Sunday, March 07, 2021 11:56 PM

डा. एमएल आर्य ने लिखा संस्कृत महाकाव्य, हिमाचल का मान बढ़ा

डीएवी कालेज कांगड़ा के पूर्व प्रो. डा. मनोहर लाल आर्य ने हिमाचल प्रदेश पर संस्कृत महाकाव्य लिखकर हिमाचल प्रदेश को गौरवांन्वित किया है। 27 दिसंबर, 2020 को पतंजलि योगपीठ हरिद्वार के अनुसंधान संस्थान में चल रही एक सर्वोच्च शास्त्रीय कार्यशाला का औपचारिक उद्घाटन वैद्य शिरोमणि आचार्य बालकृष्ण के नेतृत्व में डा. धनसिंह रावत उच्च शिक्षा राज्यमंत्री उत्तराखंड ने किया। इस अवसर पर पतंजलि योगपीठ हरिद्वार में शास्त्रलेखन कार्य में संलग्न, हिमाचल प्रदेश के प्रतिष्ठित विद्वान व आशुकवि डा. आर्य  द्वारा लिखित  ‘हिमाचल दर्शन’ नामक महाकाव्य का विमोचन किया गया।

आचार्य बालकृष्ण ने डा. आर्य की विद्वत्ता की प्रशंसा करते हुए उन्हें प्रतिष्ठित आशुकवि बतलाया। इस अवसर पर दिलीप सिंह रावत विधायक उत्तराखंड, डा. प्रणव सिंह चैंपियन विधायक उत्तराखंड, सहकारी संस्थान से वर्मा. डा. वेद प्रकाश उपाध्याय चंडीगढ़, डा. सत्यपाल, डा. हरि सिंह. डा. रविंद्र मार्कंडेय, डा. सुभाष कौशिक हरियाणा, डा. राजेश मिश्रा, डा. भास्कर जोशी, डा. सविता, डा. करुणा, डा. स्वाति व डा. पल्लवी राय आदि विद्वान उपस्थित थे।