Sunday, March 07, 2021 05:08 PM

अंबोटा में कांग्रेस का जलवा

दिव्य हिमाचल ब्यूरो- ऊना

सड़क दुर्घटनाओं के दौरान पीडि़तों की जान बचाने और उनकी मदद के लिए आगे आने वाले प्रत्यक्षदर्शियों और जिम्मेदार नागरिकों की व्यक्तिगत सुरक्षा तथा उनको प्रोत्साहित करने के लिए केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्रालय की ओर से अधिसूचना जारी की गई है। यह जानकारी आरटीओ रमेश चंद कटोच ने राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा जागरूकता एवं निरीक्षण अभियान के अंतर्गत ट्रक यूनियन मैहतपुर में एक कार्यशाला मे दी। उन्होंने बताया कि ने बताया कि कानूनी दांवपेच से बचने के लिए प्रायः सड़क दुर्घटना के दौरान प्रत्यक्षदर्शी घायल की मदद करने को आगे नहीं आते, जिसकी वजह से घायल की समय पर मदद नहीं हो पाती, लेकिन यह अधिसूचना दुर्घटना के दौरान मानवता का परिचय देने वालों का संरक्षण ही नहीं करती बल्कि ऐसे नेक नागरिक को प्रोत्साहित भी करती है। मददगार किसी सिविल या अपराधिक दायित्व के लिए जिम्मेवार नहीं  आरटीओ ने बताया कि अधिसूचना में सड़क दुर्घटनाओं के समय पीडि़त व्यक्ति की मदद करने वाले प्रत्यक्षदर्शियों एवं नेक नागरिकों की सुरक्षा और उन्हें प्रोत्साहित करने का प्रयास किया गया है।

उन्होंने बताया कि मददगार किसी सिविल या अपराधिक दायित्व के लिए उत्तरदायी नहीं होगा। अगर वह सड़क हादसे में घायल हुए व्यक्ति के बारे में पुलिस अथवा आपातकालीन सेवाओं को फोन द्वारा सूचित करता है तो वह फोन पर या व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होकर अपना नाम व व्यक्तिगत विवरण देने के लिए भी बाध्य नहीं होगा। उसके द्वारा अपना नाम, संपर्क विवरण सहित अन्य व्यक्तिगत विवरण बताए जाने को स्वैच्छिक तथा वैकल्पिक बनाया गया है। लोक अधिकारियों द्वारा उसे नाम तथा व्यक्तिगत विवरण देने के लिए बाध्य करने या धमकाने की स्थिति में उनके खिलाफ अनुशासनात्मक व विभागीय कार्रवाई की जा सकती है। इसके अलावा यदि कोई नागरिक स्वैच्छिक रूप से उल्लेख करता है कि वह दुर्घटना का प्रत्यक्षदर्शी भी है तो ऐसी स्थिति में पुलिस द्वारा अथवा मुकद्दमे के दौरान यदि उसकी जांच अपेक्षित है, तो उससे एक बार ही पूछताछ की जाएगी। इसके लिए राज्य सरकार द्वारा मानक संचालन प्रक्रिया अपनाते हुए यह सुनिश्चित किया जाएगा कि प्रत्यक्षदर्शी को उत्पीडि़त या धमकाया न जाए। वहीं, रमेश कटोच ने बताया कि प्रत्यक्षदर्शियों और मदद के लिए आगे आने वाले नागरिकों की सुरक्षा के दृष्टिगत स्वास्थ्य संस्थानों पर लागू होने वाले दिशानिर्देश भी जारी किए गए हैं।

ऊना। आईजीएमसी शिमला में अनेक वर्षों से एलमाईटी ब्लेसिंग संस्था कैंसर रोगियों व उनके तीमारदारों के लिए लंगर लगा रही संस्था के समर्थन में ऊना जनहित मोर्चा ने एमसी पार्क में शाहिद स्मारक के पास दो घंटे शांतिपूर्ण धरना दिया। इस मौके पर श्रीराम लीला कमेटी के सदस्य उपस्थित रहे। इस संस्था को आईजीएमसी प्रशासन द्वारा प्रताडि़त किया जा रहा है, जिसके विरोध में संस्था के अध्यक्ष सर्बजीत सिंह बॉबी प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं उनके समर्थन में ऊना जनहित मोर्चा भी आगे आया ओर धरना देकर अपना समर्थन दिया। जनहित मोर्चा के अध्यक्ष राजीव भनोट ने कहा कि शांतिपूर्वक इस धरने में सदस्य शामिल हुए।

