ओवरटेक करने से आपको अथवा दूसरों को कोई परेशानी न हो। इस अवसर पर प्रबंधक इंडियन ओयल कॉर्पोरेशन नीलकमल, एएसआई जोगिंद्र सिंह, एआरटीओ राजेश कौशल, सचिंद्र चैधरी, टेंकर मालिक व ड्राईवर सहित स्थानीय जनता उपस्थित रहीं।

आग बुझाने वाले यंत्रों की नियमित जांच करें आरटीओ ने निर्देश दिए कि चालक टैंकर में स्थापित आग बुझाने वाले यंत्रों की नियमित जांच करें क्योंकि अतिसंवेदनशील ज्वलंनशील तरल लदा होने के चलते बड़ी आग्जनी दुर्घटना की संभावना रहती है। इसके अलावा वाहन की रफ्तार को भी सीमित रखें ताकि अपनी सुरक्षा के साथ-साथ दूसरों की सुरक्षा भी बनी रहे।

खंड चिकित्सा अधिकारी डा. एसके वर्मा ने भी लगवाया जानलेवा महामारी खत्म करने का टीका

स्टाफ रिपोर्टर-गगरेट वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का गला दबाने के लिए शुरू किया गया टीकाकरण अभियान लगातार जारी है। स्वास्थ्य विभाग की टीमें जगह-जगह कैंप लगाकर इस टीकाकरण अभियान के पहले चरण में हैल्थ वर्कर्स, आंगनबाड़ी वर्कर्स व आशा वर्कर्स को कोविशील्ड का सहारा दे रही हैं। शनिवार को खंड चिकित्सा अधिकारी डा. एसके वर्मा ने भी कोविशील्ड की डोज ली। इस टीकाकरण अभियान के तहत अब तक स्वास्थ्य खंड गगरेट में 470 लोगों को ये डोज दी जा चुकी है। कोरोना वायरस पर लगाम कसने के लिए स्वास्थ्य खंड गगरेट में भी व्यापक स्तर पर टीकाकरण अभियान को अमलीजामा पहनाने का काम जारी है।

प्रारंभिक चरण में हैल्थ वर्कर्स के साथ आशा वर्कर्स व आंगनबाड़ी वर्कर्स को इस टीकाकरण अभियान में शामिल किया गया है। अहम बात यह है कि कोरोना वायरस में कोविशील्ड प्रभावी दिख रहा है। जिन लोगों को भी कोविशील्ड की डोज दी गई है बेशक उन्हें आधा घंटा के लिए निगरानी में रखा जा रहा है। लेकिन अभी तक किसी भी व्यक्ति पर इसका कोई प्रतिकूल असर देखने को नहीं मिला है। खंड चिकित्सा अधिकारी डा. एसके वर्मा ने भी शनिवार को ये वैक्सीन लगवाई। उन्होंने बताया कि अब तक स्वास्थ्य खंड गगरेट में 470 लोगों को यह वैक्सीन दी जा चुकी है।

स्टाफ रिपोर्टर-दौलतपुर चौक युवा एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार के अंतर्गत नेहरू युवा केंद्र के सौजन्य से नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। विकासखंड गगरेट के गांव दियोली में युवा मंडल द्वारा नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती मनाई गई। जिसमें नेहरू युवा केंद्र ऊना से राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक राजीव कुमार विशेष रूप से उपस्थित रहे।

