Sunday, May 09, 2021 07:16 PM

कोरोना संकट के बीच आज से बोर्ड परीक्षाएं, 2137 परीक्षा केंद्रों में लिए जाएंगे एग्जाम 

 कोविड गाइडलाइंस के तहत 2137 परीक्षा केंद्रों में लिए जाएंगे एग्जाम 

 बुखार या सर्दी-जुकाम वाले छात्रों के लिए अलग कमरों की व्यवस्था

दिव्य हिमाचल ब्यूरो,  धर्मशाला     

कोविड काल के बीच मंगलवार से हिमाचल में बोर्ड की परीक्षाएं शुरू हो रही हैं। हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा मैट्रिक तथा जमा दो श्रेणी के नियमित तथा हिमाचल प्रदेश राज्य मुक्त विद्यालय के आठवीं, मैट्रिक तथा जमा दो श्रेणी के नियमित और एसओएस की वार्षिक परीक्षाओं के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। परीक्षाएं सुबह और शाम दो सत्रों में आयोजित की जा रही हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच प्रदेश भर में परीक्षाओं के लिए 2137 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। कोरोना काल में आयोजित की जा रही परीक्षा में कोविड के लिए बनाई गई गाइडलाइंस के साथ परीक्षा का आयोजन होगा। बुखार या सर्दी जुकाम वाले छात्रों के लिए अलग से कमरों की व्यवस्था परीक्षा केंद्रों में की जाएगी, जिससे किसी तरह का कोई रिस्क न हो।

 बोर्ड अध्यक्ष डा. सुरेश कुमार सोनी ने वार्षिक परीक्षा के सुचारू रूप से संचालन करने के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। उन्होंने कहा कि बेशक कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच आयोजित की जा रही परीक्षाएं किसी चुनौती से कम नही हैं, लेकिन फिर भी बोर्ड ने कोरोना गाइडलाइंस के साथ सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। कोरोना के चलते सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए इस बार 2137 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। उन्होंने बताया कि नकल को रोकने के भी पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। इस बार बोर्ड की परीक्षाएं करीब एक माह देरी से आयोजित हो रही हैं। दसवीं कक्षा की वार्षिक परीक्षाएं 13 अप्रैल से 28 अप्रैल तक तथा जमा दो कक्षा की वार्षिक परीक्षाएं 13 अप्रैल से 10 मई तक संचालित की जाएंगी। परीक्षा केंद्र में प्रवेश के समय परीक्षार्थियों के शरीर के तापमान का थर्मल स्कैनर से जांच कर परीक्षा केंद्र में जाने की अनुमति होगी।

2.47 लाख परीक्षार्थी देंगे परीक्षा

मंगलवार से शुरू हो रही बोर्ड की परीक्षा में इस बार दसवीं कक्षा के एक लाख 16 हजार 954 नियमित परीक्षार्थी तथा राज्य मुक्त विद्यालय के माध्यम से 14931 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। जमा दो कक्षा की परीक्षा में एक लाख 982 नियमित परीक्षार्थी तथा राज्य मुक्त विद्यालय के माध्यम से 13 हजार 944 परीक्षार्थी परीक्षा में बैठेंगे। वहीं, आठवीं कक्षा के 703 परीक्षार्थी एसओएस परीक्षा में भाग लेंगे।