Saturday, October 24, 2020 03:22 AM

न्याय के लिए पहुंचे डीसी के द्वार

जमीनी विवाद को लेकर लगाया पुलिस की धौंस दिखाने का आरोप

ग्राम पंचायत झनियारा के नडियाना रांगडि़या में हुई मारपीट मामले में पीडि़त पक्ष ने उपायुक्त हमीरपुर से न्याय की गुजार लगाई है। यह मारपीट जमीनी विवाद के चलते हुई है। पीडि़त ने इस मामले की जांच करवाने की मांग की है। शिकायतकर्ता का कहना है कि इनसे मारपीट करने वाला पुलिस विभाग में कार्यरत है। पुलिस का रौब दिखाकर वह इन्हें धमकाता है। बता दें कि शुक्रवार को इसकी जमीन से घास काट रहे पुलिस विभाग के कर्मचारी को जब इसने ऐसा करने से मना किया तो वह और उसका एक किराएदार उसके साथ लड़ने लग गए। इसके सिर पर दराट से हमला कर दिया। इन्हें छुड़ाने आई इसकी पत्नी और भाई से भी उन्होंने मारपीट की। मारपीट में इन तीनों को चोटें आईं हैं।

घायलावस्था में व्यक्ति को उपचार के लिए मेडिकल कालेज हमीरपुर में भर्ती करवाया गया। यहां करीब दो घंटे तक चले उपचार प्रक्रिया के बाद घायल को घर भेजा गया। पीडि़त ने कहा कि चिकित्सक ने उसके सिर पर आठ टांके लगाए हैं। पुलिस की कार्रवाई से नाराज व्यक्ति व्यक्ति, उसकी पत्नी और अन्य रिश्तेदार शनिवार को उपायुक्त हमीरपुर हरिकेश मीणा से मिले। इस दौरान पीडि़त व अन्य ने उपायुक्त से कहा कि पुलिस का रौब दिखाकर व्यक्ति ने मेडिकल रिपोर्ट भी समान्य बनवा दी और पुलिस ने भी साधारण धाराओं में मामला दर्ज किया है। पीडि़त पक्ष ने उपायुक्त से मेडिकल रिपोर्ट वरिष्ठ चिकित्सकों की टीम से करवाने व मामले की उचित जांच की गुहार लगाई है। उधर, उपायुक्त हमीरपुर हरिकेश मीणा ने कहा कि इस बारे में पुलिस को उचित कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

मास्क न लगाने पर काटे चालान

सुजानपुर।  बिना मास्क घूम रहे लोगों के साथ-साथ यातायात नियमों की अवहेलना करने वालों पर सुजानपुर पुलिस ने शनिवार देर शाम को कार्रवाई करते हुए चालान किए हैं। थाना प्रभारी सुभाष शास्त्री की अगुवाई में सुजानपुर पुलिस कर्मियों ने सुजानपुर मुख्य बाजार बस स्टैंड के साथ-साथ चौक चौराहों पर दबिश देते हुए जहां लोगों से मास्क पहनने की अपील की और यातायात नियमों की पालना करने का आह्वान किया। इस दौरान निरीक्षण करते हुए कुछेक वाहन चालकों के चालान हुए और बिना मास्क के घूम रहे लोगों पर की कार्रवाई हुई।

दुकानदारों को समझाते हुए थाना प्रभारी ने नो  मास्क नो राशन के नारे को याद करवाते हुए कहा कि वर्तमान में भी परिस्थिति ऐसी ही है। जो बिना मास्क लगाकर आ रहा है उसे किसी भी तरह का सामान ना दे। अगर दुकान के भीतर कोई ग्राहक बिना मास्क के पाया जाता है तो दुकानदार के साथ-साथ ग्राहक का भी चालान किया जाएगा।  बताते चलें कि सुजानपुर शहर में करोना संक्रमित दो लोगों की मौत के बाद पूरा शहर सहम गया है, जबकि कुछेक लोग अब भी अनजान बन कर नियमों को दरकिनार करके मनमानी कर रहे हैं। ऐसे लोगों पर सख्त कार्रवाई करते हुए पुलिस ने देर शाम को दर्जनों चालान किए।

The post न्याय के लिए पहुंचे डीसी के द्वार appeared first on Divya Himachal.