युवा मंडल दियोली के युवाओं द्वारा एक साथ मिलकर नेताजी सुभाष चंद्र बोस की तस्वीर के आगे दीप प्रज्वलन किया गया और इस मौके पर राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक राजीव कुमार ने अपने संबोधन में कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती है। देश के स्वाधीनता आंदोलन के नायकों में से एक नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती को केंद्र सरकार ने पराक्रम दिवस के तौर पर मनाने का फैसला किया है। तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा! जय हिंद। जैसे नारों से आजादी की लड़ाई को नई ऊर्जा देने वाले नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 को उड़ीसा के कटक शहर में हुआ था। नेताजी की जीवनी और कठोर त्याग आज के युवाओं के लिए बेहद ही प्रेरणादायक है। नेताजी का जय हिंद का नारा भारत का राष्ट्रीय नारा बन गया। उन्होंने सिंगापुर के टाउन हाल के सामने सुप्रीम कमांडर के रूप में सेना को संबोधित करते हुए दिल्ली चलो का नारा दिया। गांधीजी को राष्ट्रपिता कहकर सुभाष चंद्र बोस ने ही संबोधित किया था। जलियांवाला बाग कांड ने उन्हें इस कदर विचलित कर दिया कि वह आजादी की लड़ाई में कूद पड़े। इस मौके पर युवा मंडल दियोली से हर्षित, मोहित, हिमांशु ठाकुर, विशाल, गणेश, सूर्या सिंह, जतिन सिंह, राहुल, साहिल, रोहित व अर्जुन इत्यादि युवा उपस्थित थे।

धूमधाम से मनाई सुभाष चंद्र बोस की जयंती हमीरपुर। जिला स्वतंत्रता सेनानी एवं उत्तराधिकारी कल्याण संघ द्वारा नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती धूमधाम से गांधी चौक हमीरपुर में मनाई गई। इस मौके पर जिला स्वतंत्रता सेनानी कल्याण संघ हमीरपुर के प्रधान नरेश शर्मा ने बताया कि नेताजी सभी दलों के सर्वमान्य नेता रहे हैं और उनका देश को आजाद करवाने में अतुलनीय योगदान रहा है। संघ के सभी सदस्यों ने नेताजी के पद चिन्हों पर चलने की शपथ उठाई। इस मौके पर संघ के प्रदेश अध्यक्ष पुरुषोत्तम लाल कालिया ने प्रदेश सरकार से स्वतंत्रता सेनानी कल्याण बोर्ड के शीघ्र गठन की मांग की। इस मौके पर पुरुषोत्तम लाल कालिया, कोषाध्यक्ष हरीश नंदा, अशोक कंबर, राय सिंह ठाकुर, मोहिनी, रमेश कौशल, श्रीधर, रोहित शर्मा व राजीव कंबर आदि उपस्थित रहे।

स्टाफ रिपोर्टर- गगरेट ग्रामीण संसद के चयन के लिए पंचायत चुनावों में विकास खंड गगरेट के अंतर्गत आने वाले तीन जिला परिषद वार्डों में सत्तारूढ़ भाजपा व विपक्ष में बैठी कांग्रेस को एक-एक सीट से ही संतोष करना पड़ा। जबकि जिला परिषद वार्ड भंजाल लोअर से बिना किसी राजनीतिक दल की मदद से प्रचंड जीत दर्ज करने वाले चैतन्य शर्मा ने कांग्रेस व भाजपा की चूलें हिला कर रख दीं। चैतन्य शर्मा ने प्रदेश की सबसे बड़ी लीड अर्जित करते हुए यह चुनाव 11983 मतों के अंतर से जीता। जबकि कांग्रेस व भाजपा समर्थित प्रत्याशी जमानत तक नहीं बचा पाए। वहीं, जिला परिषद वार्ड संघनई से भाजपा समर्थित उम्मीदवार संगीता देवी 1536 मतों के अंतर से जीत दर्ज करने में कामयाब रही। जिला परिषद वार्ड अंबोटा में आमने-सामने की टक्कर में कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार रजनी चौधरी 2298 मतों के अंतर से जीत दर्ज करने में कामयाब रही थीं।

