Friday, October 30, 2020 04:14 PM

दूसरे दिन स्कूल नहीं आया कोई भी बच्चा

नगरोटा सूरियां में महामारी के डर से स्कूल भेजने से कतरा रहे अभिभावक, रिस्क लेने को तैयार नहीं

नगरेटा सूरियां-नगरोटा सूरियां के वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला में स्कूल खुलने के बाद पहले दिन  छह और दूसरे दिन मंगलवार को कोई बच्चा नहीं आया। इसी तरह राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बरियाल में पहले दिन कोई बच्चा नहीं आया और   दूसरे दिन केवल दो बच्चे स्कूल में आए। सरकार ने स्कूलों को खोलने के आदेश तो दे दिए, लेकिन स्कूलों में अभी अभिभावक बच्चों को नहीं भेज रहे हैं , क्योंकि कोरोना से हर व्यक्ति अभी भी लगा हुआ है। सरकार तथा स्कूल प्रशासन ने पहले ही कह दिया है कि स्कूल में जो भी बच्चा आएगा वह अपने अभिभावक से अनुमति प्रमाण पत्र लेकर आएगा।

 इसलिए कोई भी अभिभावक अभी बच्चों को स्कूल में भेजने के लिए रिस्क नहीं ले रहा है। नगरोटा सूरियां में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला में पहले दिन छह बच्चे आए लेकिन मंगलवार को दूसरे दिन कोई बच्चा नहीं आया । स्कूल के प्रधानाचार्य सुभाष धीमान ने बताया कि स्कूल में अभिभावक बच्चों को नहीं भेज रहे हैं, जबकि सरकार के दिशा-निर्देशों अनुसार स्कूल में अध्यापक आ रहे हैं और सोशल डिस्टेंसिंग तथा सरकार के दिए हुए दिशा-निर्देश से  कार्य हो रहा है। स्कूल को पहले सेनेटाइज किया जाता है और उसके बाद जो भी बच्चा स्कूल में आएगा उसकी थर्मल स्कैनिंग होगी।

 बिना मास्क किसी को भी स्कूल मे नहीं आने दिया जाएगा। उधर, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बरयाल में पहले दिन कोई भी स्कूल में बच्चा नहीं आया। स्कूल के प्रधानाचार्य मनजीत कुमार ने बताया कि स्कूल में रोस्टर बना दिया गया है तथा स्कूल को सेनेटाइजर किया जा चुका है।

The post दूसरे दिन स्कूल नहीं आया कोई भी बच्चा appeared first on Divya Himachal.