Friday, November 27, 2020 05:49 PM

चंबा डीसी आफिस के बाहर लगे नारे

हिमाचल प्रदेश दलित शोषण मुक्ति मंच की चंबा जिला इकाई ने  गुरुवार को उत्तर प्रदेश की हाथरस घटना के विरोध और एससी/एसटी अत्याचार निवारण कानून 1989 को सख्ती से लागू करने की मांग को लेकर डीसी आफिस के बाहर धरना-प्रदर्शन किया। इस दौरान मंच के पदाधिकारियों ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। इसके बाद मंच प्रतिनिधिमंडल ने सहायक उपायुक्त चंबा के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति को ज्ञापन भी भेजा। इस विरोध प्रदर्शन की अगवाई मंच के संयोजक नरेंद्र कुमार ने की। दलित शोषण मुक्ति मंच की ओर से प्रेषित ज्ञापन में महामहिम राष्ट्रपति से हाथरस घटना की हाईकोर्ट के न्यायाधीश से न्यायिक जांच करवाने की मांग उठाई है।

इसके साथ ही दलितों की सुरक्षा करने में नाकाम योगी सरकार और हाथरस के आरोपियों को बचाने और झूठी बयानबाजी को लेकर डीएम, एसपी व डीजीपी को बर्खास्त की मांग का जिक्त्र भी किया गया है। इसके अलावा ज्ञापन में संविधान की रक्षा और हाथरस में दलित युवती से सामूहिक दुराचार के दोषियों को कठोर सजा दिलवाने का उल्लेख भी किया गया है। मंच के संयोजक नरेंद्र कुमार ने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार दलित महिलाओं व दलितों को सुरक्षा देने की बजाय आरोपियों को बचाने में जुटी है, जोकि संविधान की उल्लघंना है।

उन्होंने कहा कि दलित शोषण मुक्ति मंच मांग करता है। कि दलितों के खिलाफ हो रहे अत्याचारों पर रोक लगाने के लिए प्रभावी कदम उठाए जाएं। इस मौके पर दलित शोषण मुक्ति मंच के सदस्य राजू, प्रवीन, सन्नी, सुनील, राकेश, मुकेश, रिझू राम, लेखराज व मनु आदि मौजूद रहे।

The post चंबा डीसी आफिस के बाहर लगे नारे appeared first on Divya Himachal.