उन्होंने कहा हमारा मकसद सर्वजीत बॉबी का समर्थन करना है, ताकि आईजीएमसी प्रशासन उनकी प्रताडऩा न करें और लंगर व रेन बसेरे को विधिवत्त रूप से चलने दें। उन्होंने कहा कि रेन बसेरा पर किसी प्रकार की राजनीति नहीं करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि एक संस्था बेहतर काम कर रही है, उसको प्रोत्साहित करना चाहिए, न कि प्रताडि़त। उन्होंने कहा कि यदि कोई ओर संस्था लंगर लगाना चाहती है, तो उसे कहीं ओर स्थान दिया जाना चाहिए। पहले से सर्वजीत बॉबी द्वारा लगाए जा रहे लंगर को बंद करने का दुसाहस नहीं होना चाहिए। राजीव भनोट ने कहा कि समाजिक कार्यकर्ता समाज के लिए काम करते हैं, उन्हें परेशान नही करना चाहिए। इस अवसर पर दिनेश गुप्ता, राजीव विशिष्ट, नवीन हंस, मनोहर लाल, संदीप कश्यप, राजन पुरी, अश्विनी कुमार, राजेश दत्ता, बलविंद्र गोल्डी, नवदीप कश्यप, शिवकुमार सांभर, राजकुमार पठानिया, नीतीश, ज्योति लाल बग्गा, विशाल व लखबीर लकी सहित अन्य सदस्य भी शामिल रहे।

इंदिरा स्टेडियम में 16 मार्च तक चलेगी भर्ती रैली, पंजीकरण करने की प्रक्रिया 13 फरवरी तक

दिव्य हिमाचल ब्यूरो- ऊना

भर्ती निदेशक सेना भर्ती कार्यालय हमीरपुर संजीव कुमार ने बताया कि इंदिरा गांधी खेल मैदान ऊना में 1 मार्च से 16 मार्च, 2021 को सेना भर्ती आयोजित की जा रही है। इसके लिए ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया आरंभ हो गई है। उन्होंने बताया कि भर्ती में भाग लेने के लिए 13 फरवरी, 2021 तक पंजीकरण करवाया जा सकता है।

उन्होंने बताया कि यह भर्ती सैनिक सामान्य ड्यूटी, सैनिक तकनीकी, सैनिक लिपिक/स्टोर कीपर तकनीकी वर्ग के लिए हमीरपुर, बिलासपुर और ऊना के लिए होगी। इसके अलावा धर्म गुरू (आर टी जेसीओ) और हवलदार (एसएसी) वर्ग के लिए सभी हिमाचल प्रदेश, यूटी चंड़ीगढ और हरियाणा के गुरुग्राम, मेवात, पलवल और फरीदाबाद के जिलों को छोड़कर सभी उम्मीदवार भर्ती में भाग ले सकते है। रैली का संचालन  कोविड-19 से संबंधित सरकारी दिशानिर्देशों के अनुसार किया जाएगा। आवेदन करने एवं अधिक जानकारी के लिए उम्मीदवार सेना भर्ती के वेबसाइट पर संपर्क कर सकते हैं।

गगरेट में पार्टी समर्थित प्रत्याशी रजनी चौधरी ने चूमी जीत; 2298 मतों के साथ की गई विजयी घोषित, लगा बधाइयों का तांता

