Sunday, July 25, 2021 08:15 AM

ब्लैक फंगस की दवा टैक्स फ्री, कोरोना वैक्सीन पर पांच फीसदी टैक्स बरकरार

 ऑक्सीजन भी सस्ती

ब्यूरो — नई दिल्ली

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वीडियो कान्फ्रेंसिग के जरिए जीएसटी काउंसिल की 44वीं बैठक की अध्यक्षता करते हुए शनिवार को कोरोना महामारी से जुड़ी आवश्यक वस्तुओं और ब्लैक फंगस के इलाज में काम आने वाली दवाओं पर जीएसटी दरों में भारी कटौती की गई है। ब्लैक फंगस की दवा टैक्स फ्री रखी गई है, जबकि कोरोना वैक्सीन पर पांच फीसदी टैक्स बरकरार रखा है। वित्त मंत्री ने कहा कि कोरोना संकट के दौर में एंबुलेंस ने लोगों की जान बचाने में काफी बड़ी भूमिका निभाई है, इसलिए इस पर जीएसटी की दरें 28 फीसदी से घटाकर 12  फीसदी की जाती हैं। कोरोना संकट के दौर में बहुत सी चीजों पर 18 फीसदी जीएसटी लग रहा था, जिसे घटाकर पांच फीसदी कर दिया गया है। ऐसी भी कई चीजें हैं, जिन पर 12 फीसदी जीएसटी लग रहा था, उसे भी घटाकर पांच फीसदी कर दिया गया है।

मंत्रियों के समूह ने कई सुझाव दिए थे, जिस पर जीएसटी काउंसिल ने गंभीरता से विचार करने के बाद जीएसटी दरें घटाने पर फैसला लिया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि हैंड सेनेटाइजर, टेंपरेचर चेक इक्विपमेंट आदि पर जीएसटी की दरें घटाकर पांच फीसदी कर दी गई हैं। इसी तरह वेंटीलेटर, मेडिकल ऑक्सीजन, कोविड टेस्टिंग किट पर जीएसटी की दरें घटाकर पांच फीसदी कर दी गई हैं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि कोरोना के इलाज में काम आने वाला वाली दवा रेमडेसिविर पर जीएसटी की दर घटाकर पांच फीसदी कर दी गई है। ब्लैक फंगस के इलाज में काम आने वाली दवा एम्फोथ्रेसिन-बी और टोसिलिजुमैब पर जीएसटी खत्म कर दिया गया है। हाई फ्लो नेजल कैनुला डिवाइस और पल्स ऑक्सीमीटर पर जीएसटी की दरें 12 से घटाकर पांच फीसदी कर दी गई हैं। जीएसटी काउंसिल ने कोरोना वायरस में काम आने वाली जिन चीजों पर जीएसटी की दरें घटाई हैं, उन की वैधता 30 सितंबर तक रहेगी।