Friday, September 25, 2020 09:33 PM

कोरोना टेस्ट को लेकर बयानबाजी पर घेरी कांग्रेस 

दिव्य हिमाचल ब्यूरो — कुल्लू

जिला भाजपा प्रवक्ता आदित्य गौतम ने कांग्रेस  के उस बयान की कड़ी निंदा की है, जिसमें प्रदेश सरकार द्वारा की जा रही कोविड टेस्टिंग के ऊपर सवाल उठाए गए हैं। आदित्य गौतम का यह कहना है कि आधुनिक तकनीक के जरिए टेस्टों में वृद्धि की जा रही है, जिसका एक उदाहरण रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन रियल टाइम पोलीमराइज चैन रिएक्शन तकनीक के जरिए कोेरोना टेस्टिंग की जा रही है और यह सेवा बिलकुल निःशुल्क है ।

अभी तक अगर जिला कुल्लू की बात की जाए तो 7500 के करीब  टेस्ट किए जा चुके हैं। इसके अलावा कुल्लू में आधुनिक सीबी एनएएटी से टेस्ट एवं  ट्रूनेट मशीन को भी इंस्टॉल कर दिया गया है, जिसे जल्द ही शुरू किया जाएगा और किसी भी संक्रमित व्यक्ति की रिपोर्ट एक से दो घंटे के भीतर आ जाएगी। यह आधुनिक तकनीकें हिमाचल प्रदेश सरकार की टेस्टिंग की क्षमता को मजबूती प्रदान करेंगी। आदित्य गौतम का कहना है कि क्वारंटाइन सेंटर पर जाकर टेस्टिंग की जा रही है और इसके अलावा कुल्लू के स्वास्थ्य विभाग के पांचों ब्लॉक में बूथ भी बनाए गए हैं और लोगों की बूथ स्तर पर भी सैंपलिंग की जा रही है।

रोजाना जिला कुल्लू के निरमंड आनी के सैंपल इंदिरा गांधी आयुर्वेदिक संस्थान में भेजे जा रहे हैं और बंजार जरी व नगर ब्लॉक के सैंपल नेरचौक मेडिकल कालेज में भेजे जाते हैं। इस तरह से डेढ़ सौ से अढ़ाई सौ सैंपल रोजाना टेस्टिंग के लिए भेजे जा रहे हैं, जो लोग क्वारंटाइन सेंटर में हैं, वहां पर  सफाई व्यवस्था के माध्यम से सेनेटाइजेशन करवाते हैं और हर क्वारंटाइन सेंटर में सात से लेकर 36 शौचालय तक की संख्या उपलब्ध है, जिन्हें नियमित साफ किया जाता है। एक और बयान, जिसमें दुकानदारों के कोरोना वायरस के बारे में बात की गई थी व सुविधा उपलब्ध है कोई भी दुकानदार बूथ स्तर पर जाकर निःशुल्क कोरोना टेस्ट करवा सकता है।

हिमाचल में कम्युनिटी स्प्रेड नहीं है, मगर फिर भी दुकानदारों को कोरोना वायरस की टेस्टिंग की सुविधा मुहैया करवाई जा रही है। इसके अलावा सरकार द्वारा एसआरएल लैब मंडी में भी रैपिड एंटीजन टेस्ट के माध्यम से करोना की जांच करने की सुविधा उपलब्ध करवा दी गई है। यह सारे के सारे आधुनिक टेस्टिंग के माध्यम हैं, जिनसे टेस्टिंग की क्षमता को बढ़ोतरी मिली है। कांग्रेस का यह बयान बिलकुल गलत है, जिसमें हिमाचल प्रदेश सरकार की टेस्टिंग क्षमता पर सवाल उठाए गए हैं। हर जिला में संस्थागत क्वारंटाइन बनाए गए हैं जहां पर बाहर से आए हुए लेबर को क्वारंटाइन किया जा रहा है और उनकी टेस्टिंग हो रही है।

इसके अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा अधिकारी के आफिस में तीन प्रोग्राम आफिसर की तैनाती भी की गई है। हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा अब तक लगभग 172000 टेस्टिंग मुहैया  करवाई जा चुकी हैं। इसके अलावा भारत सरकार के सौजन्य से इंडियन काउंसिल ऑफ  मेडिकल रिसर्च न्यूरो सर्जन स्टडी जिला कुल्लू के अंदर की, जिसमें उन्होंने पांचों ब्लॉकों से दस अलग-अलग जगहों से 405 सैंपल लिए और वे 405 सैंपल नेगेटिव पाए गए, जो कि अपने आप में एक बड़ी राहत है। आदित्य ने कांग्रेसियों को सलाह दी है कि मात्र बयान देने के लिए बयानबाजी न करें और जनता के सामने सही छवि पेश करें।

The post कोरोना टेस्ट को लेकर बयानबाजी पर घेरी कांग्रेस  appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.