Tuesday, September 29, 2020 10:37 PM

कोरोना के बढ़े खतरे में सही नहीं होंगी परीक्षाएं

नगर संवाददाता — धर्मशाला

हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय शिमला ने कोरोना संकट के बीच फाइनल सेमेस्टर की परीक्षाएं 17 अगस्त से करवाने की घोषणा की है, तो वहीं हिमाचल में लगातार बढ़ रहे कोरोना मामलों ने हिमाचल प्रदेश के कालेजों के प्राध्यापकों को भी खौफ में डाल दिया है। ऐसे में अब फिलहाल परीक्षाओं को स्थगित करके सही समय में करवाए जाने की मांग उठी है। हिमाचल प्रदेश राजकीय महाविद्यालय प्रध्यापक संघ के अध्यक्ष डा. सतीश ठाकुर व कार्यकारिणी के अन्य सदस्यों का कहना है कि कोरोना इस समय प्रदेश में बहुत अधिक बढ़ चुका है।

ऐसे में एचपीयू द्वारा 17 अगस्त से करवाए जाने का शेड्यूल जारी किया है। इतना ही नहीं, इसमें कोविड-19 के मरीज और क्वारंटाइन सेंटर के व्यक्ति को भी परीक्षा में भाग लेने की व्यवस्था करने की बात कही जा रही है। उनका कहना है कि कई क्षेत्रों को पूरी तरह से कंटेनमेंट में रखा गया है। ऐसे में प्रदेश में किस प्रकार से परीक्षाओं का सफल संचालन हो पाएगा, इसे लेकर छात्रों के साथ-साथ प्रध्यापकों व अन्य स्टाफ को भी डर बना हुआ है।

डा. सतीश ठाकुर का कहना है कि हिमाचल के पड़ोस व देश की अन्य सभी विश्वविद्यालयों ने फिलहाल सभी प्रकार की परीक्षाओं पर रोक लगा दी है। ऐसे में संघ ने सरकार व विवि से मांग उठाई है कि कोरोना संकट को देखते हुए उचित फैसला छात्रों व प्रदेश के हित में लिया जाए।

The post कोरोना के बढ़े खतरे में सही नहीं होंगी परीक्षाएं appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.