Sunday, July 25, 2021 08:26 AM

COVID E-Pass: हिमाचल में कोविड पास से ही एंट्री, आरटीपीसीआर की जरूरत नहीं

मुख्यमंत्री ने कहा; कोविड ई-पास सॉफ्टवेयर से जारी रहेगी पंजीकरण प्रक्रिया, आरटीपीसीआर की जरूरत नहीं

मस्तराम डलैल – शिमला

कोरोना कर्फ्यू  की बंदिशों के हटने से पहले ही हिमाचल में उमड़ी पर्यटकों की भीड़ पर सीएम ने बड़ा संदेश दिया है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि सभी राज्यों ने इंटरस्टेट मूवमेंट को फ्री कर दिया है। इसके चलते हिमाचल सरकार ने भी बाहर से आने वालों के लिए आरटीपीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट की शर्त समाप्त कर दी है। हालांकि संक्रमण की मौजूदा स्थिति को देखते हुए अभी भी ई-कोविड पास के माध्यम से ही बाहर से आने वालों को प्रवेश मिलेगा। इसके लिए कोविड ई-पास सॉफ्टवेयर पर रजिस्ट्रेशन की सरल प्रक्रिया जारी रखने का फैसला लिया गया है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर सोमवार को राजधानी शिमला में मीडिया से अनौपचारिक बातचीत कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि पर्यटक सीजन को देखते हुए हिमाचल में पर्यटकों के लिए भी राहत दी गई है। उन्होंने कहा कि अब होटलियर को एसओपी का सख्ती से पालन करना होगा।

सीएम ने कहा कि राज्य में आने वाले लोगों की कोविड ई-पास सॉफ्टवेयर के माध्यम से निगरानी की जाएगी। प्रदेश में आने वाले लोगों की सुविधा के लिए सरकार ने राज्य में प्रवेश करने के लिए आरटीपीसीआर आवश्यकता की शर्त को हटा दिया है, लेकिन साथ ही कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सरकार द्वारा निर्धारित मानदंडों का उल्लंघन करने की किसी को अनुमति नहीं दी गई है। जयराम ठाकुर ने कहा कि पूरे देश में अंतरराज्यीय आवाजाही की अनुमति दी गई है और हिमाचल प्रदेश ने यह भी निर्णय लिया है कि राज्य में आने वाले लोगों की सुविधा के लिए कोविड ई-पास सॉफ्टवेयर में पंजीकरण के माध्यम से निगरानी की जाएगी। उन्होंने कहा कि राज्य में प्रवेश करने के इच्छुक सभी व्यक्तियों को अब इस ऑनलाइन सॉफ्टवेयर में अपना विवरण दर्ज करना आवश्यक है और उनके आगमन का विवरण सभी संबंधित हितधारकों के साथ सांझा किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि होटल व्यावसायियों को राज्य सरकार द्वारा जारी मानक संचालन प्रणाली का स ती से पालन करने के निर्देश दिए गए हैं।

25.17 लाख टीके लगाए

जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में टीकाकरण अभियान सुचारू रूप से चल रहा है। लोगों को वैक्सीन की लगभग 25.17 लाख खुराकें लगाई जा चुकी है। उन्होंने कहा कि टीकाकरण अभियान को समय पर पूरा करने के प्रयास जारी हैं।