Monday, October 26, 2020 10:19 AM

कोविड-19 का चाबुक

नवंबर 2019 के महीने में कोरोना वायरस चीन के वुहान शहर में फैल गया। अब यह पूरी दुनिया में फैल चुका है। यह संकट बहुत खतरनाक है। सभी देश इससे अपने लोगों को बचाने के लिए अपनी पूरी कोशिश कर रहे हैं। दस महीने होने पर भी इसकी कोई वैक्सीन नहीं है। कई देशों ने वैक्सीन बनाने के लिए गठबंधन किया है। बहुत से परीक्षण होने के बाद भी सफलता नही मिली है।   करोड़ों लोग वायरस से संक्रमित हैं और लाखों लोग इससे संक्रमित होने के कारण मर गए हैं। इसने दुनिया में दहशत पैदा कर दी है। दुनिया की अर्थव्यवस्था बर्बाद हो गई है।

इस वायरस ने आदमी को आदमी से अलग कर दिया है। किसी भी देश ने नहीं सोचा होगा कि ऐसी स्थिति का सामना करना पड़ेगा। कोई आशा की किरण नहीं है। केवल वैक्सीन की प्रतीक्षा की जा  रही है। जो मानव चांद पर पहुंच गया है, जिसने बड़े-बड़े विनाशकारी हथियारों को बनाया है, वह इस वायरस के सामने बेबस हो गया है। ऐसी स्थिति में अपने आप को बचाने के लिए केवल मास्क, सेनेटाइजर व सामाजिक दूरी जैसे नियमों का पालन ही एकमात्र रास्ता है। इसके अलावा लोगों को अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करना है। रोज काढ़े का सेवन करें और डाक्टर से सलाह-मश्विरा करते रहें। योग और व्यायाम पर भी ध्यान देने की जरूरत है।

The post कोविड-19 का चाबुक appeared first on Divya Himachal.