Friday, September 24, 2021 05:11 AM

जोगिंद्रनगर में तीन घंटे रहा संपूर्ण बंद

व्यापार मंडल का प्रदर्शन, जमकर नारेबाजी, निजी भवन में चल रहे व्यापारिक मेला के विरोध में फूटा गुस्सा, जल्द बंद करने का आग्रह

कार्यालय संवाददाता- जोगिंद्रनगर स्थानीय लक्ष्मी बाजार स्थित एक निजी भवन में चल रहे व्यापारिक मेला के विरोध में शुक्रवार को व्यापार मंडल जोगिंद्रनगर ने प्रात: 9 बजे से 12 बजे तक तीन घंटे का संपूर्ण बंद रखा। इस अवसर पर व्यापार मंडल के सदस्य ने स्थानीय पठानकोट चौक में एकत्रित होकर व्यावसायिक मेले वाली इमारत के सामने जोरदार प्रदर्शन किया । उसके पश्चात व्यापारियों ने स्थानीय बाजार से नारेबाजी करते हुए उपमंडलाधिकारी (नागरिक) के कार्यालय समक्ष भी प्रदर्शन किया। व्यापार मंडल के अध्यक्ष अजय धरवाल ने कहा कि व्यापार मंडल जोगिंद्रनगर पिछले पांच दिनों से शहर के 600 व्यापारियों के हित में इस अस्थाई व्यापारिक मेला को बंद करने की मांग कर रहा है। लेकिन प्रशासन द्वारा इस दिशा में कोई ठोस कदम नही उठाया गया।

धरवाल ने कहा कि कोरोना महामारी के चलते पहले ही व्यापारियों का भारी नुकसान हुआ है। अब कोरोना काल में इस प्रकार के मेलों को आयोजित करने की अनुमति अगर प्रशासन देगा तो वो स्थानीय व्यापारियों के साथ सरासर अन्याय है। उन्होंने कहा कि व्यापार मंडल ने स्थानीय विधायक को भी अपनी समस्या बताई परंतु वह भी व्यापारियों की समस्या का अब तक हल नहीं निकाल सके हैं। अध्यक्ष अजय धरवाल ने कहा कि विधायक को चाहिए कि क्षेत्र के निर्वाचित प्रतिनिधि होने के नाते वह शहर के 600 व्यापारियों की रोज़ी रोटी की चिंता करते हुए प्रशासन व सरकार से इस व्यापारिक मेले को बंद करवाने बारे निर्देश दें । उन्होंने व्यापार मंडल की और से विधायक तथा प्रशासन को एक दिन का ओर समय देने की बात करते हुए कहा कि यदि फिर भी व्यापारिक हित में निर्णय नहीं लिया जाता तो व्यापार मंडल अपने स्तर पर कोई कदम उठाने को बाध्य होगा । इस अवसर पर नगर परिषद की अध्यक्ष ममता कपूर सहित व्यापारी वर्ग उपस्थित रहा। क्या कहते हैं व्यापार मंडल अध्यक्ष अजय धरवाल व्यापार मंडल के अध्यक्ष अजय धरवाल ने कहा कि पिछले पांच दिनों से शहर के 600 व्यापारियों के हित में इस अस्थाई व्यापारिक मेला को बंद करने की मांग व्यापार मंडल कर रहा है। व्यापार मंडल ने स्थानीय विधायक को भी अपनी समस्या बताई परंतु वह भी व्यापारियों की समस्या का अब तक हल नहीं निकाल सके हैं। विधायक तथा प्रशासन को एक दिन का ओर समय देने की बात करते हुए कहा कि यदि फिर भी व्यापारिक हित में निर्णय नहीं लिया जाता तो व्यापार मंडल अपने स्तर पर कोई कदम उठाने को बाध्य होगा ।