स्टाफ रिपोर्टर- गगरेट

विधानसभा व लोकसभा चुनावों में शर्मनाक हार का सामना कर चुकी कांग्रेस ने पंचायत चुनाव के माध्यम से जबरदस्त वापसी करती नजर आ रही है। पंचायत समिति व जिला परिषद के चुनाव परिणामों में फिलहाल कांग्रेस बढ़त हासिल करती नजर आ रही है। जिला परिषद वार्ड अंबोटा से आमने-सामने की टक्कर में कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार रजनी चौधरी 2298 मतों के अंतर से जीत दर्ज करने में कामयाब रही। अब तक घोषित हुए पंचायत समिति के चुनाव परिणामों में तीन-तीन वार्डों में कांग्रेस व भाजपा समर्थित उम्मीदवार जीत दर्ज करने में कामयाब रहे हैं। इस बार मतगणना पंचायत समिति के वार्ड नंबर बीस जाड़ला कोयड़ी से शुरू की गई और छह पंचायत समितियों का चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद जिला परिषद वार्ड अंबोटा की मतगणना शुरू हुई। जिला परिषद वार्ड अंबोटा से कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार रजनी चौधरी व भाजपा समर्थित उम्मीदवार पिंकी देवी के बीच आमने-सामने टक्कर थी। कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार रजनी चौधरी को कुल 9661 मत मिले और पिंकी देवी को 7363 मत ही मिल पाए। रजनी चौधरी को 2298 मतों के साथ विजयी घोषित किया गया। अब तक घोषित हुए पंचायत समिति के चुनाव परिणामों में पंचायत समिति के जाड़ला कोयड़ी वार्ड में भाजपा समर्थित प्रिंस जसवाल 1496 मत लेकर विजयी रहे। इसी वार्ड से हरमेश चंद को 651, बलराम कुमार को 56, सुनील कुमार शर्मा को 430, मीना देवी को 497 व गुरनाम सिंह को 385 मत मिले। कुठेड़ा जसवालां वार्ड से भाजपा समर्थित कृपाल सिंह 623 मत लेकर विजयी रहे। उनके निकटतम प्रतिद्वंदी बलविंदर सिंह को 566, संजीव कुमार को 459, अंकुश जसवाल को 472, कश्मीर सिंह को 393 मत मिले। टटेहड़ा वार्ड से कांग्रेस समर्थित तरसेम सिंह 646 मत लेकर विजयी घोषित किए गए।

उनके निकटतम प्रतिद्वंदी मनोज कुमार को 610 मत मिले जबकि अशोक कुमार को 206, नरेश कुमार को 165, गरीब दास को 124, गुरनाम सिंह 123 व चमन लाल ने 504 मत हासिल किए। बड़ोह वार्ड से भाजपा समर्थित प्रियंका कुमारी 1024 मतों के साथ विजयी घोषित की गई। यहां से सुषमा देवी को 750, अंजना कुमारी को 491, मीना कुमारी को 228 व सीमा देवी को 291 मत मिले। गगरेट अपर वार्ड से कांग्रेस समर्थित निशा देवी 1003 मतों के साथ विजयी घोषित की गईं। यहां पर भाजपा महिला मोर्चा की पूर्व अध्यक्षा कुसुम लता को 892 मत मिले जबकि बीना रानी को 827 मत ही मिल पाए। अंबोटा वार्ड से कांग्रेस समर्थित शिवानी 1712 मतों के साथ विजयी घोषित की गईं। उनके निकटतम प्रतिद्वंदी सीमा कंवर को 453 मत मिले तो जीवन ज्योति को 414, सरोज कुमारी को 336 व पंचायत समिति की निवर्तमान चेयरपर्सन सुमन कुमारी को महज 299 मत ही मिल पाए। इसके साथ ही जिला परिषद वार्ड संघनई के अंतर्गत आने वाली पंचायत समिति के संघनई वार्ड से भाजपा समर्थित रक्षा कुमार 1039 मत लेकर विजयी घोषित की गई। यहां कांग्रेस की मीनू कुमार को 677 मत ही मिल पाए। समाचार लिखे जाने तक मतगणना लगातार जारी थी। मतगणना शनिवार सुबह तक चलने के आसार हैं।

गगरेट में पार्टी समर्पित प्रत्याशी रजनी चौधरी ने चूमी जीत; 2298 मतों के साथ की गई विजयी घोषित, लगा बधाइयों का तांता

