Saturday, October 24, 2020 08:45 AM

चार किलो रसौली निकाल महिला का सफल प्रसव

फोर्टिस अस्पताल कांगड़ा में गायनोकलॉजिट डा. वाणी शर्मा ने करवाई हाई रिस्क डिलीवरी, जच्चा-बच्चा दोनों सुरक्षित

कांगड़ा-रसौली के साथ सुरक्षित प्रसव करवाना किसी भी विशेषज्ञ के लिए चुनौती से कम नहीं होता। खासकर तब जब जच्चा-बच्चा दोनों को बचाना होता है, लेकिन ऐसा ही एक कारनामा फोर्टिस अस्पताल कांगड़ा की गायनोकॉलजिट डा. वाणी शर्मा ने कर दिखाया है। डा. वाणी शर्मा ने बड़ी कुशलता से एक गर्भवती महिला का सफल प्रसव करवाया है, जो करीब चार किलो रसौली से भी पीडि़त थी। फोर्टिस कांगड़ा में यह हाई रिस्क डिलिवरी करवाई गई है। इसमें गर्भाशय को बचाने के साथ प्रसव के बाद जच्चा-बच्चा दोनों सुरक्षित हैं। दरअसल 33 वर्षीय यह गर्भवती महिला गर्भावस्था के सातवें महीने में फोर्टिस अस्पताल कांगड़ा में इलाज के लिए पंहुची थी।

हालांकि फोर्टिस पहुंचने से पहले महिला के केस की गंभीरता को देखते हुए स्थानीय डाक्टरों ने उपचार को इनकार कर दिया और मरीज को पीजीआई जाने की सलाह दी थी। कुछ अरसा महिला ने पीजीआई चंडीगढ़ से उपचार लिया, लेकिन कोविड के दौर में मरीज को प्रदेश से बाहर जाना महफूज नहीं लग रहा था। ऐसे में जब महिला उपचार के लिए फोर्टिस अस्पताल पहुंची तो यहां उन्होंने स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डा. वाणी शर्मा से परामर्श किया। डा. वाणी ने इस चुनौती को स्वीकार करते हुए इसे अंजाम तक पहुंचाने का बीड़ा उठा लिया।

उन्होंने मरीज को भरोसा दिलाया कि फोर्टिस कांगड़ा में उपलब्ध सुविधाओं और सेवाओं के बलबूते वह इस केस को परिणाम तक पहुंचाने में सक्षम हैं। डा. वाणी ने इसी सप्ताह महिला के गर्भ से तकरीबन चार किलो की रसौली को निकाल कर सुरक्षित इसका सफल प्रसव करवाया। इस प्रसव में सबसे बड़ी चुनौती बच्चे के साथ-साथ गर्भाश्य को बचाने की थी, जिसमें डा. वाणी पूरी तरह से सफल हुई। उन्होंने इस सारी प्रक्रिया को बहुत ही कुशल और सधे अंदाज में अंजाम दिया। वहीं, डा. वाणी शर्मा ने बताया कि ऐसे बेहद कम केस सामने हैं व यह केस भी इनमें से एक था। महिला के गर्भ में बच्चे के भार से ज्यादा बड़ी रसौली विकसित हो गई थी। उन्होंने कहा कि पांच दिन के अस्पताल ठहराव के बाद अब मां और बच्चे को डिस्चार्ज कर दिया गया है।

The post चार किलो रसौली निकाल महिला का सफल प्रसव appeared first on Divya Himachal.