वहीं, जिला परिषद वार्ड अंबोटा में भाजपा समर्थित संगीता देवी 1536 मतों के अंतर से जीत का स्वाद चखने में कामयाब रहीं। संगीता देवी को कुल 6281 मत मिले तो उनकी निकटतम प्रतिद्वंदी कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार रेखा ठाकुर को 4745 मत मिल पाए। इसी वार्ड से बागी तेवर दिखाकर चुनाव मैदान में उतरी भाजपा आईटी सैल की हमीरपुर संसदीय क्षेत्र प्रभारी रजनी देवी को 3162 मत मिले तो भाजपा नेत्री बृज बाला सूद को 1783 मत मिले। 124 मत नोटा को पड़े तो 332 मत निरस्त घोषित किए गए। वहीं जिला परिषद वार्ड भंजाल लोअर में बिना किसी राजनीतिक दल के समर्थन से चुनाव मैदान में उतरे चैतन्य ठाकुर ने 14789 व मत लेकर सबको हैरत में डाल दिया। अहम बात यह है कि यहां भाजपा व कांग्रेस समर्थित प्रत्याशी जमानत तक नहीं बचा पाए।

ऊना में जिला परिषद चुनावों में भाजपा ने को मिला स्पष्ट बहुमत, लगा बधाइयों का तांता

दिव्य हिमाचल ब्यूरो- ऊना जिला परिषद चुनावों में भाजपा ने बढ़त प्राप्त करते हुए जिला की 17 में से 9 सीटों पर जीत दर्ज की है। जबकि कांग्रेस पार्टी को 5 सीटों पर जीत मिली है। इस दफा तीन निर्दलीय प्रत्याशी भी चुनाव जीत पाने में सफल हुए है। भाजपा को लगातार दूसरी बार जिला परिषद ऊना में स्पष्ट बहुमत मिला है। इस बार जिला परिषद अध्यक्ष पद अनुसूचित जाति महिला के लिए आरक्षित है। भाजपा ने इस दफा अनुसूचित जाति महिला के लिए आरक्षित रायपुर सहोड़ा व पालकवाह जिला परिषद वार्डों में एससी महिला प्रत्याशियों को चुनावी समर में उतारा था, लेकिन पालकवाह में भाजपा प्रत्याशी की हार के बाद अब इस पद पर रायपुर सहोड़ा जिला परिषद वार्ड से जीती भाजपा समर्थित प्रत्याशी नीलम का अध्यक्ष बनना भी तय माना जा रहा है। वही,जिला परिषद उपाध्यक्ष पद के लिए भाजपा के जीते हुए 8 जिला परिषद सदस्यों में किस की लाटरी लगेगी,इस पर सभी की निगाहे टिकी है। भाजपा ने हरोली में शानदार प्रदर्शन किया,जबकि गगरेट में भाजपा का प्रदर्शन निराशाजनक रहा है। वहीं, अंब व ऊना में भाजपा ने अपने किले बचा पाने में सफलता पाई है।

कुटलैहड़ में भाजपा को एक सीट का नुकसान उठाना पड़ा है। अंब व कुटलैहड़ विधानसभा क्षेत्रों में भाजपा व कांग्रेस 3-3 सीटें जीतने में सफल रही,जबकि एक सीट पर आजाद प्रत्याशी ने जीत दर्ज की। जबकि गगरेट में भाजपा व कांग्रेस एक-एक सीट पर विजयी रहे,जबकि एक सीट पर निर्दलीय प्रत्याशी ने भाजपा व कांग्रेस प्रत्याशियों की जमानत तक जब्त करवा दी। ऊना सदर विधानसभा क्षेत्र में भाजपा दो सीटों पर विजयी रही,वहीं कांग्रेस यहां पर खाता भी नही खोल पाई। भाजपा ने हरोली विधानसभा क्षेत्र में अपने प्रदर्शन में सुधार करते हुए चार में से तीन सीटों पर जीत दर्ज की है। हरोली विस क्षेत्र में लोकसभा चुनावो में मिली 15 हजार मतों से अधिक की बढ़त से उत्साहित भाजपा ने इस बार नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्रिहोत्री की अभेद किलेबंदी को भेद पाने में सफलता पाई है।