Tuesday, June 15, 2021 12:32 PM

हिमाचल में नहीं चलेंगी बसें निजी गाडि़यों पर भी रोक, आपात स्थिति में ही वाहनों की आवाजाही

सबसे बड़ा फैसला; सिर्फ तीन घंटे ही खुलेंगी जरूरी सामान की दुकानें

लॉकडाउन जैसी सख्ती

 प्रदेश सरकार ने बढ़ाई बंदिशें, कल से होंगी लागू

 जरूरी सामान की दुकानें खोलने के लिए तीन घंटे समय डीसी करेंगे तय

मस्तराम डलैल — शिमला

जयराम सरकार ने हिमाचल में कोरोना चेन को ब्रेक करने के लिए 10 मई से लॉकडाउन जैसी सख्त बंदिशें लागू करने का फैसला लिया है। कोरोना मामलों की संख्या और इससे होने वाली मृत्यु में हो रही तीव्र वृद्धि के मद्देनजर सरकार ने हिमाचल में जारी कोरोना कर्फ्यू के तहत 10 मई सुबह छह बजे से कुछ और सख्त पाबंदियां लगाने का निर्णय लिया है। यह फैसला शनिवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में आयोजित एक उच्च स्तरीय बैठक में लिया गया। बैठक में सबसे बड़ा जो निर्णय है कि हिमाचल में दैनिक जरूरतों और आवश्यक वस्तुओं की दुकानों के अतिरिक्त अन्य सभी दुकानें बंद रहेंगी। दैनिक जरूरतों और आवश्यक वस्तुओं की दुकानें दिन में केवल तीन घंटे ही खुली रहेंगी।

इसका समय संबंधित उपायुक्तों द्वारा निर्धारित किया जाएगा। इसके अलावा बैठक में यह भी फैसला लिया गया कि सार्वजनिक परिवहन आगामी आदेशों तक बंद रहेगा और निजी वाहनों को आपात स्थितियों में ही आवाजाही की स्वीकृति होगी। मुख्यमंत्री ने राज्य के लोगों से कोरोना महामारी को फैलने से रोकने के लिए कोरोना कर्फ्यू के प्रभावी कार्यान्वयन में अपना पूर्ण सहयोग देने का आग्रह किया। उन्होंने लोगों से घर में ही रहने और अति आवश्यक होने पर ही घर से बाहर निकलने का आग्रह  किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा यह निर्णय कोरोना वायरस की चेन को तोड़ने और प्रदेशवासियों के जीवन और सुरक्षा के मद्देनजर लिया गया है। हिमाचल प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष विपिन परमार, शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज, सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. राम लाल मारकंडा, स्वास्थ्य मंत्री डा. राजीव सैजल, अतिरिक्त मुख्य सचिव जे.सी. शर्मा, पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू, प्रधान सचिव शुभाषीश पांडा और स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी मुख्यमंत्री के साथ बैठक में उपस्थित रहे, जबकि मुख्य सचिव अनिल खाची, जिला कांगड़ा, मंडी और सोलन के उपायुक्तों ने वर्चुअल माध्यम से बैठक में भाग लिया।