स्टाफ रिपोर्टर- गगरेट

विधानसभा व लोकसभा चुनावों में शर्मनाक हार का सामना कर चुकी कांग्रेस ने पंचायत चुनाव के माध्यम से जबरदस्त वापसी करती नजर आ रही है। पंचायत समिति व जिला परिषद के चुनाव परिणामों में फिलहाल कांग्रेस बढ़त हासिल करती नजर आ रही है। जिला परिषद वार्ड अंबोटा से आमने-सामने की टक्कर में कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार रजनी चौधरी 2298 मतों के अंतर से जीत दर्ज करने में कामयाब रही। अब तक घोषित हुए पंचायत समिति के चुनाव परिणामों में तीन-तीन वार्डों में कांग्रेस व भाजपा समर्थित उम्मीदवार जीत दर्ज करने में कामयाब रहे हैं। इस बार मतगणना पंचायत समिति के वार्ड नंबर बीस जाड़ला कोयड़ी से शुरू की गई और छह पंचायत समितियों का चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद जिला परिषद वार्ड अंबोटा की मतगणना शुरू हुई। जिला परिषद वार्ड अंबोटा से कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार रजनी चौधरी व भाजपा समर्थित उम्मीदवार पिंकी देवी के बीच आमने-सामने टक्कर थी। कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार रजनी चौधरी को कुल 9661 मत मिले और पिंकी देवी को 7363 मत ही मिल पाए। रजनी चौधरी को 2298 मतों के साथ विजयी घोषित किया गया। अब तक घोषित हुए पंचायत समिति के चुनाव परिणामों में पंचायत समिति के जाड़ला कोयड़ी वार्ड में भाजपा समर्थित प्रिंस जसवाल 1496 मत लेकर विजयी रहे। इसी वार्ड से हरमेश चंद को 651, बलराम कुमार को 56, सुनील कुमार शर्मा को 430, मीना देवी को 497 व गुरनाम सिंह को 385 मत मिले। कुठेड़ा जसवालां वार्ड से भाजपा समर्थित कृपाल सिंह 623 मत लेकर विजयी रहे। उनके निकटतम प्रतिद्वंदी बलविंदर सिंह को 566, संजीव कुमार को 459, अंकुश जसवाल को 472, कश्मीर सिंह को 393 मत मिले।

टटेहड़ा वार्ड से कांग्रेस समर्थित तरसेम सिंह 646 मत लेकर विजयी घोषित किए गए। उनके निकटतम प्रतिद्वंदी मनोज कुमार को 610 मत मिले जबकि अशोक कुमार को 206, नरेश कुमार को 165, गरीब दास को 124, गुरनाम सिंह 123 व चमन लाल ने 504 मत हासिल किए। बड़ोह वार्ड से भाजपा समर्थित प्रियंका कुमारी 1024 मतों के साथ विजयी घोषित की गई। यहां से सुषमा देवी को 750, अंजना कुमारी को 491, मीना कुमारी को 228 व सीमा देवी को 291 मत मिले। गगरेट अपर वार्ड से कांग्रेस समर्थित निशा देवी 1003 मतों के साथ विजयी घोषित की गईं। यहां पर भाजपा महिला मोर्चा की पूर्व अध्यक्षा कुसुम लता को 892 मत मिले जबकि बीना रानी को 827 मत ही मिल पाए। अंबोटा वार्ड से कांग्रेस समर्थित शिवानी 1712 मतों के साथ विजयी घोषित की गईं। उनके निकटतम प्रतिद्वंदी सीमा कंवर को 453 मत मिले तो जीवन ज्योति को 414, सरोज कुमारी को 336 व पंचायत समिति की निवर्तमान चेयरपर्सन सुमन कुमारी को महज 299 मत ही मिल पाए। इसके साथ ही जिला परिषद वार्ड संघनई के अंतर्गत आने वाली पंचायत समिति के संघनई वार्ड से भाजपा समर्थित रक्षा कुमार 1039 मत लेकर विजयी घोषित की गई। यहां कांग्रेस की मीनू कुमार को 677 मत ही मिल पाए। समाचार लिखे जाने तक मतगणना लगातार जारी थी। मतगणना शनिवार सुबह तक चलने के आसार हैं।