Saturday, September 26, 2020 08:56 PM

चीन-तिब्बत सीमा पर बढ़ाएंगे कनेक्टिविटी

कांगड़ा दौर पर पहुंचे मुख्यमंत्री ने गिनाईं सरकार की प्राथमिकताएं

धर्मशाला  – कोरोना महामारी के बीच कांगड़ा दौरे के दौरान गुरुवार को धर्मशाला पहुंचे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि चीन-तिब्बत सीमा के साथ लगते बॉर्डर एरिया में कनेक्टिविटी में सुधार करना सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि सुरक्षा और सामरिक दृष्टि से महत्त्वपूर्ण रोहतांग सुरंग का उद्घाटन आगामी सितंबर माह के अंतिम सप्ताह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया जाएगा। 3200 करोड़ से बनकर तैयार हो रही नौ किलोमीटर की यह सुरंग चीन के अधिकृत क्षेत्र तिब्बत की सीमा तक पहुंचने में सेना के लिए एक सुगम और महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के किन्नौर और लाहुल-स्पीति जिलों के साथ तिब्बत की सीमाएं लगती हैं।

लेह के पास सीमा में भारत और चीनी सेना के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद सभी सीमा क्षेत्रों को अलर्ट किया गया था। केंद्र के दिशा-निर्देशों के चलते प्रदेश सरकार ने भी पांच आईपीएस अधिकारियों का दल भेजा था। इस दल ने इन क्षेत्रों में रह रहे लोगों से मिलकर वहां की हर तरह की गतिविधियों की रिपोर्ट बनाकर केंद्र सरकार को भेजी है। मुख्यमंत्री ने सीमावर्ती क्षेत्रों में रह रहे लोगों के पलायन की खबरों को आधारहीन बताते हुए कहा कि ऐसा कुछ नही है। वहां के लोग बिना किसी डर के वहां रह रहे हैं। वे देश भक्त लोग हैं तथा देश के लिए कुछ भी करने के लिए सदैव तैयार हैं। उन लोगों का कहना है कि वे देश के काम आएं, यह उनका सौभाग्य है। उनके विकास के कुछ मुद्दे हैं, उन पर बातचीत चल रही है। कुछ सेंसेटिव मुद्दे हैं, उन पर ज्यादा चर्चा नहीं होनी चाहिए। इन क्षेत्रों में अधिकतर आईटीबीपी तैनात है, जिसे सरकार हर तरह का सहयोग कर रही है।

सीमावर्ती क्षेत्रों में जहां तक हेलिपैड बनाने की बता है, उसे लेकर वहां तैनात आईटीबीपी अपने स्तर पर काम करेगी। प्रदेश सरकार उन्हें पूर्ण सहयोग देगी। वहीं प्रदेश में होने वाले पंचायत चुनावों को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि बेशक कोरोना का माहौल है, लेकिन ये चुनाव समय पर ही संपन्न करवाए जाएंगे। कोरोना महामारी के चलते राज्य में बंद पड़े मंदिरों को खोलने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि फिलहाल 31 अगस्त तक मंदिरों को खोलने का कोई विचार नही है। देश सहित हिमाचल में कोरोना के मामले बड़े हैं। ऊपर से बरसात का मौसम है, जिसमें संक्रमण व वायरल की अधिक आशंका रहती है। उन्होंने कहा कि अगर आने वाले समय में प्रदेश में कोरोना के मामलों में कमी आती है, तो मंदिरों को खोलने पर विचार किया जा सकता है।

The post चीन-तिब्बत सीमा पर बढ़ाएंगे कनेक्टिविटी appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.