Friday, September 24, 2021 06:49 AM

बाजार में भीड़, कोरोना नियमों को भूले लोग

कोरोना नियम मानने को तैयार नहीं सैलानी, प्रशासन और सरकार के निर्देशों को दिखा रहे ठेंगा

स्टाफ रिपोर्टर -भुंतर कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को लेकर चिंतित सरकार के मंसूबों पर बिना मास्क के घूम रहे सैलानी और बाजारों की भीड़ पानी फेरने पर तुली है। सरकार द्वारा जुलाई माह से कोरोना बंदिशों में मिली छूट ने सामाजिक दूरी व मास्क गायब कर दिए हैं। जिला कुल्लू के बाजारों व पर्यटक स्थलों पर उमड़ रही भीड़़ की लापरवाही प्रशासन के साथ जिलावासियों को चिंता में डाल रही है। प्रशासन ने हालांकि भीड़ के लिए दिशा-निर्देश भी जारी किए हैं, लेकिन इसके बावजूद कई लोग नियमों को तोडऩे से बाज नहीं आ रहे हैं। जानकारी के अनुसार जिला कुल्लू के मनाली के साथ पार्वती घाटी व बंजार क्षेत्र में छूट मिलने के बाद अचानक से सैलानियों की बाढ़ सी आ गई है। सैलानियों की एंट्री के साथ भुंतर-बजौरा में जाम भी लगने लगा है और भुंतर शहर पर ट्रैफिक दबाव बढ़ गया है।

मणिकर्ण-बरशैणी में हजारों की संख्या में सैलानी पिछले करीब तीन सप्ताह से पहुंच रहे हैं। सैलानियों की भीड़ के चलते सामाजिक दूरी नियमों को ताक पर रखा जा रहा है, जो कोरोना के अगले चरण के जल्द से जल्द प्रवेश की ओर भी संकेत करने लगा है। बाजारों में लोग खरीददारी के लिए पहुंच रहे हैं और यहां पर भी सामाजिक दूरी का कोई नामोनिशान नहीं है। और तो और सैलानी बड़े स्तर पर मास्क लगाने से भी परहेज करने लगे हैं। स्थानीय लोग भी बाजार में निकलने से पहले सामाजिक दूरी व मास्क लगाने को लेकर गंभीर नहीं दिख रहे हैं। वहीं, जिला कुल्लू के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. सुशील चंद्र शर्मा का कहना है कि सामाजिक दूरी नियमों की पालना न करना और मास्क न लगाने को खतरनाक बताया है और कहा है कि इससे खतरा और ज्यादा बढ़ सकता है। उन्होने लोगों से बाजार में निकलने पर मास्क लगाने को लेकर आग्रह किया है।